ज्योतिष और हेल्थ

योग दिवस विशेषः योग करने से अवसाद, चिंता, मानसिक तनाव में मिली काफी राहत

योग दिवस विशेषः योग करने से अवसाद, चिंता, मानसिक तनाव में मिली काफी राहत

'द न्यूज़ इंडिया समाचार सेवा' से साभार 

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का 7 वां उत्सव भारत के साथ दुनिया भर के अधिकांश देशों  में 21 जून 2021 दिन सोमवार को नई थीम- “योग के साथ रहें, घर पर रहें” के तहत मनाया जाएगा। वर्तमान कोविड-19 महामारी के चलते अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा और बेहतर रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए योग का महत्व और भी अधिक हो गया है। योग की महत्वता को लेकर भारत के प्रयासों के चलते दुनिया भर के देशों ने इसे संयुक्त राष्ट्र महासभा में स्वीकारा और 21 जून 2015 में पहली बार इसे विश्व स्तर पर मनाया गया। कोरोना संक्रमण के दौर में भी योगाभ्यास के कई फायदे सामने आए हैं। कोरोना संक्रमण के खतरे को लेकर एहतियात बरतते हुए योगाभ्यास का आयोजन इस साल भी वर्चुअल ही किया जाएगा। सामूहिक न सही, लोग अपने घर पर ही योग कर सकेंगे।

शहर के योग प्रशिक्षक आदित्य टंडन ने बताया, “कोरोना संकट को देखते हुए योग आयोग द्वारा इस वर्ष योग दिवस पर घर पर ही लोग योग कर आपस में जुड़ सकेंगे। योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है। यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है, मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है, विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है”।

योग दिवस विषय पर कोरोना संक्रमण के पश्चात स्वस्थ हो चुके लोगों में शहर के युवक प्रतीक वर्मा ने बताया, “मई में कोरोना पाजिटिव हो गया था, कोविड केयर सेंटर से स्वस्थ होने के बाद शारीरिक में काफी कमजोरी लग रही थी। जिला अस्पताल के डाक्टर की सलाह पर योग करना शुरू किया और अब नियमित रूप से हर दिन योग करने से काफी हेल्दी महसूस कर रहा हूं”। प्रतीक ने बताया, योग प्राकृतिक चिकित्सा से पोस्ट कोविड के दौरान आने वाले मानसिक तनाव भी योगाभ्यास से ठीक हुए हैं। अवसाद और अन्य मनोवैज्ञानिक समस्याओं का सामना किया लेकिन योग से उन्हें बड़ी राहत मिली है”।

भिलाई के बसंत साहू बताते हैं, “कोविड-19 के दौरान भस्त्रिका, प्राणायाम, कपालभाति, अनुलोम- विलोम चेस्ट के बल लेटने वाले आसन किए जिससे ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने में काफी मदद मिलीअब पूर्णता ठीक हो गए। कोरोना से रिकवर होने के बाद  लगातार योग करने से अवसाद, चिंता, मानसिक तनाव में काफी राहत मिली है “।

योग प्रशिक्षक आदित्य टंडन ने बताया,“इस बार योग में शामिल होने के लिए पंजीयन पोर्टल बनाया गया है। वहीं सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लोगों द्वारा #yogwithChhattisgarh #BewithYogaBeAtHome हैशटैग के माध्यम से योग करते हुए वीडियो , फोटो एवं सेल्फी अपलोड किया जाना है। वर्चुअल योग मैराथन का कार्यक्रम 21 जून को  छत्तीसगढ़ योग आयोग एवं समाज कल्याण विभाग के सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रसारित किया जायेगा”।

वर्चुअल योग मैराथन कार्यक्रम के समाज कल्याण विभाग द्वारा जिले के वीडियो के साथ जिलावार वर्चुअल मैराथन में पंजीकृत प्रथम 100 प्रतिभागियों को टी - शर्ट का वितरण छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा प्रदान किया जायेगा। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपलोड किये गए वीडियो में अधिकतम views एवं कमेंट वाले 03 जिलों को पुरस्कृत किया जायेगा। सर्वाधिक पंजीयन करने वाले जिले को पुरस्कृत भी किया जाये

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email