सूरजपुर

सूरजपुर के दो शिक्षक हुए नेशनल मदर्स ब्लेस अवार्ड से सम्मानित

सूरजपुर के दो शिक्षक हुए नेशनल मदर्स ब्लेस अवार्ड से सम्मानित

सूरजपुर : सूरजपुर शांति फाउंडेशन गोंडा,उत्तरप्रदेश (कार्य क्षेत्र सम्पूर्ण भारत) व स्वदेश सेवा संस्थान भारत के द्वारा हर वर्ष देश के सभी राज्यों के कलाकारों की प्रतिभा को आगे बढ़ाने प्रतियोगिता का आयोजन कर बेहतर मंच प्रदान किया जाता है, इस प्रतियोगिता में विभिन्न राज्यों के कलाकार जो साहित्य, कविता, चित्रकारी आदि में रुचि रखते हैं ऐसे व्यक्तियों को प्रोत्साहित करने शांति फाउंडेशन गोंडा के द्वारा प्रत्येक वर्ष नेशनल मदर्स डे के अवसर पर मदर्स ब्लेस सम्मान समारोह का आयोजन किया जाता रहा है, इस कार्यक्रम में भारत देश के सभी राज्यों के 350 श्रेष्ठतम कलाकारों,साहित्यकारों, कवियों ने ऑनलाइन प्रतियोगिता में शामिल होकर अपने अंदर की कलाओं को जूरी टीम के समक्ष एवं व्हाट्सएप के माध्यम से रखा, सभी कलाकारों के द्वारा प्रस्तुत कलाओं का अवलोकन जूरी टीम के द्वारा किया गया,जिसके आधार पर 350 श्रेष्ठ कलाकारों को सम्मानित करने के लिए चयनित किया गया। इस वर्ष मदर्स डे का थीम था मेरी प्यारी माँ इसी पर सभी प्रतिभागियों ने अपने अपने विचारों को कविता, पोस्टर, लेख प्रस्तुत किये। एस0 बी0 सागर निदेशक स्वदेश संस्थान, पिंकी देवी अध्यक्ष शांति फाउंडेशन ने बताया कि समाज में छुपी हुई प्रतिभाओं को तराशना एवं सम्मान देना है। कार्यक्रम संयोजिका सुचिता साहू ने बताया कि कोरोना के कारण बेहतर प्रस्तुतिकरण कर उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाले सभी प्रतिभागियों को ऑनलाइन ई- सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।  कार्यक्रम प्रभारी सुनील कुमार आनंद ने बताया की माँ के कदमों तले जन्नत है, उसकी सेवा से बढक़र कोई सेवा नहीं है। इस संस्था के सचिव गया प्रसाद ने बताया कि सभी की कलाकृति व रचना बहुत मार्मिक व संदेश भरी रही। कोरोना काल के समय में भी कलाकार और रचनाकार अपनी कलम बंद नहीं रखता उनके विचार निकल ही आते है।

    इस ऑनलाइन प्रतियोगिता में सूरजपुर जिला के विकास खण्ड प्रेमनगर के व्याख्याता कृष्ण कुमार ध्रुव शा0 उ0 मा0 विद्यालय कोटेया एवं मनोज कुमार पाटनवार मा0 शाला कालीपुर ने मदर्स डे स्पेशल थीम मेरी प्यारी माँ पर लिखी गई रचना को प्रस्तुत किया। जिसको निर्णायक मंडलों की टीम ने चयन कर नेशनल मदर्स ब्लेस अवार्ड से सम्मानित किया।

         बता दें कि कृष्ण कुमार ध्रुव और मनोज पाटनवार दोनों शिक्षक शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर करने लगातार कार्य कर रहे हैं इनके द्वारा हर गतिविधि को बेहतर कर क्षेत्र में शैक्षिक वातावरण तैयार कर रहे हैं। जिसकी सराहना विकास खंड शिक्षा अधिकारी के साथ साथी शिक्षक भी कर रहे हैं। इनके इस नेशनल स्तरीय प्रतियोगिता में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त कर अवार्ड मिलने पर विकास खण्ड के शिक्षकों और शुभचिंतकों में खुशी है एवं ऐसे ही निरंतर आगे बढ़ने बधाई दे रहे हैं।

विकास खण्ड में नवाचारी गतिविधियों में बेहतर योगदान

इन शिक्षकोंन का शिक्षा के क्षेत्र में लगातार प्रयास जारी है, हमारे अवार्डी शिक्षकों के द्वारा शैक्षिक हर गतिविधियों में जुड़कर छात्रों तक बेहतर शिक्षा परोसने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। आज कोरोना समय में भी उनके द्वारा लगातार ऑनलाइन के साथ मोहल्ला क्लास संचालित किए, हमारे विकास खंड के लिए खुशी की बात है कि इस कोरोना काल में भी शांति फाउंडेशन गोंडा के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लेकर अवार्ड से सम्माननित हुए। आगे भी शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर कार्य की उम्मीद के साथ इनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूँ।
आलोक कुमार सिंह, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी,प्रेमनगर, सूरजपुर

अवार्डी कृष्ण कुमार ध्रुव ने कहा जीवन की सफलता में माँ का स्थान सर्वश्रेष्ट और उनके चरणों में स्वर्ग जैसे सुख की प्राप्ति होती है, हम शिक्षक है हमारे अंदर अपार क्षमताएं और ऊर्जा विद्यमान है बस हमें इसे समय रहते पहचानने की जरूरत है, हमें हर क्षेत्रों के गतिविधियों में शामिल होकर अपने अंदर समृद्धता बढ़ानी चाहिए,मेरी सदैव कोशिश रहती है कि मैं छात्रहित  और समाज को प्राथमिकता देते हुए सदैव सहयोग करूँ। शिक्षक पथप्रदर्शक होता है उनके बताए रास्ते पर चलने से हमेशा बाधारहित मंजिल की प्राप्ति होती है। मनोज पाटनवार ने कहा जीवन में माँ का अमूल्य योगदान रहता है, जिसको सामान्य शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। शिक्षक पेशे में रहने वाले हर व्यक्ति सामान्य नहीं होता उनके अंदर अद्भुत गुण विद्यमान रहता है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email