ज्योतिष और हेल्थ

अखबार पर मत खाना – ऐसा हो जायेगा हाल डॉ हृदयेश कुमार...

अखबार पर मत खाना – ऐसा हो जायेगा हाल डॉ हृदयेश कुमार...

GCN

No description available.

अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के संस्थापक 

डॉ हृदयेश कुमार ने स्वास्थ के लिये किया जागरुक 

अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के संस्थापक 

डॉ हृदयेश कुमार ने स्वास्थ के लिये किया जागरुक 

फरीदाबाद : अक्सर लोग खाना अखबार पर रखकर खाते हैं। लेकिन आप अपनी सुरक्षा के लिए सावधान रहें। खतरनाक बीमारियां इनसे निकलने वाले खतरनाक बायोएक्टिव तत्वों के कारण हो सकती हैं। बिना सोचे समझे अखबार में खाना लपेट कर अखबार पर ही खा लेते हैं। लेकिन क्या आप इसके दुष्परिणामों के बारे में जानते हैं। अखबार में खाना पैक करना या अखबार में खाना खाना सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है  सफर और खोमचे पर होता है ज्यादा इस्तेमाल यानी फूड सेफ्टी एंड स्टैन्डर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने भी कई बार ये बात कही है कि अखबार में लिपटा खाना स्वास्थ के लिए हानिकारक है। अखबार की छपाई में इस्तेमाल होने वाली स्याही का सेवन करने से जिस केमिकल को आप खा जाते हैं, उससे सबसे पहले पाचन संबंधी समस्याएं होती हैं. इन केमिकल्‍स से हार्मोंस भी प्रभावित होते हैं.अखबार में लिपटा ऑयली खाना और भी खतरनाक हो जाता है. इससे चिपककर जो हानिकारक तत्‍व पेट में जाते हैं, उनसे मूत्राशय और फेफड़ों का कैंसर भी हो सकता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण लोगों को समय-समय पर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करता रहता है। खाना कितना भी स्वस्थ और साफ क्यों न हो, लेकिन अखबार के संपर्क में आते ही यह हानिकारक हो जाता है और हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाता है। अखबारों को छापने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्याही में कई खतरनाक बायोएक्टिव पदार्थ होते हैं, जो हमारे शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव डालते हैं। ऐसे में अगर आप भी जल्दबाज़ी या लापरवाही में ऎसी गलती करते हैं तो आज ही सावधान हो जाइये क्योंकि जान है तो जहान है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email