बिलासपुर

प्रदेश के मेहनतकश किसानों को मिलेगा 2400 करोड़ रूपए का धान बोनस: डॉ. रमन सिंह

प्रदेश के मेहनतकश किसानों को मिलेगा 2400 करोड़ रूपए  का धान बोनस: डॉ. रमन सिंह

बिलासपुर : मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने 24 सितम्बर को बिलासपुर जिले के पेंड्रा विकासखण्ड के ग्राम कोटमी में आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मेहनतकश किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी पर इस वर्ष 2400 करोड़ रूपए का बोनस मिलेगा। किसानों को धान का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में एक मुश्त प्रति क्विंटल 200 रूपए की बढ़ोत्तरी की है। राज्य सरकार इस वर्ष प्रति क्विंटल 300 रूपए का धान बोनस दे रही है। इसे मिलाकर किसानों को 2050 से 2070 रूपए प्रति क्विंटल धान की कीमत मिलेगी। उन्होेंने कहा कि एक नवम्बर से धान की खरीदी शुरू होने पर किसानों को धान के समर्थन मूल्य के साथ बोनस राशि का भी भुगतान किया जाएगा। मरवाही भी मेहनतकश किसानों का क्षेत्र है। इसका लाभ पूरे प्रदेश के साथ इस क्षेत्र के किसानों को भी मिलेगा। 

    मरवाही के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मैदान में आयोजित आम सभा में नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री दीपक साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 132 करोड़ रुपए की लागत के 49 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने लगभग 113 करोड़ 44 लाख के 26 कार्यों का भूमिपूजन और 18 करोड़ 24 लाख के 23 कार्यों का लोकार्पण किया तथा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि वितरित की। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को 5 हार्सपावर तक के एक से अधिक सिंचाई पम्पों पर फ्लैट रेट बिजली बिल के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। प्रदेश के एकल बत्ती कनेक्शन धारी 12 लाख से अधिक गरीब परिवारों को, जिनकी बिजली की खपत प्रति माह 40 यूनिट से अधिक है, फ्लैट रेट पर बिजली बिल के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। किसानों को सहकारी बैंकों से बिना ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक माह की विकास यात्रा के दौरान प्रदेश के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 750 करोड़ रूपए का तेंदूपत्ता बोनस वितरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मॉ दन्तेश्वरी और मॉ बम्लेश्वरी का आशीर्वाद लेकर प्रांरभ हुई। इस विकास यात्रा में मैं जनता जनार्दन का आशीर्वाद लेने के लिए निकला हूॅ। यह जनता के विश्वास की यात्रा है। इसे मैं तीर्थ यात्रा के सामान पवित्र मानता हूॅ।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, सौर सुजला योजना सहित राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रारंभ की गई आयुष्मान भारत योजना में प्रदेश के 37 लाख गरीब परिवारों को प्रति वर्ष 5 लाख रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश का मान-सम्मान और गौरव बढ़ाया है। राज्यों को विकास कार्यो के लिए अधिक संसाधन उपलब्ध कराने की पहल की है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में छत्तीसगढ़ सहित मरवाही क्षेत्र भी विकास की नई ऊंचाईयों को छुएगा। 

     मुख्यमंत्री ने कोटमी की आमसभा में जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें 54 करोड़ 26 लाख रूपए की लागत से बनने वाला 13 किलोमीटर लम्बा पेंड्रा बायपास मार्ग, लगभग 36 करोड़ रूपए की लागत से 13 किलोमीटर लंबे सिवनी से मरवाही मार्ग का चौड़ीकरण एवं मजबूतीकरण कार्य, 11 करोड़ 56 लाख रूपए की लागत से पांच किलोमीटर लंबे बसंतपुर से भांडी सड़क का उन्नयन एवं चौड़ीकरण कार्य, लगभग सात करोड़ की लागत से ग्राम पंचायत परासी में बनने वाला एनीकट और 87 लाख की लागत से शासकीय उद्यानिकी नर्सरी लालपुर में अहाता निर्माण का कार्य शामिल है। 

    डॉ. रमन सिंह जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें छह करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से सोननदी पर दानिकुंडी से देवरीडांड मार्ग पर निर्मित पुल, पौने तीन करोड़ रूपए की लागत से सोननदी पर मेदुका दर्री से गम्मा टोला मार्ग पर निर्मित पुल, लगभग ढाई करोड़ रूपए की लागत से सिवनी-मरवाही में निर्मित 33/11 केव्ही विद्युत उपकेंद्र, लगभग सवा दो करोड़ रूपए की लागत से बस्ती व्यपर्तन मार्ग गौरेला और 45 लाख की लागत से तिलोरा पेंड्रा में निर्मित बरमूडा स्टॉपडेम शामिल हैं। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email