ज्योतिष और हेल्थ

सुपोषित थाली सजाकर दिया राष्ट्रीय पोषण माह का संदेश

सुपोषित थाली सजाकर दिया राष्ट्रीय पोषण माह का संदेश

व्हाट्सएप के माध्यम से भेज रहे जानकारी

पोषण आहार प्रदर्शनी लगाकर दिया जा रहा संदेश

महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा से चलाये जा रहे राष्ट्रीय पोषण माह में महिलाओं और बच्चों को पोषण आहार के साथ साथ कोविड-19 से बचने के लिए जागरुक कर संतुलित आहार लेने पर बल दिया जा रहा है ।

गर्भवती महिलाओं को बच्चों के जन्म के छह महीने बाद उसे उपरी आहार देने की बात गृह भेंट के माध्यम से बताई जा रही है । साथ ही  बच्चों के नियमित टीकाकरण और बेहतर स्वस्थ्य पर भी बल दिया जा रहा है ।

राष्ट्रीय पोषण माह 30 सितंबर तक चलाया जायेगा। इसी कड़ी में गुढ़ियारी सेक्टर की आंगनबाड़ी केंद्र पहाड़ीपारा में सुपोषित थाली सजाकर राष्ट्रीय पोषण माह का संदेश दिया ।

पहाड़ीपारा आंगनबाड़ी केंद्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुशीला बन्सोड़ ने बताया की व्हाट्सएप के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को सुपोषित थाली बनाकर बताया जाता है कि गर्भकाल में सुपोषित थाली खाने से होने वाले बच्चे का सम्पूर्ण विकास  होता है ।

साथ ही बच्चों के माता-पिता को भी कहा गया कि बच्चों की थाली में दाल चावल सब्जी पापड़ अचार का समावेश होना चाहिए जो बच्चों के लिये महत्वपूर्ण है । ज्योतिबा नगर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लक्ष्मी तिवारी और शुक्रवारी बाजार आंगनबाड़ी बाड़ी कार्यकर्ता जया सिन्हा इन कार्यकर्ताओं ने बहुत ही सुंदर तरीके से पोषण माह को समझाया है ।

गुढ़ियारी सेक्टर की पर्यवेक्षक रीता चौधरी ने बताया की गुढ़ियारी सेक्टर अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्र कुंदरा पारा में पोषण माह में रेडी टू ईट फूड का वितरण किया गया एवं पोषण माह के महत्व को भी समझाया गया साथ ही साथ पोषण मटका बनाकर हितग्राहियों को वीडियो के माध्यम से भी जानकारी दी गई ।

गर्भवती महिला  एवं धात्री महिला को भी वीडियो बनाकर भेजा गया । इस अवसर पर पोषण एवं स्वास्थ्य की समझाइश दी गई  । सही पोषण देश रोशन  के बारे में हितग्राहियों को संबोधित किया गया एवं सुपोषण गीत वीडियो के माध्यम से हितग्राहियों के पास भेजा गया है

सेक्टर के अंतर्गत आने वाली सभी आंगनबाड़ी केंद्र पर सुपोषित थाली सजाकर एवं प्रदर्शनी लगाकर क्षेत्र की शिशुवती,गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को राष्ट्रीय पोषण माह के तहत सुपोषित आहार सेवन का संदेश भी दिया जा रहा है । विशेष रुप से किशोरियों को माहवारी के दिनों के दौरान स्वच्छता रखने के तरीके और उसके फायदे  भी बताये जा रहे हैं ।इस दौरान सुपोषण के बारे में जागरूकता लाने के लिए चित्रकारी, स्लोगन तथा रंगोली द्वारा संदेश भी दिया जा रहा है।

कोरोना महामारी को लेकर स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखते हुए हाथ साबुन से धोकर ही भोजन करने, शारीरिक दूरी बनाकर रहने, मास्क का प्रयोग करने के प्रति भी जागरुक किया जा रहा है ।

पर्यवेक्षक रीता चौधरी ने कहा कि जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक पांडे के मार्गदर्शन में इसकी शुरुआत विधिवत तरीके से की गई है । प्रथम दिन जिला स्तर पर सामाजिक दूरी बनाकर मीटिंग ली गई और पोषण माह के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया ।

उनके द्वारा यह निर्देश दिया गया कि डिजिटल व्हाट्सएप के द्वारा वीडियो बनाकर ही हमें इस कोविड-19 में पोषण माह को फलीभूत करना है पोषण माह में जनप्रतिनिधि मितानिन स्वास्थ्य विभाग  सभी को सम्मिलित करते हुए डिजिटल माध्यम के द्वारा हितग्राहियों को स्वास्थ्य एवं पोषण की जानकारी दी जाए । साथ ही जिला कार्यक्रम अधिकारी के द्वारा प्रतिदिन इसकी समीक्षा भी की जा रही  है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email