बालोद

जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर बदल गई बालोद क्षेत्र की तस्वीर

जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर बदल गई बालोद क्षेत्र की तस्वीर

बालोद : प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के अपने तूफानी दौरा कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह नवगठित बालोद जिले के ग्राम डौंडी, कुसुमकसा, चिखलकसा, दल्लीराजहरा और गुजरा की स्वागत सभाओं में जनता से मिलते हुए विकास रथ में कल शाम जिला मुख्यालय बालोद पहुंचे। वहां आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा-जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर बालोद क्षेत्र की तस्वीर बदल गई है। प्रशासनिक सुविधाएं जनता के नजदीक पहुंची हैं। 

    डॉ. सिंह ने आमसभा में बालोद जिले के विभिन्न क्षेत्रों के लिए लगभग 158 करोड़ रूपए के 144 निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उनके हाथों बालोद-धमतरी सड़क का भी लोकार्पण हुआ। इसके निर्माण में करीब 65 करोड़ रूपए की लागत आई है। उन्होंने आमसभा में ग्राम सुन्दरा-देवीनवागांव के बीच तांदूला नदी पर दस करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने इसके अलावा बालोद की आमसभा में 38 हजार 804 परिवारों को आबादी पट्टे, चार हजार गरीब परिवारों की महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन और श्रम विभाग की योजनाओं के तहत चार हजार से ज्यादा श्रमिकों को साईकिल, सिलाई मशीन आदि का वितरण किया।

डॉ. सिंह ने आज ही दल्लीराजहरा में आयोजित विकास यात्रा की स्वागत सभा में वहां 100 बिस्तर अस्पताल निर्माण के लिए जल्द भूमिपूजन किए जाने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि लौह अयस्क की नगरी दल्लीराजहरा में आईआईटी रूड़की द्वारा सर्वेक्षण किया जा चुका है, जिसकी रिपोर्ट के सत्यापन के बाद दल्लीराजहरा में भी आबादी पट्टों का वितरण किया जाएगा।
    उन्होंने कहा-इस इलाके में गन्ने की खेती को देखते हुए राज्य सरकार ने किसानों की सहकारी समिति बनाकर शक्कर कारखाने की स्थापना की है। जिले में सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं सहित विभिन्न प्रकार की अधोसंरचनाओं का तेजी से विकास हो रहा है। डॉ. सिंह ने कहा-निकट भविष्य में इस नये जिले की तरक्की चौगुनी रफ्तार से होगी।

आमसभाओं और स्वागत सभाओं में उमड़ता जनसैलाब यह बता रहा है कि छत्तीसगढ़ की लगभग 15 साल की विकास यात्रा आम जनता की विश्वास की यात्रा है। यह यात्रा मेरे लिए तीर्थ यात्रा के समान है इस यात्रा में जनता का भरपूर आशीर्वाद और समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि विकास यात्रा में 30 हजार करोड के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन हो रहा है। किसानों को 17 सौ करोड़ रूपए का धान का बोनस का वितरण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बालोद में आयोजित आमसभा में 158.29 करोड़ रूपए लागत के 144 विभिन्न निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इनमें 116.24 करोड़ रूपए लागत से पूर्ण हो चुके 101 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 42.05 करोड़ रूपए लागत से 43 नए स्वीकृत  निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में विभिन्न योजनाओं में लगभग 78 हजार 111 हितग्राहियों को लाभान्वित किया। इनमें 38 हजार 804 परिवारों को आबादी पट्टा, चार हजार एक सौ महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, 55 किसानों को सौर सुजला पंप, 664 किसानों को मिनीकीट, 59 तेन्दूपत्ता फड़मुंशियों को सायकल और 4,413 श्रमिको को सायकल, औजार ई-रिक्शा आदि का शामिल हैं। 

      मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया उनमें मुख्य रूप से 65 करोड़ रूपए लागत से निर्मि बालोद से धमतरी सड़क, 10 करोड़ 92 लाख रूपए लागत के संुदरा-देवीनवागॉव तांदुला नदी पर उच्च स्तरीय पुल, 10 करोड़ 55 लाख रूपए लागत के तांदुला टैंक से पैरी डिस्ट्रिब्यूटरी में रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य, 08 करोड़ 15 लाख रूपए लागत के गुरूर से नारागॉव सड़क नवीनीकरण कार्य और 04 करोड़ 14 लाख रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज भवन शामिल है।       

            मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जिन कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें मुख्य रूप से 09 करोड़ 11 लाख रूपए लागत से बालोद में बनने वाला शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज भवन, 03 करोड़ 87 लाख रूपए लागत से बेलोदा-गोटुलमुडा मुख्य मार्ग अरजगुण्डा मार्ग में पुल निर्माण, 02 करोड़ 80 लाख रूपए लागत से झलमला से भेंडिया नवागॉव मार्ग पर पुल, 02 करोड़ 69 लाख रूपए लागत से परसोदा से सांेहतरा मार्ग पुल और 02 करोड़ 14 लाख रूपए लागत से मेन रोड से खर्रा मार्ग पर बनने वाला पुल शामिल है। 

     डॉ. सिंह ने प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और केन्द्र की लोकहितैषी योजनाओं पर भी प्रकाश डाला।  आमसभा में कृषि और जल संसाधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेन्डी,  छत्तीसगढ़ औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री राम प्रताप सिंह, राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख और विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email