बेमेतरा

मतदान समाप्ति के बाद क्लोज बटन दबाना न भूलेंः कलेक्टर

मतदान समाप्ति के बाद क्लोज बटन दबाना न भूलेंः कलेक्टर

मतदान दलों के दूसरे चरण का प्रशिक्षण का निरीक्षण 

बेमेतरा :  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी महादेव कावरे ने लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत जिला मुख्यालय बेमेतरा में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने मतदान दलों के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान दल में चुनाव कार्य संपन्न कराने नियुक्त सेक्टर अधिकारी, पीठासीन अधिकारी तथा मतदान दल अधिकारी गंभीरतापूर्वक अपने दायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया में पीठासीन अधिकारियों का अहम रोल रहता है आप टीम मैनेजर के रूप में अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने निष्पक्ष, स्वतंत्र तथा शांतिपूर्वक चुनाव संपन्न कराने निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों का विस्तार से अध्ययन करने तथा प्रशिक्षण के दौरान बताई गई बातों को ध्यानपूर्वक सुनने व अमल में लाने के निर्देश दिये।

जिले के सभी तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए मास्टर ट्रेनरों द्वारा आज बेमेतरा में पीठासीन अधिकारियों एवं मतदान अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने गंभीरता पूर्वक ट्रेनिंग लेने की समझाइश दी। शासकीय बालक उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय एवं बेमेतरा शासकीय कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय एवं एलांस पब्लिक स्कूल बेमेतरा में शिक्षकों का चुनाव प्रशिक्षण दिया गया। कलेक्टर ने कहा कि माॅकपोल एवं मतदान प्रक्रिया संपन्न होने के पश्चात क्लोज रिजल्ट क्लीयर (सीआरसी) बटन दबाना न भूलें। मतदान केन्द्र में यदि कोई मतदाता अपना इपिक कार्ड नहीं लाता है तो आयोग द्वारा 11 मान्यता प्राप्त फोटो युक्त दस्तावेज लाने पर उसे मतदान करने की अनुमति दी जाए। 

परस्पर समन्वय से कार्य करें-ः कलेक्टर ने चुनाव प्रक्रिया हेतु प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन अधिकारी, मतदान दल के अधिकारियों को मतदान प्रक्रिया के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने निष्पक्ष एवं पारदर्शी मतदान हेतु मतदान दलों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि सभी निर्वाचन आयोग के एक अंग हैं। मतदान प्रक्रिया में सभी को जिम्मेदारी के साथ कार्य करना है। अपना आचरण एवं व्यवहार सही रखते हुए मतदाताओं के समक्ष निर्वाचन आयोग की मंशानुरूप कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीठासीन अधिकारी, मतदान दल के अधिकारियों को आपस में समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी ई.व्ही.एम.मशीन का संचालन स्वयं करके देखें। उन्होंने मतदान तिथि के पूर्व तथा मतदान के दिन समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं अवश्य सुनिश्चित कर लेने के निर्देश दिए। 

तेज रोशनी से व्हीव्हीपेट को दूर रखें-ः गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए सूर्य की तेज रोशनी, कूलर की नमी युक्त हवा से ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपेट को बचाए। कलेक्टर ने ई.व्ही.एम. द्वारा मतदान की कार्यप्रणाली, मतदान दलों को ई.व्ही.एम. को मतदान के लिए तैयार करने, ई.व्ही.एम. में इरर का निराकरण, ई.व्ही.एम. के बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट की कार्यप्रणाली, मतदान के दौरान सावधानी, एवं आवश्यक कार्यवाही एवं प्रक्रिया, बैलेट यूनिट और कंट्रोल यूनिट की सिलिंग की प्रक्रिया तथा मतदान संपन्न होने के बाद सामग्री जमा करने की निर्धारित प्रक्रियाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी मतदान दलों को प्रदान करने के लिए प्रशिक्षकों को निर्देशित किया। प्रशिक्षण में मतदान दल के सदस्यों द्वारा पूछे गये प्रश्नों और उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया गया। 

उन्होंने प्रत्येक कक्ष में जाकर मतदान दलों के चुनाव कार्य के प्रशिक्षण का सघन निरीक्षण किया गया तथा प्रशिक्षकों और पीठासीन तथा मतदान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि पीठासीन मतदान अधिकारी प्रशिक्षण में दी गई जानकारी का गंभीरतापूर्वक चुनाव कार्य संपन्न कराने उपयोग करें। उन्होंने कहा कि चुनाव दल के किसी भी सदस्य को यदि चुनाव से संबंधित किसी भी कार्य में कोई असुविधा महसूस हो रही हो, दुविधा हो तो वे उसका समाधान मास्टर टेनर्स से अवश्य कर लें। उन्होंने मतदान प्रशिक्षण दल से ई व्ही एम के कमिसनिंग,सामग्री वितरण के दौरान सामग्री का मिलान में सतर्कता बरतने, चुनाव प्रक्रिया में आवश्यक कार्य को चेक लिस्ट के रूप में चिन्हित रखना सहित अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सवाल पूछने के साथ अनेक सुझाव दिए। 

उन्होंने ई व्ही एम, बैलेट यूनिट, वी वी पैट, बूथ तैयारी, माॅक पोल, मतपत्र लेखा, मतदाता रजिस्टर, वोटर लिस्ट सहित दृष्टिबाधित के लिए किये जा रहे ब्रेल लिपि के इस्तेमाल सम्बन्धित सवाल भी पूछे। ट्रेनिंग के दौरान पीठासीन अधिकारियों को बताया गया कि ई.व्ही.एम. कम्पार्टमेन्ट में जाकर कोई भी व्यक्ति फोटो नहीं ले सकता। अतः आयोग के निर्देशानुसार फोटो न लेने देंवे। यदि कोई मतदाता हस्ताक्षर नहीं करता है तो बायें हाथ के अंगूठा का निशान लेना है। मतदाता को स्याही तर्जनी में लगाई जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान यह भी बताया गया कि यदि व्ही.आई.पी. मतदाता मत देने आता है तो पीठासीन अधिकारी खड़े होकर उसका अभिवादन न करें। 
चुनाव के दौरान दो बीयू एवं सीयू - दुर्ग संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत बेमेतरा जिले में 23 अप्रैल को होने जा रहे निर्वाचन में 21 अभ्यर्थी चुनाव मैदान में होने से बैलेट यूनिट एवं कट्रोल यूनिट के दो-दो सेट की जरूरत पड़ेगी जो व्हीव्हीपेट से जुड़ा रहेगा। अंतिम बटन नाॅन आॅफ द एबव (नोटा) का रहेगा। 

प्रशिक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओ प्रकाश कुमार सर्वे, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बेमेतरा- डीएन कश्यप, बेरला- दुर्गेश कुमार वर्मा, साजा- उमाशंकर साहू एवं नवागढ़- डी.एस.उईके, जनपद पंचायत के सीईओ बेमेतरा-दीपक ठाकुर बेरला- शिशिर शर्मा, साजा- प्रकाश मेश्राम, नवागगढ़- एल.एल. निषाद, एवं सेक्टर अधिकारी उपस्थ

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email