सोशल मीडिया / युथ गैलरी

सरकार सरकारी मंडियां खत्म करके प्राइवेट मंडियां खोलने की इजाजत दे रही है

सरकार सरकारी मंडियां खत्म करके प्राइवेट मंडियां खोलने की इजाजत दे रही है

हिमांसु जी के लेख से 

अभी आगे जाकर और भी भयानक हालात का सामना करोगे पब्लिक जी, सरकार सरकारी मंडियां खत्म करके प्राइवेट मंडियां खोलने की इजाजत दे रही है, उसके बाद सरकार किसानों के अनाज नहीं खरीदेगी, सरकार किसानों से अनाज नहीं खरीदेगी तो राशन की दुकानों पर जो गेहूं चावल दाल बांटा जाता है वह बंद कर दिया जाएगा, आप लिख कर ले लो मोदी सरकार का अगला फैसला यह होगा कि अब गरीबों को राशन में अनाज की बजाए सब्सिडी नकद दी जाएगी

नकद सब्सिडी का हाल तो आपको मालूम ही है आप अपना बैंक अकाउंट देख लो कितने महीनों से गैस के सिलेंडर की सब्सिडी आनी बंद हो चुकी है, इसके अलावा मान लीजिए एक परिवार की सब्सिडी कुल मिलाकर बनी दो सौ रुपया, गरीब जब दो सौ रुपया बाजार में लेकर जाएगा तो उसे राशन की दुकान से मिलने वाले राशन की मात्रा नहीं मिलेगी, आज राशन की दुकान पर मान लीजिए उसे 10 रुपए किलो चावल मिलता है लेकिन बाजार में वही चावल 40 रुपए किलो मिलेगा, तो उतने ही पैसे में उसे एक चौथाई अनाज मिलेगा, इसके अलावा जब पूंजीपति किसान से चावल खरीदेगा तो वह उसे सस्ता चावल उगाने के लिए नहीं कहेगा

पूंजीपति कहेगा मुझे सिर्फ बासमती दो जिसे बेचकर में ज्यादा मुनाफा कमा सकूं, आज गरीब आदमी इसलिए खाना खा पा रहा है क्योंकि सरकार किसानों से सस्ते किस्म का चावल खरीद कर राशन की दुकानों से बटवा कर गरीब की थाली तक पहुंचा पा रही थी, और किसान भी सस्ते किस्म का चावल इसलिए उपजाता है क्योंकि उससे सरकार खरीद लेती है, लेकिन अब यह सारा सिस्टम खत्म हो जाएगा, ना किसान सस्ते चावल उगाएगा,  ना सरकार उससे खरीदेगी, ना राशन की दुकान पर चावल मिलेगा, ना गरीब की थाली तक पहुंचेगा

आज जो करोड़ों लोग चार या पांच हजार में अपना पेट भर लेते थे, उनका खाने का ही खर्च 4 गुणा बढ़ जाएगा, हर व्यक्ति सिर्फ पेट भरने के लिए ही इतना मजबूर कर दिया जाएगा कि वह पूंजीपतियों का गुलाम बनने को तैयार हो जाएगा, अमीर और मिडिल क्लास वाले बहुत पहले से यह कहते आ रहे हैं कि गरीबों को सस्ता अनाज देना बंद कर दो क्योंकि इसकी वजह से गरीब लोग मेहनत नहीं करना चाहते, असल में गरीब को इतना मजबूर करने की पूंजीवादी साजिश है कि वह आपके सामने टुकड़ों में बिकने के लिए तैयार हो जाए, ज्यादा बताने से आपकी टेंशन बढ़ जाएगी इसलिए अभी के लिए इतना ही

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email