खेल

ICC के फैसले को माना धोनी, अब नहीं पहनेंगे 'बलिदान चिन्ह' वाले दस्ताने

ICC के फैसले को माना धोनी, अब नहीं पहनेंगे 'बलिदान चिन्ह' वाले दस्ताने

एजेंसी 

नई दिल्ली : आईसीसी द्वारा क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में भारतीय सेना के 'बलिदान निशान' वाले दस्ताने पहनने की अनुमति देने से इनकार करने के बाद एमएस धौनी ने भी इस फैसले को मान लिया है। अंग्रेजी अखबार 'द टाइम्स ऑफ इंडिया' में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, एमस धौनी ने बीसीसीआई को साफ कर दिया है कि अगर भारतीय सेना के 'बलिदान निशान' वाले दस्ताने पहनने से आईसीसी नियमों का उल्लंघन होता है तो वह आगामी मैचों में इसे नहीं पहनेंगे। अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक धौनी ने बीसीसीआई से कहा है कि अगर उनके बलिदान ग्लव्स पहनने से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की रूल बुक के किसी प्रावधान का उल्लंघन होता है तो वे खुशी-खुशी इन ग्लव्स को उतार देंगे।

ICC ने नियमों का हवाला देते हुए जाहिर की थी आपत्ति
इससे पहले आईसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि उसके रूल बुक के मुताबिक खिलाड़ी को आधिकारिक मैच के दौरान किसी भी प्रकार का निजी संदेश प्रेषित करने वाला लोगो अपने किट पर पहनने की अनुमति नहीं है। आईसीसी के मुताबिक एमएस धौनी के ग्लव्स पर लगा 'भारतीय सेना का बलिदान चिन्ह' विकेटकीपर ग्‍लव्‍स को लेकर जारी नियमों को भी तोड़ता है। इससे पहले बीसीसीआई ने कहा था कि उसने आईसीसी को पहले ही इस तरह के ग्‍लव्‍स पहनने की जानकारी दे दी थी। साथ ही यह भी कहा गया है कि धौनी वह निशान नहीं हटाएंगे।

एमएस धौनी ने नहीं तोड़ा ICC का कोई नियाम: विनोद राय
सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित सीओए के अध्यक्ष विनोद राय ने अपने बयान में कहा है कि एएमस धौनी ने आईसीसी का कोई नियम नहीं तोड़ा है। पीटीआई से बातचीत में सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि धौनी के ग्लव्स में लगे निशान का भारत की सेना या सुरक्षाबलों से कोई संबंध नहीं है। ऐसे में नियम टूटने का सवाल ही नहीं उठता है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में धौनी ने जो विकेटकीपिंग ग्लव्स पहने थे, उन पर इंडियन पैरा स्पेशल फोर्स का 'बलिदान चिन्ह' बना हुआ था। जिस पर आईसीसी ने बीसीसीआई से अपनी आपत्ति जताई थी। गौरतलब है कि धौनी को साल 2011 में भारत की प्रादेशिक सेना ने लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद उपाधि से नवाजा था।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email