बेमेतरा

बेमेतरा जिले का नवागढ़ सामाजिक सौहार्द्र का एक अनोखा ’गढ़’: डॉ. रमन सिंह

 बेमेतरा जिले का नवागढ़ सामाजिक सौहार्द्र का एक अनोखा ’गढ़’: डॉ. रमन सिंह

बेमेतरा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि बेमेतरा जिले का नवागढ़ सामाजिक सौहार्द्र का एक अनोखा ’गढ़’ है, जो सबके लिए प्रेरणादायक है। नवागढ़ में आयोजित होने वाला पंथी लोक नृत्य का राज्य स्तरीय आयोजन अपने आप में अनूठा है। बाबा गुरू घासीदास के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ सहित इस क्षेत्र का भी तेजी से विकास हो रहा है। मुख्यमंत्री ने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान आज बेमेतरा जिले के ग्राम सम्बलपुर (विकासखण्ड नवागढ़) में आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। मुख्यमंत्री ने नवागढ़ क्षेत्र में सिंचाई सुविधा विकसित करने के लिए हर सम्भव सहयोग का आश्वासन दिया । उन्होंने कहा कि सिंचाई सुविधा के विस्तार के लिए जो भी प्रस्ताव आएंगे उन्हें परीक्षण के बाद स्वीकृति दी जाएगी। डॉ. सिंह ने आमसभा में लगभग 152 करोड़ 57 लाख रूपए लागत के 52 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

उन्होंने इनमें से 91 करोड़ 38 लाख रूपए लागत के 24 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 61 करोड़ 18 लाख रूपए लागत के 28 विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 70 हजार 934 किसानों को फसल बीमा के अंतर्गत 155 करोड़ 86 लाख रूपए की बीमा राशि, जिले के 59 हजार 805 किसानों को 80 करोड़ 96 लाख रूपए का धान बोनस और एक लाख 16 हजार 802 परिवारों को आबादी पट्टे वितरित किए। इन परिवारों में एक लाख 6 हजार 802 ग्रामीण परिवार और 9268 नगरीय क्षेत्र के परिवार शामिल हैं। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन भी वितरित किए। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री दयाल दास बघेल, विधायक श्री अवधेश चंदेल, संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस अवसर पर उपस्थित थे।

      मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सड़क, पुल-पुलिया और गांव-गांव में बुनियादी अधोसंरचना के कामों के साथ गरीबों के लिए चावल और इलाज की व्यवस्था की है। राज्य सरकार ने पसीना बहाने वाले श्रमवीरों को शासन की योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया है। श्रमवीरों के लिए लगभग 250 करोड़ रूपए की योजना बनाकर प्रदेश के साढ़े 12 लाख श्रमवीरों को कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जनता जनार्दन का आर्शीवाद लेने, किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 700 करोड़ रूपए का बोनस, 12 लाख परिवारों को आबादी पट्टों का वितरण करने विकास यात्रा में निकला हूॅ। दंतेवाड़ा से शुरू हुई विकास यात्रा में जनसैलाब उमड़ रहा है और इस यात्रा को व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों को अब इलाज के लिए चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से गरीबों के लिए पांच लाख रूपए तक के इलाज की व्यवस्था की है।

उन्होंने राज्य सरकार की संचार क्रांति योजना की जानकारी देते हुए बताया कि विकास यात्रा के अगले चरण में  50 लाख स्मार्ट फोन युवाओं, महिलाओं, किसानों, श्रमिकों और बुजुर्गो को निःशुल्क बांटे जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में माता बहनों में जागृति आई है। गांव-गांव में जय बिहान के नारे की गूंज सुनाई देती है। राष्ट्रीय आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूहों ’बिहान’ की महिलाओं ने आत्मनिर्भर बनकर समाज को आगे बढ़ाने का काम किया है। ये महिलाएं सामाजिक क्षेत्र में भी सराहनीय काम कर रही हैं।

       मुख्यमंत्री ने आम सभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उसमें 73 करोड़ 11 लाख रूपए की लागत से 54 गांवों में निर्मित जल प्रदाय समूह जल परियोजना, 3 करोड़ 56 लाख रूपए की लागत से ग्राम कुरा एवं चंदनू में स्थापित 33/11 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उप केन्द्र, 2 करोड़ 43 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 2 करोड़ सात लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में नवीन आई.टी.आई भवन, लगभग 51 लाख रूपए की लागत से सम्बलपुर में निर्मित मिनी स्टेडियम, लगभग 36 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में बना अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कार्यालय भवन, 31 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में मनरेगा भवन, लगभग 25 लाख रूपए की लागत से नगर पंचायत मुख्यालय मारो में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक भवन और 19 लाख रूपए की लागत से सम्बलपुर में निर्मित अटल समरसता भवन शामिल है।

 डॉ. सिंह ने आमसभा में जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उसमें 17 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से सकरी नहर फेस-दो की मुख्य नहर एवं शाखा नहरों का रिमॉडलिंग-लाईनिंग कार्य, 7 करोड़ 59 लाख रूपए से केसला-योगीदीप-खम्हरिया मार्ग में हॉफ नदी पर बनने वाला पुल, 6 करोड़ 45 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाला हेमाबंध-भंवरदा-अमलीडीह मार्ग, 2 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत से अंधियाखोर-मरका मार्ग में पुल निर्माण, 2 करोड़ चार लाख रूपए की लागत की हाथाडाडू से कामता सड़क, 1 करोड़ 95 लाख रूपए की लागत से कोसा से करचुवा तक बनने वाला पहुंच मार्ग, 68 लाख रूपए लागत से गिधवा-परसदा आरक्षित पक्षी विहार परियोजना, 46 लाख 72 हजार रूपए की लागत से सम्बलपुर में बनने वाला बस स्टैण्ड शामिल है।
 मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इस अवसर पर एक हजार श्रमिकों को सायकल, 50 महिलाओं को सिलाई मशीन, 200 श्रमिकों को औजार व सुरक्षा उपकरण, 10 हितग्राहियों को मोटराइज्ड ट्राय सायकल, पांच किसानों को उद्यानिकी विभाग की ओर  से 6 लाख रूपए की अनुदान राशि, 15 ग्रामों की शालाओं को 30 टेबलेट, सात लोगों को श्रवण यंत्र, 10 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास अधिकार स्वीकृति पत्र, 50 प्रशिक्षणार्थियों को कौशल प्रमाण पत्र, 10 हितग्राहियों को स्मार्ट कार्ड और पांच कुम्भकारों को इलेक्ट्रॉनिक चॉक का वितरण किया।

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email