बिलासपुर

’सूचना क्रांति योजना’ कनेक्टिविटी विस्तार का देश-दुनिया का सबसे बड़ा अभियान: डॉ. रमन सिंह

’सूचना क्रांति योजना’ कनेक्टिविटी विस्तार का देश-दुनिया का सबसे बड़ा अभियान: डॉ. रमन सिंह

बिलासपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार की ’सूचना कं्राति योजना’ (स्काई) मोबाइल कनेक्टिविटी विस्तार का देश-दुनिया का सबसे बड़ा अभियान है। यह योजना महिला सशक्तिकरण और युवा सशक्तिकरण की दिशा में एक बड़ा कदम साबित होगी। अब छत्तीसगढ़ के तेंदूपत्ता मजदूर और मनरेगा के मजदूर भी स्मार्ट फोन से बात करेंगे। मुख्यमंत्री आज संभाग मुख्यालय बिलासपुर में आयोजित ’मोबाइल तिहार’ के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने 10 हितग्राहियों को स्मार्ट फोन वितरित कर बिलासपुर जिले में सूचना क्रांति योजना का शुभारंभ किया। डॉ. सिंह ने कहा कि सूचना क्रांति योजना में बिलासपुर संभाग में 12 लाख 50 हजार स्मार्ट फोन बांटे जाएंगे। उन्होंने बताया कि मोबाइल फोन वितरण के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में 60 से 70 शिविर आयोजित किए जाएंगे, जहां आधार से लिंक करके हितग्राहियों को फोन दिए जाएंगे और हितग्राही के साथ पहली सेल्फी भी ली जाएगी।

    नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, संसदीय सचिव श्री राजू क्षत्री, विधानसभा उपाध्यक्ष श्री बद्रीधर दीवान, विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दीपक साहू और नगर निगम बिलासपुर के महापौर श्री किशोर राय कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। मोबाइल तिहार में बिलासपुर जिले के 10 शहरों के लगभग 25 हजार हितग्राहियों को स्मार्ट फोन दिए जाएंगे, इनमें से बिलासपुर नगर निगम क्षेत्र के 14 हजार 769 हितग्राहियों को मोबाइल फोन बांटे जाएंगे। 

    मुख्यमंत्री ने बताया कि केबिनेट की बैठक में राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है कि एक जनवरी 2016 से सीधी भर्ती वाले कर्मचारियों को, जो 30 वर्ष की सेवा अवधि पूरी करेंगे, उन्हें चार स्तरीय वेतनमान दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस निर्णय से राज्य सरकार पर एक सौ करोड़ रूपए का राजस्व व्यय आएगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि केबिनेट के निर्णय के अनुसार अब किसानों को सिंचाई पम्पों पर फ्लैट रेट में बिजली बिल भुगतान की सुविधा दी जाएगी। किसान अपने एक से अधिक सिंचाई पंपों के बिजली बिल का भुगतान फ्लैट रेट पर कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि सिंचाई पम्पों के कनेक्शन के लिए एक लाख रूपए अनुदान देने की योजना पुनः शुरू कर दी गई है। उन्होंने इस अवसर पर बिलासपुर में 13 करोड़ रूपए की लागत से नवनिर्मित मातृ-शिशु अस्पताल का लोकार्पण और मिशन अमृत के तहत बिलासपुर शहर के लिए लगभग 301 करोड़ रूपए की लागत से जल प्रदाय योजना ’हमर बिलासपुर जल अवतरण संकल्प’ योजना का शिलान्यास किया। इस योजना के तहत खूंटाघाट जलाशय के जरिए बिलासपुर शहर के लिए पानी लाया जाएगा। 

    डॉ. सिंह ने कहा कि सूचना क्रांति योजना लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने वाली योजना साबित होगी। पूरे प्रदेश में लगभग 1467 करोड़ रूपए लागत की इस योजना के अंतर्गत 50 लाख 4-जी स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे, इनमें से 40 लाख स्मार्ट फोन महिलाओं को और 5 लाख स्मार्ट फोन महाविद्यालयों के विद्यार्थियों को वितरित किए जाएंगे। इस योजना के बाद छत्तीसगढ़ में मोबाइल डेंसिटी 29 प्रतिशत से बढ़कर शत-प्रतिशत हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इस योजना में प्रदेश में 1600 से अधिक मोबाइल टॉवर लगाएं जाएंगे। प्रदेश की 9 हजार ग्राम पंचायतों तक मोबाइल कनेक्टिविटी विस्तार के लिए छह हजार किलोमीटर ऑप्टिकल केबल बिछाया जा रहा है। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्ट फोन से सिर्फ बात ही नहीं होगी यह फोन कम्प्यूटर के डेस्कटॉप और लेपटाप का काम भी करेगा। इस फोन के माध्यम से ट्रेन की टिकट बुक करायी जा सकती है, सामान खरीदा जा सकता है, पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं, किसानों को मौसम की जानकारी, मोदी एप से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की योजनाओं और ’गोठ’ एप से राज्य शासन की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी मिलेगी। छात्र-छात्राओं के लिए अध्ययन सामग्री भी इस फोन से मिल सकेगी। डॉ. सिंह ने कहा कि शासकीय और निजी महाविद्यालयों के सभी विद्यार्थियों को इस योजना में स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। 

    मुख्यमंत्री ने बिलासपुर शहर के लिए 301 करोड़ रूपए लागत की पेयजल योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इसके पूरा होने पर अगले 50 वर्ष तक बिलासपुर शहर में पेयजल की समस्या नहीं होगी।  उन्होंने आज बिलासपुर में लोकार्पित एक सौ बिस्तर वाले मातृ-शिशु अस्पताल का उल्लेख करते हुए कहा कि इस अस्पताल में बच्चों के लिए स्पेशल केयर वार्ड और दो ऑपरेशन थिएटर के साथ अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करायी गई है। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी  द्वारा धान, मक्का, दलहन और तिलहन फसलों के समर्थन मूल्य के वृद्धि के किए गए निर्णय का उल्लेख करते हुए कहा कि धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए की वृद्धि की गई है। अब प्रति क्विंटल धान का समर्थन मूल्य 1550 रूपए से बढ़कर 1750 रूपए हो गया है। इसमें 300 रूपए प्रति क्विंटल बोनस की राशि जोड़ने पर किसानों को प्रति क्विंटल धान पर 2050 रूपए मूल्य मिलेगा। उन्होंने आयुष्मान भारत योजना की भी जानकारी दी। 

मोबाइल तिहार में मुख्यमंत्री ने श्रमिकों को मुख्यमंत्री सायकल सहायता योजना के तहत बारह सौ हितग्राहियों को सायकिल, तीन सौ हितग्राहियों को औजार किट, मृत्यु सहायता योजना के तहत 13 मृत श्रमिकों के परिजनों को 3 लाख 90 हजार की राशि, 5 हितग्राहियों को आबादी पट्टा और 40 हितग्राहियों को ई-रिक्शा वितरित किए। उन्होंने समाज कल्याण विभाग की योजनाओं के तहत 2 हितग्राहियों को मोटर ट्रायसायकल, नौ हितग्राहियों को ट्रायसायकल, सात हितग्राहियों को व्हीलचेयर, तीन हितग्राहियों को श्रवण यंत्र, सात हितग्राहियों को बैसाखी, दो हितग्राहियों को स्मार्ट केन और एक हितग्राही को निःशक्तजन बीमा राशि का चेक वितरित किया।

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email