टॉप स्टोरी

पुदुच्चेरी में कांग्रेस की अग्निपरीक्षा...

पुदुच्चेरी में कांग्रेस की अग्निपरीक्षा...

एजेंसी 

पुदुच्चेरी : पुदुच्चेरी में पिछले कई दिनों से गतिरोध बना हुआ है और कांग्रेस-डीएमके गठबंधन की वी नारायणसामी सरकार पर संकट बना हुआ है. सोमवार को विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव पेश किया गया. इस पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने सदन में बहुमत का दावा किया है. बता दें, नई उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन ने आज (22 फरवरी) शाम 5 बजे तक विधान सभा में बहुमत परीक्षण के निर्देश दिए थे. इससे पहले मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी को एक और बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के विधायक के. लक्ष्मीनारायणन और द्रमुक के विधायक वेंकटेशन ने इस्तीफा दे दिया है.

पुदुच्चेरी विधानसभा में बहुमत परीक्षण से पहले रविवार की शाम को मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी के आवास पर पार्टी और सहयोगी दलों के नेताओं की एक अहम बैठक हुई. इसके बाद सीएम विधानसभा पहुंचे और कांग्रेस विधायकों के साथ सरकार बचाने की रणनीति पर चर्चा की. सरकार कैसे बचाएंगे? पूछने पर सीएम ने कहा कि वो अपनी रणनीति का खुलासा सदन में ही करेंगे.

इधर,  22 फरवरी को बहुमत परीक्षण से ऐन पहले कांग्रेस के एक और विधायक के. लक्ष्मीनारायणन और द्रमुक के विधायक वेंकटेशन के इस्तीफा देने के बाद 33 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के विधायकों की संख्या घटकर 11 हो गई है, जबकि विपक्षी दलों के 14 विधायक हैं.


लक्ष्मीनारायणन और वेंकटेशन ने विधानसभा अध्यक्ष वी. पी. शिवकोलुंधु को उनके आवास पर रविवार को जाकर अपना इस्तीफा सौंपा. इसके बाद लक्ष्मीनारायणन ने पत्रकारों से कहा, ‘‘नारायणसामी नीत सरकार ने बहुमत खो दिया है.'' लक्ष्मीनारायणन ने कहा कि उन्होंने पार्टी की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है.


वेंकटेशन ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने केवल विधायक पद से इस्तीफा दिया है और वह द्रमुक का हिस्सा बने रहेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘...मैं अपने निर्वाचन क्षेत्र में अपने लोगों की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा था, क्योंकि विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास निधि के तहत धन का आवंटन नहीं किया गया है.''


पूर्व मंत्री ए नमसिवायम (अब भाजपा में) और मल्लाडी कृष्ण राव समेत कांग्रेस के चार विधायकों ने इससे पहले इस्तीफा दिया था, जबकि पार्टी के एक अन्य विधायक को अयोग्य ठहराया गया था.नारायसामी के करीबी ए. जॉन कुमार ने भी इस सप्ताह इस्तीफा दे दिया था. अब तक कांग्रेस के पांच और डीएमके के एक कुल छह विधायकों ने इस्तीफा दिया है.


पुदुच्चेरी की नवनियुक्त उप राज्यपाल तमिलिसाई सौंदर्यराजन ने 22 फरवरी को विधानसभा का सत्र बुलाया है, जिस दौरान विश्वास मत के जरिए नारायणसामी सरकार का भविष्य निर्धारित होगा. विपक्ष ने आरोप लगाया था कि नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई है.

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email