बीजापुर

लोग स्वयं देख रहे वर्ष 2003 से वर्ष 2018 के बीच छत्तीसगढ़ में आए बदलाव को : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

लोग स्वयं देख रहे वर्ष 2003 से वर्ष 2018 के  बीच छत्तीसगढ़ में आए बदलाव को : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

बीजापुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज  16 सितम्बर को प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के अपने तूफानी दौरा कार्यक्रम के तहत राज्य के आदिवासी बहुल बस्तर संभाग के तहसील मुख्यालय भैरमगढ़ (जिला-बीजापुर) में एक विशाल आमसभा को सम्बोधित किया। उन्होंने इस अवसर पर वहां लगभग 191 करोड़ रूपए के 36 विभिन्न निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। इसके साथ ही उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री और अनुदान राशि का भी वितरण किया।  लोगों ने विशाल पुष्पमाला पहनाकर उनका अभिनंदन किया।

जनता को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माता और देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित यह विकास यात्रा प्रदेश के विकास और विश्वास का प्रतीक है। डॉ. सिंह ने कहा - विकास की दृष्टि से वर्ष 2003 से आज वर्ष 2018 के बीच छत्तीसगढ़ में जो बदलाव आया है, उसे लोग स्वयं देख रहे हैं। हर कोई देख सकता है कि वर्ष 2003 में छत्तीसगढ़ कैसा था और आज 2018 में आकर कैसा है? उन्होंने कहा - बीजापुर सहित बस्तर संभाग के सभी जिलों में विगत 15 वर्षाें में आम जनता की बेहतरी के लिए हर क्षेत्र में विकास के अभूतपूर्व कार्य हुए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं से गांव, गरीब और किसानों तथा समाज के सभी वर्गों के जीवन में परिवर्तन आया है। मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना के तहत मात्र एक रूपए किलो में चावल, निःशुल्क नमक और आदिवासी क्षेत्रों में पांच रूपए किलो में चना वितरण किया जा रहा है। इससे गांवों में भूख और पलायन की समस्या लगभग खत्म हो गई है। नई पीढ़ी की शिक्षा के लिए बेहतर व्यवस्था की गई है। किसानों को खेती के लिए ब्याज मुक्त ऋण मिल रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों को पक्के मकान और उज्ज्वला योजना के तहत महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा रहे हैं।  

    डॉ. सिंह ने भैरमगढ़ नगर पंचायत के विभिन्न वार्डाें में सीमेंट कांक्रीट सड़क और नाली निर्माण के लिए 50 लाख रूपए मंजूर करने और ग्राम भट्टीगुड़ा में स्टापडेम तथा सिंचाई नहर निर्माण की स्वीकृति देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री के हाथों  आमसभा में जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण हुआ, उनमें जिला मुख्यालय बीजापुर में तीन करोड़  40 लाख रूपए की लागत से युवाओं के कौशल प्रशिक्षण के लिए निर्मित लाइवलीहुड कॉलेज भवन भी शामिल हैं। डॉ. सिंह ने आमसभा में चिंतावागु नदी पर 25 करोड़ 59 लाख रूपए की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल का भी लोकार्पण किया। जिसके बन जाने से अब छत्तीसगढ़ के बीजापुर से पड़ोसी राज्य तेलांगना और महाराष्ट्र के बीच यातायात सुगम हो गया है। डॉ. सिंह ने आमसभा में शासकीय जिला ग्रंथालय बीजापुर के लिए 32 लाख रूपए की लागत से निर्मित भवन, ग्राम केशकुतुल में 75 लाख रूपए की लागत से निर्मित 50 सीटों वाले आश्रम शाला भवन और बीजापुर-जगरगुण्डा मार्ग पर 80 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित दो बड़े पुलों का भी लोकार्पण किया। 

डॉ. सिंह के हाथों आमसभा में बीजापुर के जवाहर नवोदय विद्यालय भवन और बीजापुर बायपास रोड का भूमिपूजन और शिलान्यास हुआ। नवोदय विद्यालय भवन का निर्माण 25 करोड़ रूपए की लागत से और बासपास रोड का निर्माण 47 करोड़ रूपए की लागत से किया जाएगा। आमसभा में प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के 56 हजार 973 तेन्दूपत्ता संग्रहाकों को 48 करोड़ रूपए के प्रोत्साहन पारिश्रमिक (बोनस) का भी वितरण किया गया। मुख्यमंत्री ने इनमें से प्रतीक स्वरूप कई संग्राहकों को बोनस राशि के चेक भेंट किए। उन्होंने बीजापुर जिले के मद्देड़ और भोपालपटनम के पुलिस थानों को आई.एस.ओ. 9001 थाना घोषित होने पर प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बीजापुर जिले के जनपद पंचायत भैरमगढ़ में आयोजित अटल विकास यात्रा में क्षेत्रवासियों को 151 करोड़ रूपए की लागत के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन कर सौगात दी। इस अवसर पर स्थानीय एजुकेशन सिटी मैदान में आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इसके पहले भी मै भैरमगढ आ चुका हुॅ। उस समय के भैरमगढ़ और आज के भैरमगढ़ में जमीन आसमान का फर्क दिखता है। भैरमगढ़ करवट बदल रहा है।

