राजधानी

बजट सत्र : मुख्यमंत्री ने सदन में कहा- पुलिस विभाग ने किराये के हेलिकाप्टर पर 48 करोड़ रुपए खर्च कर डाले

बजट सत्र : मुख्यमंत्री ने सदन में कहा- पुलिस विभाग ने किराये के हेलिकाप्टर पर 48 करोड़ रुपए खर्च कर डाले

रायपुर : बजट सत्र के दूसरे दिन आज विपक्ष ने भूपेश सरकार पर विकास कार्य ठप्प करने का आरोप लगाया. नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मामला उठाते हुए कहा कि राज्य बजट से स्वीकृत निर्माण को कार्यों रोक दिए गए हैं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि जिन कामो को निरस्त किया गया, उनमें से कई महत्वपूर्ण काम ऐसे हैं, जिन्हें बस्तर विकास प्राधिकरण, सरगुजा विकास प्राधिकरण की बैठक में स्वीकृत किये गए थे. जिनके लिए बजट में प्रावधान किया जा चुका था. वहीं विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने सरकार के आदेश को गलत बताते हुए कहा कि प्रदेश में विकास के काम ठप्प पड़ गए हैं.

विकास कार्य अवरुद्ध हो गया है. सरकार का आदेश गलत है. सदन में कांग्रेस नेता अरुण वोरा ने मुख्यमंत्री से पूछा कि 2016 से 18 तक किन-किन कंपनियों के हेलिकाप्टर किराये पर लिए गए और उन्हें कितना भुगतान किए गए। जिसका मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवाब देते हुए बताया कि 2016-18 के बीच ढिल्लन एवियेशन, पवनहंस, हेलिगे चार्टर लिमिटेड, इंडिया फलाई सेफ्टी एविएशन और थंबी एविएशन को हेलिकाप्टर के लिए टेंडर दिया गया था। लेकिन, ढिल्लन को छोड़कर बाकी कंपनियों का शर्ते पूरी न करने की वजह से टेंडर निरस्त कर दिया गया था।मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस विभाग ने किराये के हेलिकाप्टर पर 48 करोड़ रुपए खर्च कर डाले हैं। उन्होंने माना कि यह फिजूलखर्ची है। इस पर हमारी सरकार विचार करेगी। कांग्रेस विधायक चंद्रदेव राय ने बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पेयजल के संकट का मामला उठाया. उन्होंने कहा कि विधानसभा के कई गांवों में पेयजल का संकट गहराया है. वनांचल  की धरती, गिरौदपुरी की धरती, सोनाखान की धरती पानी के लिए त्राहिमाम कर रही है. जिसके जवाब में पीएचई मंत्री रुद्र गुरु ने कहा कि कोई जलसंकट नहीं है. मंत्री के जवाब से असंतुष्ट चंद्रदेव राय ने कहा कि विभाग के अधिकारियों ने मंत्री जी को गलत जानकारी दी है. मैं जिस गांव में रहता हूँ वहां के रहवासियों को पानी नहीं मिल रहा है.

 

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email