कोरबा

जिले की सिंचाई क्षमता में होगी 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी, 35 नई सिंचाई योजनाओं का काम प्रगतिरत

जिले की सिंचाई क्षमता में होगी 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी, 35 नई सिंचाई योजनाओं का काम प्रगतिरत
TNIS
 
योजनाओं के पूरा होने पर 24 प्रतिशत हो जायेगी सिंचाई क्षमता
 
कोरबा : जिले में सिंचाई क्षमता बढ़ाने के लिए विभिन्न लघु योजनाओं का विस्तार किया जा रहा है। जिले के दूरस्थ वन क्षेत्रों के गांवो तक सिंचाई सुविधाओं का विस्तार करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा बेहतर प्रयास किया जा रहा है। इसी चरण में जिले में 35 नवीन लघु सिंचाई योजनाओं का विकास किया जा रहा है। इन सिंचाई योजनाओं के पूरे हो जाने से जिले की सिंचाई क्षमता में 10 प्रतिशत की वृद्धि होगी। पहले से मौजूद एक वृहद सिंचाई योजना और नवीन योजनाओं सहित 107 लघु सिंचाई योजनाओं के विकसित होने से जिले की सिंचाई क्षमता निराबोया क्षेत्र के लगभग 24 प्रतिशत हो जाएगी। जल संसाधन संभाग कोरबा के अंतर्गत जलाशय, व्यपवर्तन एवं एनीकट निर्माण की कुल 23 योजनाएं निर्माणधीन है। इसी प्रकार नवीन मद में कुल 12 योजनाएं शामिल है जिसके निर्माण से जल भण्डारण क्षमता में वृद्धि होगी।
 
कार्य पालन अभियंता जल संसाधन संभाग कोरबा ने बताया कि 06 प्रमुख एवं बड़े सिंचाई कार्यों के विकास के लिए 20 करोड़ 27 लाख रूपए की राशि शासन द्वारा स्वीकृत की गई है। इन प्रमुख सिंचाई योजनाओं में विधानसभा क्षेत्र पाली-तानाखार के विकासखण्ड पोड़ी-उपरोड़ा में कछुआनाला एनीकट के लिए दो करोड़ 84 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हुई है। इसके निर्माण से विभिन्न गांवो के 96 हेक्टेयर भूमि में सिंचाई सुविधा प्राप्त होगी।
 
जिले में विकसित किये जा रहे सिंचाई योजनाओं के विस्तार में विकासखण्ड पोड़ी-उपरोड़ा में पुटुवा व्यपवर्तन योजना भी शामिल है। इसके लिए चार करोड़ 10 लाख रूपए की स्वीकृति प्राप्त है। इसके निर्माण से ग्राम पुटुवा एवं बनखेता के किसानों को कुल 152 हेक्टेयर भूमि में सिंचाई सुविधा प्राप्त होगी। विकासखण्ड कोरबा में परसाखोला व्यपवर्तन योजना के विकास के लिए दो करोड़ 99 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति मिली है। इसके निर्माण से ग्राम परसाखोला के किसानों को 100 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा प्राप्त होगी। विकासखण्ड करतला में घिनारा व्यपवर्तन योजना के लिए पांच करोड़ 34 लाख प्रशासकीय स्वीकृति मिली है। इसके निर्माण सेे ग्राम घिनारा एवं सेन्द्रीपाली के किसानों को कुल 200 हेक्टेयर भूमि में सिंचाई की सुविधा मिलेगी। जिले में सिंचाई सुविधाओं के विस्तार कार्य में विकासखण्ड पाली में डी.एम.एफ मद से हरदी एनीकट योजना भी शामिल है। इसके लिए दो करोड़ 94 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त हुई है। इस सिंचाई योजना के निर्माण से ग्राम हरदी एवं बम्हनीकोना के किसानों को कुल 80 हेक्टेयर भूमि में सिंचाई सुविधा का लाभ मिलेगा।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email