बस्तर

पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए बस्तर संभाग के जिला अध्यक्षों के माध्य्म से आमंत्रित हैं सुझाव

पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए बस्तर संभाग के जिला अध्यक्षों के माध्य्म से आमंत्रित हैं सुझाव

गठित समिति का जगदलपुर प्रवास17 नवंबर को, जिला अध्यक्षों से 15 नवम्बर तक सुझाव आमंत्रित 

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ श्रमजीवीपत्रकार संघ बस्तर संभाग के समस्त जिला अध्यक्षों से यह निवेदन है कि न्यायमूर्तिआफताब आलम सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्चतम न्यायालय की अध्यक्षता में प्रस्तावित पत्रकार सुरक्षा कानून बनाए जाने के लिए गठित समिति का जगदलपुर प्रवास 17नवंबर को स्थानीय सर्किट हाउस में पूर्वान्ह 11.30 बजे से 1.30 बजे तक पत्रकारऔर पत्रकार संगठनों से सुझाव लेगी। बस्तर संभाग के सातों जिले के सभी पत्रकार साथी छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिला अध्यक्ष के नेतृत्व में अपनेसुझाव रख सकते हैं।       

छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ  बस्तर संभाग के संभागीय स्तर पर यह निर्णय लिया गया है कि बस्तर संभाग के सातों जिलों के छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघके जिलाध्यक्ष पत्रकार साथियों की बैठक आयोजित कर पत्रकार सुरक्षा कानून में सुझाव दिए जाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर संभागीय स्तर पर प्रेषित करने का निवेदन है। बस्तर संभाग के सातों जिलों से प्राप्त सुझावों के प्रस्ताव को प्रदेश संगठन  के समक्ष प्रदेश अध्यक्षअरविंद अवस्थी जी को प्रेषित किया जावेगा। जिसके उपरांत प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार 17 नवंबर को पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए गठित समिति केसमक्ष प्रस्तुत किया जावेगा।   
   
ज्ञातव्य हो की छत्तीसगढ़ में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए न्यायमूर्ति आफताब आलम सेवानिवृत्त न्यायाधीश उच्चतम न्यायालय की अध्यक्षता में गठित समिति ने प्रस्तावित कानून का प्रारूप तैयार कर लिया है। इस पर पत्रकारों,पत्रकार संगठनों तथा आमजनों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करने के लिए समिति 16 से 18 नवम्बर तक राज्य के विभिन्न अंचलों का दौरा करेगी। समिति 17 नवम्बर को सर्किट हाऊस जगदलपुर में पूर्वान्ह 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक पत्रकारऔर पत्रकार संगठनों से तथा अपरान्ह 3 से 4 बजे तक आम नागरिकों से सुझाव लेगी।     

छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश सचिव सुधीर जैन ने सुझाव आमंत्रित करते हुए समस्त जिला अध्यक्षों से कहा कि पत्रकार सुरक्षा कानून बस्तर संभाग के पत्रकारों के लिए सबसे कारगर साबित होगा। बस्तर संभाग का पत्रकार नक्सल प्रभावित संवेदनशील क्षेत्रों में कार्य करते है। जहां जोखिम अधिक है। पत्रकार सुरक्षा कानून बस्तर के पत्रकारों के लिएआवश्यक है। हमने कई बस्तर के पत्रकार साथी को खोया है। जितना जल्द हो सके पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किया जाना चाहिए। जिस हेतु समस्त बस्तर संभाग के जिला अध्यक्षों से 15 नवम्बर तक सुझाव आमंत्रित किए गए हैं। 

राकेश पांडे
संभागीय अध्यक्ष
संभागीय कार्यालय 
छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ
पावर हाउस रोड जगदलपुर
जिला बस्तर, छत्तीसगढ़

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email