बेमेतरा

ग्रामीणों के लिए लाभकारी रहा बेवरा शिविर, 143 आवेदनों का मौके पर निराकरण

 ग्रामीणों के लिए लाभकारी रहा बेवरा शिविर, 143 आवेदनों का मौके पर निराकरण

TNIS

विधायक एवं कलेक्टर हुए आम लोगों की समस्याओं से रू-ब-रू

बेमेतरा : आम जनता की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने के उद्देश्य से जिले के नवागढ़ ब्लाॅक के सुदूरवर्ती एवं मुगेंली जिला के सरहद पर स्थित ग्राम बेवरा में को शुक्रवार को आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर ग्रामीणों के लिए लाभकारी रहा। शिविर में प्राप्त कुल 315 आवेदनों में से 143 आवेदनों का मौके पर ही निराकरण कर दिया गया है। शेष आवेदनों के लिए समय सीमा निर्धारित की गई। इनमें सर्वाधिक 234 आवेदन जनदप पंचायत को प्राप्त हुए, जबकि राजस्व विभाग को 24 आवेदन प्राप्त हुए। नवागढ़ क्षेत्र के विधायक श्री गुरूदयाल सिह बंजारे कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने आम नागरिकों की समस्याओं से रू-ब-रू होकर उनके उचित निराकरण के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। शासकीय मिडिल स्कूल परिसर में आयोजित शिविर में जिले के विभागीय अधिकारियों ने मंच पर आकर अपने-अपने विभाग द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को देकर इसका लाभ उठाने की अपील की। इनमें प्रमुख रूप से कृषि, श्रम, विद्युत, महिला एवं बाल विकास, मछली पालन, खाद्य, आदिम जाति, स्वास्थ्य, शिक्षा, प्रमुख रूप से शामिल है।

धायक गुरूदयाल सिंह बंजारे ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी आप लोगों की समस्याओं के निदान के लिए यहां उपस्थित हुए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में आम जनता की भलाई के लिए अनेक सरकारी योजनाएं एवं जनकल्याणकारी कार्यक्रम चलाए जा रहे है। उन्होंने नागरिकों से इन योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाने का आव्हान किया। विधायक ने कहा कि शिविर में उपस्थित अधिकारी आम जनता की समस्याओं को गम्भीरता से लें। शिविर का उद्देश्य केवल औपचारिकता न रहे। उन्होेंने भाटापारा एक राष्ट्रीकृत बैंक से नवागढ़ ब्लाक के मारो-सम्बलपुर अंचल के ग्रामीणों के नाम पर बैंक ऋण लिए जाने की शिकायत पर जांच करने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पात्र हितग्राहियों को ही देने का सुझाव दिया। उन्हे शिकायत मिली है कि जिनके पास स्यवं का मकान है एवं साधन सम्पन्न है उन्हें भी इस योजना का लाभ दिया जा रहा है यह उचित नही है। 

कलेक्टर श्री कावरे ने कहा कि जिला प्रशासन ग्रामीण अंचल में लागों की समस्याओं की निराकरण के लिए प्रत्येक माह दो शिविर आयोजित किये जा रहे। जिलाधीश ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे आम लोगों की समस्याओं के निराकरण में संवेदनशील होकर कार्य करें। उन्होंने राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना- नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बाड़ी के सरक्षण एवं संवर्धन के लिए आगो आने का आव्हान किया इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

जिला पंचायत के सी.ई.ओ. प्रकाश कुमार सर्वे, ने भी अपने विचार प्रगट किये। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री एस. आर. महिलांग, उप संचालक कृषि श्री जे.एस.राजपूत, खाद्य अधिकारी सी.पी.दीपांकर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बेमेतरा श्री डी.एन.कश्यप, कार्यपालन अभियंता पी.एच.ई. श्री परीक्षित चैधरी, विद्युत विभाग जे.एस.चैधरी, सहायक आयुक्त श्रीमती मेनका चन्द्राकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, एस.के.शर्मा, पी.एम. ग्राम सड़क येाजना एस.के.साहू, आबकारी अधिकारी एस.एन. सिंह, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी रमाकांत चन्द्राकर, तहसीलदार रेणुका रात्रे, जनपद पंचायत नवागढ़ के अध्यक्ष श्री टारजन साहू, जनपद सीईओ एल.एल.निषाद, जिला पंचायत सदस्य बिसौहा राम साहू, एवं अंजू बघेल, जनपद पंचायत सदस्य गण- आनंद वल्लभ ठाकुर,  नरेन्द्र वर्मा,  राधेश्याम यदु,  संतोष साहू , सरपंच ग्राम पंचायत बेवरा श्रीमती नंदनी धृतलहरे, उपसरपंच दिलीप वर्मा, पुटपुरा श्रीमती बबीता साहू, सहित सर्व जिला प्रमुख अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का वंचालन बी.ई.ओ. जी.आर.चतुर्वेदी ने किया।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email