कोरबा

कोरबा के संक्रमित छात्र की सम्पर्क हिस्ट्री पता लगाने में प्रषासन ने झोंकी पूरी ताकत

कोरबा के संक्रमित छात्र की सम्पर्क हिस्ट्री पता लगाने में प्रषासन ने झोंकी पूरी ताकत
कलेक्टर ने सम्भाली कमान, पुलिस अधीक्षक ने कानून व्यवस्था का लिया जिम्मा TNIS
कोरबा 31 मार्च 2020/लंदन रिटर्न कोरोना वायरस संक्रमित छात्र ने किन-किन लोगों से सम्पर्क किया या वह किन-किन लोगों के सम्पर्क में आया है। इसकी पूरी जानकारी जुटाने में प्रषासन ने अपनी ताकत झोंक दी है। कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल ने स्वयं इसकी कमान सम्भाल ली है। आज छात्र के निवास स्थान वाले पूरे इलाके रामसागर पारा को पूर्णतः लाॅकडाउन कर दिया गया है। पूरे इलाके को सेनेटाईज करने में नगर निगम के लगभग पाॅंच दस्तों ने सुबह से लेकर दोपहर तक गली-कूॅंचों के साथ-साथ लोगांे के घरों में भी दवाओं का छिड़काव किया है। इसके साथ ही कलेक्टर ने संक्रमित छात्र के सम्पर्क में आने वाले लोगों की ट्रेकिंग के लिये छह अधिकारियों की टीम गठित की है। जो पूरे दिन लोगों से सम्पर्क कर छात्र की काॅन्टेक्ट हिस्ट्री की जानकारी लेते रहे। छात्र से सीधे सम्पर्क में आने वाले ड्राइवरों और उनके परिवारों सहित घर पर काम करने वाले गार्ड को भी क्वारेंटाईन सेंटर में रख दिया गया है और इन लोगों के सम्पर्क में आने वालों की जानकारी भी इकट्ठी की जा रही है। 
पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीणा ने मौजूदा परिस्थितियों में शहर की कानून व्यवस्था की पूरी जिम्मेदारी सम्भाल ली है। 18 मार्च को लंदन से आये इस छात्र की कोरोना पाॅजीटिव रिपोर्ट मिलते ही तत्काल कार्यवाही करते हुए रामसागर पारा स्थित घर की ओर जाने वाली सभी सड़कों को सील कर दिया गया है। सभी सड़कों पर बेरिकेटिंग लगाकर आमजनों को उन सड़कों से आवागमन की मनाही की जा रही है। सभी प्रवेष सड़कों पर पुलिस के जवानों का कड़ा पहरा लगा दिया गया है।
कलेक्टर बोलीं- घबरायें नहीं शहरवासी, नियंत्रण के लिए प्रषासन की सभी तैयारियां पूरी कलेक्टर श्रीमती किरण कौषल ने वर्तमान परिस्थितियों में जिला वासियों से संयम बरतने और अपने घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। श्रीमती कौषल ने कहा है कि लोग घबरायें नहीं, जिला प्रषासन कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए पूरी तरह तैयार है। अस्पतालों से लेकर सार्वजनिक स्थलों तक ईलाज,सेनेटाईजेषन आदि के लिए सभी व्यवस्थाएं पहले से ही पूरी कर ली गई है। कलेक्टर ने लोगों से लॅाक डाउन का पूरी तरह पालन करने की अपील की है।
प्रषासन सजग, संक्रमण का फैलाव रोकने सभी जरूरी उपाय हुये शुरू:- कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद रामसागर पारा की तीन किलोमीटर परिधि का क्षेत्र अतिसंवेदनषील जोन घोषित कर दिया गया है। कोरोना नियंत्रण के लिए निर्धारित प्रोटोकाल और दिषा निर्देषों के अनुसार इस क्षेत्र के लगभग दो सौ से ढाई सौ घरों में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंचना शुरू हो गई है। क्षेत्र के इन सभी घरों में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए दस डाक्टरों के पर्यवेक्षण में चालीस दल काम पर लगाये गये हैं। दलों द्वारा घरों में जा-जा कर पारिवारिक सदस्यों की जानकारी और उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार, श्वास लेने में तकलीफ जैसी परेषानियों के बारे में पूछा जा रहा है। जिन परिवारों के सदस्यों को इस तरह की तकलीफें होंगी उन्हें तत्काल ईलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा जायेगा। घर-घर सर्वे के लिए मितानीन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कर्मियों के दल बनाये गये हैं। पूरे शहर में कोरोना वायरस से सुरक्षा और बचाव के संबंध में जरूरी जानकारी आमजनों को मुनादी कराकर उपलब्ध करायी जा रही है। संक्रमित क्षेत्र में लाॅकडाउन की स्थिति में आवष्यक खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति के लिये भी जिला प्रषासन द्वारा पूरी व्यवस्था कर ली गई है। लोगों को अपने घरों में ही रहने की हिदायत दी जा रही है। नगर निगम द्वारा इन क्षेत्रों में अनाज, फल, सब्जी, दूध आदि की आपूर्ति बनाये रखने के लिये घर पहुॅच सेवा शुरू कर दी गई है।
 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email