राष्ट्रीय

MP: गवर्नर की नियुक्ति के बाद कैबिनेट फेरबदल जल्द, पीएम से शिवराज करेंगे मुलाकात

MP: गवर्नर की नियुक्ति के बाद कैबिनेट फेरबदल जल्द, पीएम से शिवराज करेंगे मुलाकात

दिल्ली : उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्य प्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त कार्यभार दिए जाने के साथ ही शिवराज कैबिनेट विस्तार को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को ही दिल्ली पहुंच कर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मंत्रिमंडल को लेकर चर्चा की. शिवराज सोमवार को पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे जो काफी अहम मानी जा रही है.

माना जा रहा है शिवराज कैबिनेट के नाम तय कर लिए गए हैं, बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व का मुहर लगने के बाद 30 जून को शपथ दिलाई जा सकती है. बताया जा रहा है कि गृहमंत्री अमित शाह के निवास पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत की बैठक काफी देर तक चली. इसके पहले तीनों नेताओं ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर से भी मुलाकात की थी.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 24 जून को ही जल्द ही कैबिनेट विस्तार के संकेत दिए थे. एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन की तबीयत खराब हो जाने के चलते लगातार यह टल रहा था. राष्ट्रपति ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को रविवार को अतिरिक्त प्रभार सौंपा है, जिसके बाद अब इस बात की संभावना और प्रबल हो गई है कि मंत्रिमंडल में नए सदस्यों को शपथ जल्द दिलाई जा सकती है.

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की टीम अबतक पूरी तरह गठित नहीं हो पाई है. कोरोना लॉकडाउन के कारण पहले चरण में हुए विस्तार में वे पांच मंत्रियों को ही अपनी टीम में जगह दे पाए हैं. इनमें तीन बीजेपी कोटे से और दो सिंधिया कोटे से थे. इसके बाद से लगातार मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा चलती रही, लेकिन पार्टी हाईकमान से अनुमति नहीं मिलने के कारण चर्चा अंजाम तक नहीं पहुंच पाई.

मध्य प्रदेश में 230 विधानसभा सदस्यों की कुल संख्या के लिहाज से महज 35 विधायक मंत्री बनाए जा सकते हैं. शिवराज कैबिनेट में फिलहाल 5 मंत्री है, इस तरह से अभी 30 मंत्रियों की जगह खाली है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ 22 कांग्रेस विधायकों ने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थामा था. इनमें छह मंत्री भी शामिल थे. इस लिहाज से उन सभी का मंत्री बनना तय है और साथ ही कुछ अन्य सिंधिया समर्थकों को भी तवज्जो मिल सकती है.

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email