विशेष रिपोर्ट

हर तरफ फैला झूठों का बाजार

हर तरफ फैला झूठों का बाजार

सीमा सरू दर्शीनी

सच्ची बात सुनना यहां पर,है  पसंद किसे ,
यहां हर तरफ फैला झूठों का बाजार हैं|

मेहनत करना  यहां पर,है पसंद किसे,
यहां तो, मुफ़्त की रोटी तोड़ने हजार हैं|

तुम्हारे हक की बात करनी,है पसंद किसे ,
यहां तुम्हारा हक़ छीनने ,लोग बैठे बेकरार हैं|

तुम आगे बढ़ो,यह बात है पसंद किसे,
यहां पर गड्ढा खोदने को, लोग तैयार हैं|

तुम ऊंचे सपने देखो ,यह बात है पसंद किसे ,
यहां तुम्हारे पंख कुतरने को, लोग हजार हैं|

 लड़ो हक़ की लड़ाई,यह बात है पसंद किसे ,
यहां लोग तुम्हारी आवाज़ दबाने को,तैयार हैं,

सच्ची बात सुनना यहां पर ,है पसंद किसे,
यहां हर तरफ फैला झूठों का  बाजार हैं|

सीमा सरू दर्शीनी
छत्तीसगढ़

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email