बीजापुर

नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं : डॉ. रमन सिंह

नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं : डॉ. रमन सिंह

बीजापुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बीजापुर जिले के तहसील मुख्यालय भोपालपट्टनम में विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं। नक्सलियों ने जिन स्कूलों को ध्वस्त किया सरकार ने उन्हें फिर से बनाकर और पोटा केबिन के माध्यम से बच्चों की शिक्षा की बेहतर व्यवस्था की। गांव-गांव को विकास से जोड़ने के लिए अंचल में सड़को का जाल बिछाया जा रहा है। गांवों का विद्युतीकरण किया जा रहा है, स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर की जा रही हैं। पहले बीजापुर के अस्पताल को देखकर रोना आता था।

आज बीजापुर में सर्वसुविधायुक्त अस्पताल बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दे रहा है। बीजापुर जिले के विकास को देखकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी बीजापुर के जांगला के दौरे पर आए थे। उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना में अगले छः माह में हर घर में बिजली के कनेक्शन दे दिए जाएंगें। भोपालपट्टनम के कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप और वन मंत्री श्री महेश गागड़ा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।  

    मुख्यमंत्री ने भोपालपट्टनम में लगभग 312 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से लगभग 104 करोड़ रूपए की लागत के कार्यो का लोकार्पण और लगभग 208 करोड़ रूपए की लागत के कार्यो का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंचल में लगभग 132 करोड़ रूपए की लागत से पुल-पुलियों का निर्माण किया जा रहा है। बीजापुर से भोपालपट्टनम तक बारहमासी सड़क बन गई है। भोपालपट्टनम के पास बन रहे अंतर्राज्यीय पुलों का निर्माण पूर्ण होने पर भोपालपट्टनम व्यापार और व्यवसाय के एक बड़े केन्द्र के रूप में उभरेगा। इससे क्षेत्र की अर्थ व्यवस्था में काफी परिवर्तन आएगा। उल्लेखनीय है कि भोपालपट्टनम के पास तिमेड़ में महाराष्ट्र की सीमा पर इन्द्रावती नदी पर 220 करोड़ रूपए की लागत से अंतर्राज्यीय पुल का निर्माण किया जा रहा है। इसी तरह भोपालपट्टनम-वारंगल-हैदराबाद मार्ग पर तीन पुलों का निर्माण 67 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है।

    मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 6336 किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के बोनस के रूप में लगभग 7 करोड़ 68 लाख रूपए की राशि का वितरण कम्प्यूटर पर क्लिक कर किसानो के खाते में किया। उन्होंने श्रम विभाग सहित विभिन्न विभागों  की कल्याणकारी योजनाओं में हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की योजना के तहत श्रमवीरों को 1000 साइकिलों का वितरण किया।

    उन्होंने आम सभा में बताया कि बीजापुर में 132 केवी  क्षमता का निर्माणाधीन विद्युत उपकेन्द्र जल्द पूरा होगा। इससे भोपालपट्टनम क्षेत्र के गांवों में बिजली के कम-वोल्टेज की समस्या का समाधान हो जाएगा। डॉ. सिंह ने कहा कि भारत नेट और बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत ग्रामीण अंचलों में इन्टरनेट और मोबाईल कनेक्टिविटी देने के लिए आप्टिकल केबल बिछाये जा रहे हैं। भोपालपट्टनम क्षेत्र में भी अगले दो माह में केबल बिछा दिए जाएंगे और लोगों को बेहतर मोबाईल कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने सूचना क्रांति योजना ’स्काई’ की जानकारी देते हुए कहा कि विकास यात्रा के दूसरे चरण में महाविद्यालय के विद्यार्थियों, महिलाओं, किसानों, श्रमवीरों और ग्रामीणों को 55 लाख स्मार्ट फोन निःशुल्क वितरित किए जाएंगें। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना और आयुष्मान भारत योजना की जानकारी ग्रामीणों को दी। 

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email