राजधानी

स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति बढ़ा विश्वास. शासकीय अस्पतालों में भी मिल रही सिजेरियन प्रसव की सुविधा

स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति बढ़ा विश्वास. शासकीय अस्पतालों में भी मिल रही सिजेरियन प्रसव की सुविधा

हासिम खान 

तिल्दा/रायपुर : स्वास्थ्य सेवा में निरंतर उपलब्धि हासिल करते हुए प्रदेश में विकासखंड स्तर तक संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिये सामान्य प्रसव के साथ ही शासकीय अस्पतालों में सिजेरियन प्रसव की सुविधा भी नियमित रूप से उपलब्ध करायी जा रही है।

इस वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में 90 सिजेरियन प्रसव (31 दिसंबर 2021 तक ) कराये गए हैं , जो बीते वर्ष की तुलना में दोगुना के करीब है ।
विकासखंड कार्यक्रम प्रबंधक तिल्दा सुश्री ममता सुनानी का कहना है, “कोविड-19 संक्रमण काल में भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित रूप से प्रसव के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है । ``ऐसे समय में अगर आपके घर में गर्भवती महिला है तो घबराने या परेशान हों की आवश्यकता नहीं हैं। स्वास्थ्य कर्मी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करके गर्भवती महिलाओं के सामान्य और सी-सेक्शन प्रसव करवाए जा रहे है। होने वाले बच्चे को भी कोविड संक्रमण से बचाया जा रहा है । इतना ही नहीं यदि गर्भवती महिला कोविड पॉजिटिव हैं या रह चुकी तो भी कोविड को लेकर कतई न घबराएं। कोविड जैसी संक्रामक बीमारी से बचने के लिए बस जागरूक, सचेत और सतर्क रहने की जरूरत है। हमेशा अपने चिकित्सक के संपर्क में रहें और उनके द्वारा दिए परामर्श का पालन करें।‘’

संस्थागत प्रसव को लेकर मितानीन कर रहीं हैं प्रोत्साहित
स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को निर्देश है कि संस्थागत प्रसव कराने के लिये जच्चा को प्रोत्साहित करें। कोविड पॉजिटिव महिलाओं को प्रसव के लिए कोविड अस्पताल ले जाने के लिए राज्य शासन द्वारा निशुल्क व्यवस्था है। मितानिन और एएनएम इस कार्य में उनकी मदद करती हैं। कोविड पॉजिटिव गर्भवती के प्रसव के लिए जिला अस्पताल रायपुर में विशेष सुविधा उपलब्ध है।
विकासखंड में संस्थागत प्रसव का आंकड़ा इस प्रकार से है:  वर्ष 2020-21 2,430 सामान्य प्रसव हुए वही वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही (31 दिसंबर 2021) तक 1,864 सामान्य प्रसव कराए गए हैं वहीँ अगर सिजेरियन प्रसव  की बात की जाए तो 2020-21 में 54 सिजेरियन प्रसव हुए थे जबकि इस वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही (31 दिसंबर 2021 तक ) 90 सिजेरियन प्रसव  कराये गए हैं , जो बीते वर्ष की तुलना में दुगने के करीब है। साथ ही लोगों का विश्वास शासकीय स्वास्थ्य सेवा केंद्र में दी जा रहीं सेवाओं के प्रति बढ़ा है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email