यहां शानदार एजुकेशन हब बनकर तैयार है। डॉ सिंह ने कहा कि बीजापुर भोपालपटनम सड़क निर्माण एक सपना था। हमने एक संकल्प लिया और विकास के रास्ते खुलते चले गये। आज यह क्षेत्र शिक्षा का केन्द्र बना हुआ है। जिला निर्माण के बाद जिस तरह से विकास को गति मिली है। वह  अदभूत है। उन्होंने क्षेत्रवासियों को अवगत कराया कि आगामी 29-30 सिम्बतर को बीजापुर जिला मुख्यालय में एक वृहत मेगा हेल्थ केम्प लगाया जायेगा। जहा पर विशेषज्ञ चिकित्सक निःशुल्क ईलाज करेंगे। सभी किस्म के आपरेशन निःशुल्क किये जाएगें। उन्होंने इस अवसर पर क्षेत्र के देवी-देवताओं का आर्शीवाद लिया। यहां के वीर क्रंातिकारी सेनानियों गुण्डाधुर व अन्य का स्मरण  करते  हुए क्षेत्र में विकास की नयी परम्परा की  शुरूआत की।

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि पूर्व सरकार ने सिर्फ नारे लगाये। हमने 01 रूपये किलो में चावल, चना, नमक सब कुछ दे रहे है। डॉ सिंह ने कहा कि धान की खरीदी का मूल्य 1750 रूपए क्विंटल केन्द्र सरकार ने तय किया है। हम ने 300 रूपये बढात्तरी करके 2050 व 2070 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। साथ ही 24 सौ करोड़ का बोनस भी दिया जायेगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिहं ने कहा कि पूरे प्रदेश में अजा, अजजा के ऐसे पुराने प्रकरण जिसमें 20 हजार रूपये तक के जुर्माना का प्रावधान हैं ऐसे कुल 20 हजार प्रकरण सरकार द्वारा वापस लिये जायेगे। उन्होने विकास यात्रा को अटल नामकरण दिये जाने के संदर्भ में कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ राज्य की स्थापना की थी। उनकी स्मृतियों को अक्षुण्ण रखे जाने के लिए अटल नगर रायपुर में स्मारक का निर्माण किया जायेगा।

जिसमें पूरे प्रदेश के गांव गांव से अटल दूत वहां कि पवित्र मिटटी लायेगें। इस तरह से स्मारक का निर्माण किया जायेगा। श्री सिंह ने कहा कि यह सरकार धान खरीद रही है बोनस दे रही है और अब सौभाग्य योजना अंतर्गत एक एक  गांव के मजले टोलो में शत् प्रतिशत् बिजली प्रदाय की जायेगी। उन्होंने आने वाले सालों में 04 गुना ज्यादा विकास करने की बात कहीं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 116.87 करोड़ के विकास कार्यो का भूमिपूजन व 34.96 करोड़ का विकास कार्यो  का लोकार्पण किया। 

मुख्यमंत्री ने भोपालपटनम से वारंगल मार्ग में ग्राम रामपुर चिन्तावागु नदी पर 25.09 करोड़ रूपये से लागत से निर्मित उच्चस्तरीय पुल का लोकार्पण किया।  इस पुल के बन जाने से बीजापुर से तेलंगाना आवागमन आसान होगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 03 करोड़ 40 लाख रूपये की लागत से बीजापुर लाईवलीहुड कालेज भवन, 32 लाख रूपये के जिला ग्रंथालय भवन का लोकार्पण किया।  75 लाख रूपये की लागत से केशकुतुल में नव निर्मित 50 सिट आश्रम शाला भवन, लगभग 80 लाख रूपये की लागत से बीजापुर जागरगुण्डा मार्ग में 02 नव निर्मित ब्रिज का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने बीजापुर में 25 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित होने वाले नवोदय विद्यालय भवन एवं 47 करोड़ रूपये के बायपास रोड़ का भूमिपूजन किया। इस मौके पर जिले के 58 हजार 973 तेन्दुपत्ता संग्रहण को 48.29 करोड़ रूपये बोनस वितरण, 11 हजार 183 मनरेगा के पंजीकृत मजदूरों को टिफिन वितरण प्रारम्भ किया गया। इस मौके पर श्रम विभाग द्वारा साइकिल, स्काई योजना अतर्गत मोबाईल का भी वितरण किया गया।

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने क्षेत्रवासियों की मांग पर भटटीगुडा में स्टाप डेम का निर्माण एवं सिंचाई के लिए केनाल निर्माण की मजूरी प्रदान की। ग्राम चेरपल्ली में सिंचाई तालाब निर्माण को मजूरी दी गई तथा नगर पंचायत भैरमगढ़ में सीसी रोड,़ नाली निर्माण व अन्य कार्य के लिए 50 लाख रूपये की तत्काल स्वीकृत प्रदान की है। उन्होने इस अवसर पर बीजापुर जिले के मददेड और भोपालपटनम पुलिस थाने को आईएसओं 9001 प्रमाणित थाना घोषित होने पर प्रशस्ति पत्र प्रदान किये। इस अवसर पर वन एवं विधी विधायी मंत्री श्री महेश गागड़ा एवं सांसद श्री दिनेश कश्यप ने भी सभा को सम्बोधित किया । इस मौके पर शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि, श्री जी वेकट, सुखमति भोगाम, भाग्यवती पुजारी, सुखलाल पुजारी संजय लुक्क्ड, नकुल सिंह ठाकुर, शिव मुदलियार, आयुक्त बस्तर संभाग श्री धनजय देवांगन, डी जी पी श्री आर.एन. उपाध्यय, कलेक्टर श्री के.डी. कुंजाम, पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग, सीईओ जिला पंचायत डी राहुल वेंकट सहित अधिकारी-कर्मचारीगण, मीडिया प्रतिनिधी व ग्रामीणजन उपस्थ्ति थे।

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email