टॉप स्टोरी

टेरर फंडिंग मामले में PFI पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई... 100 से ज्यादा गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

टेरर फंडिंग मामले में PFI पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई... 100 से ज्यादा गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

एजेंसी 

टेरर फंडिंग मामला : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और ईडी की तरफ से देश के 10 से अधिक राज्यों में पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. NIA ने अब तक पीएफआई से जुड़े 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के अनुसार, एनआईए और ईडी ने बृहस्पतिवार सुबह आतंकवादियों का कथित तौर पर समर्थन करने वाले व्यक्तियों, पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) सहित अन्य समूहों के खिलाफ बड़े पैमाने पर देशव्यापी छापेमारी अभियान शुरू किया. एक अधिकारी ने बताया कि ‘अब तक की सबसे बड़ी जांच’ के तहत कथित तौर पर आतंकवदियों को धन मुहैया कराने, उनके लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करने और लोगों को प्रतिबंधित संगठनों से जुड़ने के लिए बरगलाने में शामिल व्यक्तियों के परिसरों पर छापे मारे जा रहे हैं. एनआईए की यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है.

अधिकारियों ने बताया कि सबसे अधिक गिरफ्तारियां केरल (22), महाराष्ट्र (20), कर्नाटक (20), आंध्र प्रदेश (5), असम (9), दिल्ली (3), मध्य प्रदेश (4), पुडुचेरी (3), तमिलनाडु (10), उत्तर प्रदेश (8) और राजस्थान (2) में की गईं. इसके अलावा पश्चिम बंगाल में भी एनआईए की छापेमारी हुई है. कई जगहों पर अभी भी छापेमारी चल रही है. 

PFI मुख्यालय सील
NIA ने हैदराबाद के चंद्रयानगुट्टा में PFI के मुख्यालय को सील कर दिया है, NIA, ED, पैरामिलिट्री ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर इस कार्यालय को सील है. NIA ने इस मामले में एक एफआईआर पहले ही दर्ज की थी. वहीं, बिहार के पूर्णिया में भी एनआईए ने पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी की है. 

छापेमारी के विरोध में प्रदर्शन
मिली जानकारी के अनुसार, तमिलनाडु के डिंडीगुल जिले में PFI के कार्यालय पर छापेमारी की जा रही है. इस दौरान PFI के 50 से ज्यादा सदस्यों ने NIA की छापेमारी के खिलाफ कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया. वहीं, मंगलुरु में NIA की छापेमारी के खिलाफ PFI और SDPI के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. NIA और ED ने केरल के मलप्पुरम जिले के मंजेरी में OMA सलाम, PFI अध्यक्ष के घर पर छापेमारी की है. इस दौरान PFI कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया.

पीएफआई के बड़े नेता गिरफ्तार
NIA ने तमिलनाडु के मदुरै शहर के विलापुरम, गोमथिपुरम, गोरीपालयम, कुलमंगलम इलाकों में 8 जगहों पर छापेमारी की है. वहीं, केरल में पीएफआई के चार नेताओं को हिरासत में लिया गया है. केरल में पीएफआई अध्यक्ष ओएमए सलाम, केरल राज्य प्रमुख सीपी मोहम्मद बशीर, राष्ट्रीय सचिव वीपी नजरुद्दीन और राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रो पी कोया को भी हिरासत में लिया गया है.

इन राज्यों में की जा रही छापेमारी
मिली जानकारी के अनुसार, ईडी और एनआईए ने संयुक्त रूप से तेलंगाना, केरल, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और कर्नाटक समेत कई राज्यों में पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. छापेमारी के खिलाफ कई जगहों पर प्रदर्शन होने की भी सूचना है.

पीएफआई ने जारी किया बयान
पीएफआई ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘पीएफआई के राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय और स्थानीय नेताओं के ठिकानों पर छापे मारे जा रहे हैं. राज्य समिति के कार्यालय की भी तलाशी ली जा रही है. हम फासीवादी शासन द्वारा असंतोष की आवाज को दबाने के लिए एजेंसियों का दुरुपयोग किए जाने का कड़ा विरोध करते हैं.’’ ईडी देश में नागरिकता (संशोधन) अधिनियम विरोधी प्रदर्शनों, फरवरी 2020 में हुए दिल्ली दंगों को भड़काने, उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में एक दलित महिला से कथित सामूहिक दुष्कर्म और उसकी मौत के मामले में साजिश रचने और कुछ अन्य आरोपों को लेकर पीएफआई के कथित ‘वित्तीय संबंधों’ की तफ्तीश कर रही है. पीएफआई की स्थापना 2006 में केरल में की गई थी और इसका मुख्यालय दिल्ली में है.

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email