बेमेतरा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हाथों दिव्यांग रीना को मिली बैटरी चलित ट्राईसाइकल, पढ़ाई की राह हुई आसान

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हाथों दिव्यांग रीना को मिली बैटरी चलित ट्राईसाइकल, पढ़ाई की राह हुई आसान

बेमेतरा जिले के ग्राम कोचेरा की दिव्यांग छात्रा कु. रीना कोसमा की आगे की पढ़ाई की राह आसान हो गई है। आज भण्डेरा में आयोजित समाधान शिविर में रीना को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के हाथों बैटरी चलित ट्राईसाइकल मिली। रीना ने अभी दसवीं की परीक्षा दी है। आगे की 11वीं की पढ़ाई के लिए उन्हें चार किलोमीटर दूर भीमकन्हार गांव जाना पड़ेगा। रीना ने बताया कि उन्हें कक्षा छठवीं में ट्राईसाइकल मिली थी, जो टूट गई है। उन्होंने लोक सुराज अभियान के तहत नई ट्राईसाइकल के लिए आवेदन दिया था और आज उन्हें नई ट्राईसाइकल मिल गई। रीना ने खुश होते हुए बताया कि अब वे चार किलोमीटर की दूरी आसानी से पूरी कर लेंगी। रीना ने यह भी बताया कि पढ़-लिखकर वे क्लर्क बनना चाहती हैं।

हाईस्कूल के उन्नयन की घोषणा पर बच्चों ने मुख्यमंत्री को दिया धन्यवाद

प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के तहत बेमेतरा जिला के ग्राम भण्डेरा पहुंचे डॉ. रमन सिंह ने गांव के हाईस्कूल में जाकर कक्षा नवमीं के बच्चों से मुलाकात की। उनहोंने बच्चों से उनकी पढ़ाई-लिखाई के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने बच्चों से यह भी पूछा कि पढ़-लिखकर क्या बनेंगे। बच्चों ने बताया कि वे डॉक्टर, इंजीनियर और टीचर बनना चाहते हैं। डॉ. सिंह ने बच्चों को लगन के साथ पढ़ाई करने की समझाईश देते हुए पूछा कि वे कितने घंटे पढ़ाई करते हैं। बच्चों ने बताया कि दो से तीन घंटे। मुख्यमंत्री ने पढ़ाई के लिए और अधिक समय निकालने। साथ ही योग और खेल के लिए भी समय निकालने को कहा। मुख्यमंत्री जब कक्षा में पहुंचे तो कुछ छात्राओं ने उन्हें बताया कि यह स्कूल केवल दसवीं तक है। इसे यदि आप हायर सेकेण्डरी कर दें तो हमें आगे की पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने बच्चों को बताया कि उन्होंने आज ही इस हाईस्कूल का हायर सेकेण्डरी स्कूल के रूप में उन्नयन करने की घोषणा की है। आगामी जुलाई माह से यहां 11वीं की क्लास शुरू हो जाएगी। इस पर सभी बच्चों ने ताली बजाकर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email