विशेष रिपोर्ट

डॉक्टर प्रिंयका रेड्डी को इंसाफ मिलने को तो मिल गया है लेकिन उन्नाव की बेटी........

डॉक्टर प्रिंयका रेड्डी को इंसाफ मिलने को तो मिल गया है लेकिन उन्नाव की बेटी........

 *एमःडी मों सज्जाद *खांन*✍✍ 

डॉक्टर प्रिंयका रेड्डी को इंसाफ मिलने को तो मिल गया है लेकिन उन्नाव की बेटी जो आखिरी सांसों तक अपने जीवन की संघर्ष करती हुई इस दुनियां से अलविदा कह गई  निरभैया जैसे सैकड़ों महिलाओं एवं बच्चियों के गुनहगारों को सजा आखिर कब मिल पाएगी 

दरिंदगी का शिकार हैदराबाद की डॉक्टर प्रियंका रेड्डी  को वास्तविक श्रद्धांजलि देखा जाए तो पुलिस ने दी है। निर्भया  और उस जैसी दूसरी बेटियों की तरह डॉक्टर प्रिंयका रेड्डी की आत्मा को शांति  के लिए सालों-साल इंतजार नहीं करना पड़ा। दशगात्र को हैदराबाद पुलिस ने उन दरिंदों को वहीं पहुंचा दिया जहां वास्तव में उन्हें होना था। उन जैसे वहशियों का इस दुनियां में होना उन्नाव कांड के समान कई दूसरी बेटियों के जीवन की संभावना को खतरे में डालता है। इसीलिए लोग ऐसे गुनहगारों की इस दुनिया से विदाई को श्रेयस्कर मानते हैं। लोगों के लिए ये बात कोई मायने नहीं रखती कि सजा कौन मुकर्रर कर रहा है- अदालत, पुलिस या सिस्टम 

 तत्काल-फैसला अंजाम का अगर चाहुं तो खुले दिल से हैदराबाद पुलिस स्वागत योग्य है। अब आगे भी इंसाफ के लिए लिए निर्भया जैसी ना जाने कितनी बेटियों की आत्मा अपने गुनहगारों को फांसी पर झूलते देख अपने मुक्ति का इंतजार कर रही हैं। ये इंतजार ही न्याय के जायज- नाजायज तरीकों के सवाल को बेमानी साबित कर देता है। सैकड़ों की तादाद में अभी भी हक और इंसाफ के लिए सालों से बेटियां इंतजार में बैठी है।अब समय आ गया है। कि ऐसे जुल्म की शिकार महिलाओं एवं बच्चियों के हक के लिए निशपक्ष जांच हो नहीं तो  कानून व्यवस्था यदि कमजोर हो तो अपराधियो को दावपेंच खेलने  का मौका मिल जाता हैं ,यही कारण है 

 अधिकारियों के  ढीलापन,घुसखोरी रवैया की वजह से दुष्कर्मी छूटते रहेंगे, जब तक तारीख-दर-तारीख के अंतहीन सिलसिले में अदालती कार्यवाही घिसटती रहेगी, जब तक पीड़िता की आत्मा इंसाफ के इंतजार में सिसकती रहेगी, तब तक ऐसे एनकाउंटर जनमानस में जायज माने जाते रहेंगे। अब मिला विटनरी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी को न्याय इसी तरह उन्नाव गैंगरेप से पीड़िता जिसे जिंदा जलाया गया आखिर कार वह बेटी आखिरी संसो तक अपने जिंदगी के लिए संघर्ष करते हुए इस दुनियां से अलविदा कह गई ऐसे निर्भया जैसे महिलाओं और मासूम बच्चियों को अपने हवस का शिकार बनाने वाले दरिंदों को यदि तत्काल सजा दी जायेगी तो ऐसे अपराधियों के अंदर खौफ पैदा होगा इसमें महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार मे कमी आयेगी सामाजिक संस्था अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी कमेटी हैदराबाद के पुलिस को  धन्यवाद करती  हैं  जिन्होंने  डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के कातिलों को समय रहते हुए गिरफ्तार कर अंजाम तक पहुंचाया है।

इसी प्रकार यूपी उन्नाव गैंगरेप रेप मे महिला को जिंदा जलाने  वालें अपराधियों को भी  देश का कानून सक्त से सक्त सजा सुनाया  जाए सामाजिक संस्था अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी देश में हो रहे महिलाओं मासूम बच्चियों के साथ जघन्य अपराधों आमानवीय अत्याचार के खिलाफ घोर निंदा करती हैं और साथ ही संस्था भारत सरकार एवं  केंद्रीय गृह मंत्री केंद्रीय महिला आयोग राज्य सरकार तथा शासन एवं प्रशासन से यह अग्राह एवं मांग करती हैं कि महिलाओं और मासूम बच्चियों की सुरक्षा व्यवस्था के सुनिश्चित करें ताकी पूर्ण रूप से देश में महिलाएं सुरक्षित रह सके

संस्थापक मों सज्जाद खांन अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी रायपुर (छ.ग).

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email