बेमेतरा

बैंकर्स ऋण स्वीकृत न करने की स्थिति में स्पष्ट कारण सहित आवेदक को अवगत कराएं-कलेक्टर

बैंकर्स ऋण स्वीकृत न करने की स्थिति में स्पष्ट कारण सहित आवेदक को अवगत कराएं-कलेक्टर

TNIS

डी.एल.सी.सी. की बैठक संपन्न

बेमेतरा : जिला स्तरीय बंैकर्स परामर्शदात्री समिति एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति की बैठक आज संयुक्त जिला कार्यालय के दृष्टि सभाकक्ष में आयोजित की गई। कलेक्टर महादेव कावरे की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में कलेक्टर ने कहा कि सी.डी. (के्रडिट डिपाॅजिट) रेसियो जिन बैंकों का कम है, वे बैंकर्स 60 प्रतिशत से ज्यादा लक्ष्य बढ़ाएं। जिले के बैंकों में ऋण जमा अनुपात इस प्रकार है- वित्तीय वर्ष 2018-19 की चैथी तिमाही की समाप्ति पर 31 मार्च 2019 को जिले के सभी बैंकों का कुल सीडी रेसियो 62.8 प्रतिशत है, जिसमें कमर्शियल बैंको को सीडी रेसियो 58.67 प्रतिशत, ग्रामीण बैेंक का 29.6 प्रतिशत एवं सहाकारी बैंक का 89.8 प्रतिशत है। वित्तिय वर्ष 2017-18 की समाप्ति पर 31 मार्च 2018 को जिले के सभी बैंको का कुल सीडी रेसियो 68.3 प्रतिशत था। कमर्शियल बैंकों का सीडी रेसियो 62.7 प्रतिशत, ग्रामीण बैंक का 35.3 प्रतिशत एवं सहकारी बैंक का 105.8 प्रतिशत था। 31 मार्च 2019 के अनुसार 60 प्रतिशत से भी अधिक सीडी रेसियो वाले 14 बैंक हैं और 60 से कम सीडी रेसियो वाले 11 बैंक हैं। 

कलेक्टर ने कहा कि विभिन्न शासकीय ऋण योजना के अंतर्गत बैंकों को प्रेषित लोन प्रकरण 30 जून तक स्वीकृति एवं वितरण की कार्यवाही सुनिश्चित करें। इनमें प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, स्टैण्ड अप योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) अंत्यावसायी विभाग की आदि प्रमुख हितग्राहीमूलक योजनाएं शामिल है। इससे लोगों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलती है। पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत ठाकुर ने बैंक एवं एटीएम की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के संबंध में बैंकर्स को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी बैंकों में पुलिस कन्ट्रोल रूम का नम्बर अंकित करें। यदि किसी प्रकार की अनहोनी की स्थिति में पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को सूचित करें। एस.पी. ने बैंक के वाहन पार्किंग व्यवस्था सुव्यवस्थित करने को कहा जिससे यातायात प्रभावित न हो। जिलाधीश ने कहा कि बैंक यदि किसी हितग्राही का ऋण स्वीकृत नहीं करते हैं तो स्पष्ट कारण सहित हितग्राही एवं प्रेषित करने वाले एजेंसी को सूचित करें।

कलेक्टर ने आज की बैठक में कुछ बैंकर्स के अनुपस्थिति पर अप्रसन्नता जाहिर की और उन्हें शो-काॅज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।  
बैठक में बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में कृषि ऋण की स्थिति इस प्रकार है- कुल कृषि ऋण रू. 66042 लाख, फसल हेतु ऋण रू 62959 लाख, लघु सिंचाई हेतु रू 38 लाख, डेयरी हेतु रू 336 लाख, प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र में कुल ऋण राशि रू 75012 लाख है। महिला वर्ग में रू 7327 लाख, माइनोरिटी वर्ग में रू 1867 लाख, कमजोर वर्ग में रू 36346 लाख, एससी/एसटी वर्ग में रू 16086 लाख है। कलेक्टर ने बैंकर्स से कहा कि बेमेतरा एक कृषि प्रधान जिला है। किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए कृषि उत्पादन के साथ-साथ पशुपालन, कुक्कुट पालन, मछली पालन, एवं उद्यानिकी फसलों के उत्पादन की दिशा में भी कार्य करें और किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए प्रयास करें। बैंकर्स कृषकों के खातों में आर.टी.जी.एस. के माध्यम से शीघ्र राशि जमा करायें, ताकि कृषकों को समय पर राहत राशि उपलब्ध हो सके। उन्हांेने कहा कि बैंक खातों में आधार सिडिंग में जिले का स्थान टाॅप टेन में होना चाहिए।

इसके लिए नरेगा के खातों में आधार सिडिंग की जानकारी जनपद पंचायतों से, सी.सी.बी. में कृषकों के खातों में आधार सिडिंग की जानकारी सहकारी बैंकों से और लैण्ड रिकार्ड भुईयां डेटाबेस से आधार सिंडिंग की जानकारी के आधार पर बैंक खातों का भी आधार सिडिंग कराने के सुझाव दिए। बैठक में जिले में कार्यरत् बैंकों की समीक्षा, जिले के बैंकों का ऋण जमा अनुपात, वित्तीय वर्ष 2018-19 में शासन द्वारा प्रायोजित ऋण प्रकरण योजनाओं की प्रगति की समीक्षा, मुद्रा योजना एवं स्टैण्ड अप इंडिया योजना की समीक्षा, जनधन योजना, आधार सीडिंग, मोबाईल सीडिंग, रूपे कार्ड की समीक्षा, प्रधानमंत्री बीमा योजना तथा अटल पेंशन योजना की समीक्षा वित्तीय साक्षरता पर चर्चा, शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बैंक शाखा तथा एटीएम मशीनों की सुरक्षा पर चर्चा, वार्षिक साख योजना 2018-19 एवं 2019-20 पर चर्चा, वित्तीय वर्ष 2020-21 हेतु नाबार्ड द्वारा संभाव्यता युक्त ऋण योजना (पीएलपी) पर चर्चा, इसके अलावा अध्यक्ष के अनुमति से अन्य विषयों पर चर्चा की गई। 

बैठक में बताया गया कि जिले के नवागढ़ ब्लाक के ग्राम नारायणपुर में भी किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक की नई शाखा खोलने के संबंध में चर्चा एवं विचार-विमर्श किया गया। बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओ प्रकाश कुमार सर्वे, परियोजना अधिकारी बी.आर. मोरे,  राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) रायपुर के डीडीएम अशोक पाणीग्रही, लीड बैंक आॅफिसर पी ओड़िया, सहित बैंक उपस्थित थे।
 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email