विश्व

पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ को 10 साल की सजा

मीडिया रिपोर्ट 

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की एकाउंटिबिलिटी कोर्ट से भ्रष्टाचार मामले में 10 साल की सजा सुनाए जाने के बाद पूर्व PM नवाज शरीफ ने कहा कि वह चोर नहीं हैं और जल्द ही पाकिस्तान लौटेंगे. कोर्ट के फैसले के बाद पाकिस्तान के पूर्व पीएम ने लंदन में एक प्रेस कांफ्रेंस की, जिसमें उनके साथ उनकी बेटी मरियम भी मौजूद थीं. नवाज शरीफ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'मैं चोर नहीं हूं और जल्द ही पाकिस्तान लौटूंगा और जेल से ही अपना संघर्ष जारी रखूंगा. यह संघर्ष का एक हिस्सा है.' बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पनामा पेपर्स कांड से जुड़े भ्रष्टाचार के तीन मामलों में से एक में 10 साल कैद-ए-बामुशक्कत की सजा सुनाई गई और 80 लाख पौंड का जुर्माना लगाया गया है. इस तरह, देश में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव से पहले उनकी पार्टी पीएमएल -एन को एक तगड़ा झटका लगा है. अदालत ने उनकी 44 वर्षीय बेटी एवं सह-आरोपी मरियम को सात साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई और उन पर 20 लाख पौंड का जुर्माना लगाया.

​कोर्ट मरियम के पति और शरीफ के दामाद कैप्टन (सेवानिवृत) मोहम्मद सफदर को एक साल की कैद की सजा सुनाई. जांच अधिकारियों से सहयोग नहीं करने पर उन्हें यह सजा सुनाई गई है. यह मामला लंदन के पॉश एवेनफील्ड हाउस में चार फ्लैटों के मालिकाना हक से जुड़ा है. फैसले के बाद मरियम और सफदर चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य हो गए हैं.  अदालत ने हसन और हुसैन, दोनों को भगोड़ा घोषित कर दिया है. 'डॉन' अखबार की खबर के मुताबिक कोर्ट तीनों दोषियों के आत्मसमर्पण करने के लिए कुछ समय तक इंतजार करेगा. यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया तो कोर्ट मरियम और नवाज शरीफ को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू करेगा और सफदर को गिरफ्तार किया जाएगा.

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.