विशेष रिपोर्ट

न्यायपूर्ण व्यवस्था चाहते हैं तो तत्काल ही लोगों को आरएसएस, भाजपा और कांग्रेस से त्याग कराएं...

न्यायपूर्ण व्यवस्था चाहते हैं तो तत्काल ही लोगों को आरएसएस, भाजपा और कांग्रेस से त्याग कराएं...

इसमे बुरा या दुख मानने वाली बात नही हैं, सच्चाई को स्वीकार कर, यदि न्यायपूर्ण व्यवस्था चाहते हैं तो तत्काल ही लोगों को आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस से त्याग कराएं...

आप आरएसएस व भाजपा वाले जैसे देश बनाने की बात कर रहे हैं, उस पर कायम है, चाहे उसका जो राष्ट्र कहें, जो भी नाम दें, चाहे हिंदू राष्ट्र कहे, ब्राह्मण राष्ट्र कहे, वैदिक राष्ट्र कहे, सनातन राष्ट्र कहे, रामराज्य कहे, या किसी अन्य नाम दें, आज भारत आर एस एस के षड्यंत्र के तहत चल रहा है, जैसे निजीकरण करना, EVM से चुनाव करना, लेटरल एंट्री करना जिसमे ST, SC, OBC व्यक्तियों को आवेदन करने से भी वर्जित रखना, आरक्षण को खत्म करना, कोलेजीयम से लगातार अपने कुछ ही परिवर के लोगों को जज बनते, बनाते रहना, OBC वर्ग को गिनना ही नहीं, न्यायालय से न्याय नहीं करना, संविधान को पालन नही करना, ये सब कथित हिंदू राष्ट्र के लक्षण हैं। 

इसके अलावा मार्ग पर से टोल टैक्स देना, पानी को खरीद के पीना, स्थायी जगहों जैसे अस्पताल, कलेक्टरेट, न्यायालय, रेलवे स्टेशन, शापिंग मालों में पार्किंग शुल्क देना, लेटरिंग- बाथरूम के लिए पैसा देना, सबको समान शिक्षा व चिकित्सा नही दिलाना ये सब आरएसएस, भाजपा के हिन्दू राष्ट्र को लागू करना है। 

भारत के उच्च व उच्चतम न्यायालय की भाषा को अंग्रेजी बनाये रखना व गरीबो के बच्चों को पहली क्लास से अंग्रेजी भाषा से दूर रखना ये सबसे बड़ा हिन्दू राष्ट्र हैं। 

अन्य हजारों लोगों के द्वारा व मेरे द्वारा ऐसे स्पष्ट रूप से लिखने व बोलने के बाद भी यदि आप आर एस एस, भाजपा, कांग्रेस को सपोर्ट कर रहे हैं तो आप सब हिंदू राष्ट्र को स्वेच्छया से पालन कर रहे हैं।

यदि आप आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस में जाकर विधायक, सांसद, मंत्री, राष्ट्रपति बनना चाहते हैं तो भी कुछ उखाड़ नही सकते हैं, आज़ादी के इन 75 सालो में तुम्हारे, हमारे जैसे हजारों व्यक्ति आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस में कार्य कर संविधान को पालन करना, लागू करना छोड़कर हिन्दू राष्ट्र बनाने का काम कर चुके हैं, अब भी कर रहे हैं। 

वर्तमान परिस्थिति इतनी विभत्स व घटिया बना दी गयी हैं कि तीसरी किसकी सरकार बने इस पर चिंता न करें, बल्कि आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस को वोट न दें और न किसी को देने दें, यही बुद्धिमानी का कार्य हैं। 

आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस को छोड़ दें. जय व्यक्ति, जय संविधान। कृपया इस लेख को आज ही 10 करोड़ लोगों तक पहुंचाने में मद्त कीजिए।।


               प्रभाकर ग्वाल 
       पूर्व सीबीआई मजिस्ट्रेट
  छत्तीसगढ़, +91 94792 70390

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email