रोजगार

HCL में नौकरी पाने का बेहतरीन मौका!

HCL में नौकरी पाने का बेहतरीन मौका!

एजेंसी 

नई दिल्ली : भास्कर डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, एचसीएल के चीफ ह्यूमन रिसोर्सेज ऑफिसर (सीएचआरओ) वीवी अप्पाराव का कहना है कि मांग बढ़ने और कई डील के पाइपलाइन में होने के कारण यह भर्ती की जा रही है।

अप्पाराव का कहना है कि अभी हम इस हायरिंग में आने वाली लागत आंक रहे हैं। इसके लिए हम एक समीक्षा प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। आने वाले चार हफ्तों में इस पर अंतिम फैसला हो सकता है।

उन्होंने कहा कि अगले साल के लिए होने वाली यह भर्ती इस साल से कम नहीं होगी। हम अगले साल के लिए 10 से 12 हजार लोगों की भर्ती करेंगे।

उन्होंने कहा कि चालू वर्ष में कंपनी अब तक 3 हजार फ्रेशर्स को ज्वाइन करा चुकी है। अन्य 9 हजार फ्रेशर अगली दो तिमाही में जॉइन कर लेंगे।

एचसीएल की तर्ज पर टेक्नोलॉजी कंपनी टीसीएस और इंफोसिस भी वित्त वर्ष 2021 में संयुक्त रूप से 56,500 फ्रेशर्स की हायरिंग करेंगी।

इसमें टीसीएस 40 हजार फ्रेशर्स की हायरिंग करेगी तो इंफोसिस 16500 फ्रेशर्स की हायरिंग करेगी। हालांकि, कई आईटी कंपनियों ने कोरोनावायरस के कारण पैदा हुई अनिश्चितता के चलते चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में हायरिंग रोक दी थी।

इस कारण पहली तिमाही में आईटी कंपनियों में 9 हजार हायरिंग की कमी दर्ज की गई।

कई डील के पाइपलाइन में होने के कारण चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में आईटी कंपनियों का कारोबार प्री-कोविड स्तर पर पहुंच गया है। दूसरी तिमाही में टीसीएस ने 8.6 बिलियन डॉलर की डील साइन की है। वहीं इंफोसिस ने 3.15 बिलियन डॉलर की डील साइन की हैं।

इसी तरह से एचसीएल ने सितंबर में समाप्त हुई तिमाही में एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा डील की है। अप्पाराव का कहना है कि कंपनी आने वाली तिमाही में ज्यादा से ज्यादा प्रोजेक्ट लेने पर फोकस कर रही है।

न्यू एज टेक्नोलॉजी और जेनेरिक स्किल्स की जरूरत को देखते हुए टेक्नोलॉजी कंपनियां लेटरल हायरिंग की भी योजना बना रही हैं। इसके तहत ऐसे लोगों की हायरिंग की जाएगी, जिनको कोडिंग और टेस्टिंग जैसी सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की बेसिक जानकारी होगी।

हालांकि, एचसीएल टेक ने लेटरल हायरिंग की संख्या के बारे में जानकारी नहीं दी है। एचसीएल का कहना है कि यह संख्या पाइपलाइन प्रोजेक्ट के कंफर्म होने पर निर्भर करेगी।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email