दुर्ग

माता जी को लगाया गया 56 भोग...हवन में शामिल हुए केबिनेट मंत्री ताम्रध्वज साहू

माता जी को लगाया गया 56 भोग...हवन में शामिल हुए केबिनेट मंत्री ताम्रध्वज साहू

GCN

No description available.

दुर्ग : क्वांर नवरात्र पर्व के पावन अवसर पर श्री सत्तीचौरा माँ दुर्गा मंदिर, गंजपारा, दुर्ग में आयोजित 9 दिवसीय 9 कुंडीय शतचंडी महायज्ञ में अष्टमी के अवसर पर मंदिर में विराजमान माँ दुर्गा जी को 56 भोग चढ़ाया गया, 56 भोग दोपहर 12 बजे लगाया गया एवं 56 भोग को आकर्षित साज-सज्जन के साथ सँध्या आरती के समय सजाया गया, जो कि आकर्षण का केंद्र रहा, गंजपारा वासी एवं शहर के धर्मप्रेमी अपने अपने घरों से 56 भोग के लिए प्रसादी बनाकर लाये थे, 56 प्रकार के मिष्ठान, नमकीन, पूड़ी, सब्जी, खीर एवं हलवा भी 56 भोग के साथ रखा गया | 

    समिति के सदस्य योगेन्द्र शर्मा बंटी ने बताया कि शतचंडी महायज्ञ में आज अष्टमी के अवसर पर हजारों की संख्या में धर्मप्रेमियों ने यज्ञ की अपनी मनोकामना अनुसार सामग्री लेकर 108 परिक्रमा किये, भारी संख्या में धर्मप्रेमियों के आ जाने से थोड़ी थोड़ी देर रोक के लोगो को क्रम से यज्ञ में जाने एवं परिक्रमा का अवसर दिया गया, क्वांर नवरात्र पर्व में माता जी का सबसे बड़ा प्रभावशाली शतचंडी यज्ञ होने के कारण पूरे प्रदेश के दूर दूर से धर्मप्रेमी यज्ञ में आहुति देने एवं यज्ञ की परिक्रमा करने सत्तीचौरा पहुँचे, शहर के हर वार्ड से धर्मप्रेमी पिछले 8 दिनों से यज्ञ का लाभ ले रहे है |

     आज आष्टमी के हवन में माननीय ताम्रध्वज साहू जी केबिनेट मंत्री छत्तीसगढ़ शासन, श्री अरुण वोरा, विधायक एवं अध्यक्ष फेडरेशन, छ.ग शासन विशेष रूप से उपस्थित हुए, जिनके द्वारा यज्ञ में आहुति दी गयी एवं यज्ञ की परिक्रमा किये, समिति के सदस्यों ने माता की चुनरी एवं महिला सदस्यों ने प्रतीक चिन्ह मोमेंटो भेंट करके सम्मान किया.

    योगेन्द्र शर्मा बंटी ने बताया कि क्वांर नवरात्र पर्व नवमी के अवसर पर कल दिनाँक 4 अक्टूबर को यज्ञ में पूर्णाहुति एवं यज्ञ समापन होगा कल यज्ञ प्रातः 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा। दोपहर 3 बजे मन्दिर में क्वांर नवरात्र पर्व में रखी गयी ज्योत कलश की विसर्जन शोभायात्रा निकाली जावेगी..

     आज के यज्ञ मेंआचार्य दिवाकर शास्त्री जी ने बहुत ही ज्ञानवर्धक उपदेश किये जिससे प्रत्येक यज्ञकर्ता एवं श्रोता को धर्म एवं यज्ञ आदि विषयों का ज्ञान हुआ। आचार्य दिवाकर जी तर्क पूर्वक घोषणा करते हैं कि जो भी व्यक्ति यज्ञ करेगा वह निर्धन नहीं हो सकता। यज्ञ करने से आर्थिक उन्नति अवश्य होती है।

    आज अष्टमी के अवसर पर छोटी छोटी कन्या माताओं को माता के रूप में सजाकर उनसे शुद्ध दूध, मख्खन से बना हुआ केक कटवाया गया, एवं सभी को वितरण किया गया।
     आज के आयोजन में प्रवीण भाई आढ़तिया, गौतम जैन, आशीष अग्रवाल, आनंद जैन, बाबा तिवारी, ऋषभ जैन, ईशान शर्मा, शरद भूतड़ा, प्रकाश कश्यप, अजय मिश्रा, आशीष मेश्राम, सोनल सेन, संजय शर्मा, गायत्री शर्मा, प्रेमलता शर्मा, इंदु भूतड़ा, किरण शर्मा, संगीता शर्मा, जूही चौबे, रामावतार राठी, रमेश राठी, आशीष सेक्सरिया, आलोक चांडक, एवं सैकड़ो धर्म प्रेमी, सदस्य उपस्थित थे..

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email