दुर्ग

अस्पताल से अपनी पत्नी के शव को छुड़ाने के लिए बैगा आदिवासी को चाहिए थे 80 हजार रूपये, DM अवस्थी पुलिस महानिदेशक के हस्तक्षेप के बाद अस्पताल प्रबंधन ने बिल किया माफ

अस्पताल से अपनी पत्नी के शव को छुड़ाने के लिए बैगा आदिवासी को चाहिए थे 80 हजार रूपये, DM अवस्थी पुलिस महानिदेशक के हस्तक्षेप के बाद अस्पताल प्रबंधन ने बिल किया माफ

दुर्ग/भिलाई : आज सोमवार (29 अप्रैल) को डी.एम. अवस्थी, पुलिस महानिदेशक की दयालुता देखने मिली दरअसल  शहडोल (मध्यप्रदेश) निवासी बैगा आदिवासी केशव प्रसाद की पत्नी जो कि भिलाई के सेक्टर-9 अस्पताल की बर्न यूनिट भर्ती थी जिसका इलाज किया जा रहा था लेकिन उसकी मौत हो गई शव को छुड़ाने के लिए बैगा आदिवासी को अस्पताल को 80 हजार रूपये देने थे बैगा आदिवासी अपनी प्रॉपर्टी बेचकर ही अपनी पत्नी का इलाज करा रहे थे और उसके पास कुछ पैसे नहीं बचे थे किसी तरह इसकी खबर बैंगलोर के मंजूसाईं नाथ (वरिष्ठ संवाददाता, पी.टी.आई.) को हुई मंजूसाईं ने इसकी सूचना डी.एम. अवस्थी, पुलिस महानिदेशक को दी जिसके बाद डी.एम. अवस्थी ने इसे गंभीरता से देखते हुए तत्काल ही आई.जी.दुर्ग रेंज हिमांशु गुप्ता को बैगा आदिवासी परिवार की सहायता करने हेतु निर्देशित किया गया जिसके बाद आईजी हिमांशु गुप्ता भिलाई सेक्टर 9 अस्पताल पहुंचे और अस्पताल प्रबंधन से बैगा आदिवासी की सहायता करने का अनुरोध किया जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन के द्वारा बैगा आदिवासी की बची हुई 80 हजार रूपये की राशि माफ किया गया इस पूरे कार्यवाही में रोहित झा (अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, दुर्ग) एवं निरीक्षक प्रमिला मंडावी (थाना प्रभारी) की उल्लेखनीय भूमिका रही इस मानवतापूर्ण कार्यवाही के लिए बैगा आदिवासी केशव प्रसाद एवं उनके परिवार ने डी.एम. अवस्थी, पुलिस महानिदेशक को धन्यवाद दिया ।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email