सोशल मीडिया / युथ गैलरी

पतंजली का ‘किंभो’ मोबाइल ऐप का नाम चेंज अब आया ‘बोलो मेसेंजर’ में

व्हाट्सएप को चुनौती देने के लिए देशी मोबाइल एप किंभो ने अब अपने वर्जन को अपडेट कर ‘बोलो मेसेंजर’ में बदल दिया है। पतंजलि योगपीठ के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने बताया कि किंभो एप की रिब्रांडिंग नहीं की गई है

बल्कि किंभो एप लेटेस्ट वर्जन पर काम चल रहा था। एप की डेवलपर अदिति कमल ने ईमेल के जरिए बताया कि भारतीय को लिए व्हाट्सएप के विकल्प के रूप में ‘बोले एप’ अब एंड्रॉयड के मोबाइल के लिए डाउनलोडिंग के मौजूद है। iOS यूजर्स के लिए भी इसे जल्द ही मुहैया कराया जाएगा।

उन्होंने आगे बताया, जो यूजर्स, जिन्होंने अभी इसे इंस्टॉल नहीं किया या अभी तक किंभो एप का इस्तेमाल कर रहे हैं, लिंक जरिए बोले एप को अपडेट कर सकते हैं। ‘बोलो एप’ अपडेट करने के लिए इसे एसएमएस के जरिए अपडेट करना होगा। पूर्व में किंभो एप रहा बोले एप को लंबे समय बाद नए वर्जन के साथ बाजार में उतारा गया है।

बता दें कि मई के आखिर में बाजार में उतारा गया रामदेव का स्वदेशी मोबाइल एप किंभो एक बुरी तरह तैयार व्यापारिक योजना बनकर रह गया था। दावा किया गया कि इसे व्हाट्सएप की जगह लेने के लिए बाजार में उतारा गया है। यह एप 31 मई को गूगल प्ले स्टोर पर आने के अगले दिन ही सुरक्षा और प्रदर्शन में कमियों के कारण गायब हो गया था।

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.