विश्व

पाक: मुश्किल में इमरान 'आजादी मार्च' पर सेना ने भी छोड़ा साथ

पाक: मुश्किल में इमरान 'आजादी मार्च' पर सेना ने भी छोड़ा साथ

एजेंसी 

पाकिस्तान : पाकिस्तान में इमरान खान सरकार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इमरान के खिलाफ देश में चल रहे आजादी मार्च को लेकर पाक सेना का बड़ा बयान सामने आया है। पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने दावा किया है कि   सेना का देश की किसी भी राजनीतिक मामले में कोई दखल नहीं और न ही इससे कोई लेना-देना है । यह बात जनरल आसिफ गफूर ने पाक न्यूज चैनल के साथ एक इंटरव्यू में कही। उनका ये इशारा जमात उलेमा ए इस्लाम फजी (JUIF) नेता मौलाना फजलु रहमान द्वारा इमरान खान के इस्तीफे को लेकर जारी आंदोलन की तरफ था।

उनसे जब यह पूछा गया कि क्या सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा इमरान के खिलाफ चल रहे आजादी मार्च का मामला सुलझाने में मध्यस्ता करेंगे तो उन्होंने कहा कि सेना का मौजूदा राजनीतुि से कुछ लेना-देना नहीं । उन्होंने दावा किया कि सेना राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों में व्यस्त है और देश की सुरक्षा के लिए हर कदम उठाएगी। जब उनसे ये पूछा कि क्या सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा इमरान सरकार के खिलाफ जारी धरने को समाप्त करवाने की कोशिश करेंगे तो गफूर ने कहा धरना एक राजनीतिक गतिविधि है और इसमें सेना कोई दखल नहीं देगी।

चुनाव में दखलंदाजी के आरोपो का जबाव देते हुए उन्होंने कहा कि सेना की देश की चुनाव प्रक्रिया में कोई भूमिका नहीं और न ही ऐसा कोई इरादा है। बता दें कि पाक सेना ने शनिवार को चेतावनी दी थी कि देश में किसी को भी अस्थिरता या अराजकता फैलाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। बता दें कि पाकिस्तान में पिछले 6 दिनों से इमरान खान के इस्तीफे की मांग को लेकर  आजादी मार्च जारी है ।

इमरान को सरकार बनाए अभी बस एक साल से अधिक का समय हुआ है और  फजलुर रहमान उर्फ ​​मौलाना व विपक्ष द्वारा उनके खिलाफ ये आजादी मार्च निकाला जा रहा है। इमरान खान सरकार के खिलाफ हो रहा ये आजादी मार्च देश का सबसे बड़ा सरकार विरोधी प्रदर्शन है। आजादी मार्च ने 2014 में नवाज शरीफ के नेतृत्व वाली तत्कालीन पाकिस्तान सरकार में धरना देने वालों की संख्या को पार कर दिया है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email