विश्व

NASA ने बनाया दुनिया का पहला इलेक्ट्रिक एयरप्लेन, जाने क्या है खूबियां

NASA ने बनाया दुनिया का पहला इलेक्ट्रिक एयरप्लेन, जाने क्या है खूबियां

एजेंसी 

अमेरिका : अमेरिकन स्पेस एजेंसी NASA ने विज्ञान और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक और आयाम स्थापित कर दिया है। स्पेस रिसर्च एजेंसी ने दुनिया का पहला इलेक्ट्रिक एयरोप्लेन डिजाइन किया है जो कि पूरी तरह से इलेक्ट्रिक पावर से चलती है। रिसर्च एजेंसी ने इस इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट का नाम X-57 “Maxwell” रखा है। इसके सिम्युलेटर मॉडल को केलिफोर्निया डिजर्ट के एयरोनॉटिक लैब में शोकेस किया गया है। इस इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट को इटैलिटन ट्विन इंजन प्रोपेलर प्लेन Tecnam P2006T की तर्ज पर विकसित किया गया है। आपको बता दें कि रिसर्च एजेंसी 2015 से इस इलेक्ट्रिक प्लेन पर काम कर रही थी। इस इलेक्ट्रिक प्लेन को एडवर्ड एयरफोर्स बेस पर टेस्टिंग उड़ान के लिए उतारा जाएगा।

इस एयरप्लेन की खास बात ये है कि इसमें दो 14-इलेक्ट्रिक मोटर का इस्तेमाल किया गया है जो इसे प्रोपेल करने में मदद करता है। इसमें भी पावरफुल लिथियम बैटरी का इस्तेमाल किया गया है। NASA जल्द ही इसे पब्लिक प्रिव्यू के लिए पेश कर सकती है। इस एयरक्राफ्ट के सिम्युलेटर को हाल ही में इंजीनियर्स और पायलट के लिए शोकेस किया गया है, ताकि वे फाइनल वर्जन के उड़ान से पहले उसके बारे में जान सके।

Maxwell अमेरिकन रिसर्च एजेंसी की साइंस और टेक्नोलॉजी के लिए एक गौरवान्वित करने वाली उपलब्धि साबित हो सकती है। इसके लिए नेशनल एयरनॉटिक्स और स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने कई सालों की कड़ी मेहनत से डिजाइन किया है। आपको बता दें कि अमेरिकन रिसर्च एजेंसी इस इलेक्ट्रिक प्लेन के डेवलपमेंट के लिए पिछले दो दशक से काम कर ही है।

कई प्राइवेट इलवेक्ट्रिक प्लेन निर्माता कंपनियों ने पिछले कुछ सालों में कई इलेक्ट्रिक होवर क्राफ्ट डिजाइन किए हैं। NASA के X-57 वेंचर का उदेश्य टेक्नोलॉजी के स्टैंडर्ड को इस तरह से डेवलप करना है, ताकि इसे कमर्शियल मैन्युफैक्चर्रस के लिए तैयार किया जा सके। साथ ही साथ स्पेस एजेंसी इस इलेक्ट्रिक एयरप्लेन को सरकार की तरफ से सर्टिफाइड भी कराने वाली है। इस एयरप्लेन की पहली टेस्ट उड़ान 2020 में की जा सकती है। 

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email