टॉप स्टोरी

यूपी: योगी सरकार ने पेश किया 5 लाख 12 हजार 860 करोड़ का बजट

यूपी: योगी सरकार ने पेश किया 5 लाख 12 हजार 860 करोड़ का बजट

एजेंसी 

लखनऊ: यूपी विधानसभा में मंगलवार को यूपी सरकार ने 5 लाख 12 हजार 860 करोड़ 72 लाख रुपये (5,12, 860. 72 करोड़ रुपये) का बजट पेश किया। जो अबतक का सबसे बड़ा बजट है। बजट में 10 हजार 967 करोड़ 87 लाख रुपये(10,967,87 करोड़ रुपये) की नई योजनाएं सम्मलित की गई हैं। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हुए बजट पेश किया। उन्होंने कहा कि ये यूपी सरकार का चौथा बजट है। यूपी में जब हमारी सरकार बनी थी तो काफी चुनौतियां थीं जिसे एक एक करके ठीक किया जा रहा है। कानून व्यवस्था पर हमारी सरकार ने जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई है। इस दौरान वित्त मंत्री ने एक कविता पढ़ी जिसपर सदन में खूब तालियां बजीं।

बजट की बड़ी बातें-

कन्या सुमंगल योजना के लिए 1200 करोड़।
एक ट्रिलियन का लक्ष्य रखा।
साइबर क्राइम के लिए 3 करोड़।
पुलिस फॉरेंसिक के लिए 20 करोड़।
पूर्वाचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास हुआ।
पुलिस कमिश्ररी सिस्टम लागू किया गया।
डिफेंस एक्सपों में 23 एमओयू साइन हुए।
दुष्कर्म की घटनाओं में 35 प्रतिशत की कमी आई।
महिला सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए गए।
बुंदेलखंड के विकास के लिए एक्सप्रेस वे।
हर जिले में युवा हब के लिए 50 करोड़।
पुलिस विभाग के लिए 600 करोड़।
युवाओं को 2500 रुपये हर महीना
युवाओं को रोजगार के लिए 1200 करोड़।
पुलिस को आधुनिक बनाने के लिए 122 करोड़।
अयोध्या एअरपोर्ट के लिए 500 करोड़।
गोरखपुर समेत कई शहरों में आएगी मेट्रो।
पीजीआई के लिए 820 करोड़।
जेवर एअरपोर्ट के लिए 2000 करोड़।
गन्ना का 325 रुपये क्विंटल समर्थन मूल्य।
मेडिकल कॉलेज लखनऊ को 919 करोड़।
कैंसर संस्थान के लिए 187 करोड़।
20 नवीन कृषि विज्ञान संस्थान केंद्र खोले जा रहे।
राष्ट्रीय पोषण अभियान के लिए 4000 करोड़।
कानपुर मेट्रो के लिए 358 करोड़ रुपये।
निराश्रति महिलाओं के लिए 500 करोड़ रुपये।
इस साल 60 लाख टन से ज्यादा चीनी का उत्पादन।
चीनी मिलों की क्षमता बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा।
86700 करोड़ रुपये किसानों को भुगतान।
लखनऊ, आगरा में भी इलेक्ट्रिक बस।
बुंदेलखंड, विंध्य क्षेत्र के लिए विशेष बजट दिया जाएगा।
प्रदेश में 2 लाख करोड़ का निवेश आया।
माध्यमिक टीचर की नियुक्ति यूपीपीएससी से।
ग्रामीण पाइप योजना के लिए 3300 करोड़ रुपये।
बमरौली प्रयागराज के लिए 4 लेन सड़क का निर्माण।
फूड प्रोसेसिंग को बढ़ावा देंगे।
वाराणसी प्रयागराज में इलेक्ट्रिक बस चलेंगी।
रिटायर शिक्षकों की तैनाती होगी।
तुलसी भवन स्मारक के लिए 10 करोड़।
शिक्षा के लिए 18363 करोड़ रुपये की व्यवस्था।
यूपी में हवाई कनेक्टीविटी बढ़ेगी।
महिलाओं के लिए डॉयल 112 की सुविधा।
अटल आवासीय विद्यालय के लिए 270 करोड़ रुपये।
किसान पेंशन के लिए... करोड़ रुपये।
स्वच्छ भारत मिशन के लिए 5791 करोड़ रुपये।
अयोध्या में पर्यटक की सुविधाओं के लिए 85 करोड़।
काशी विश्वनाथ कॉरीडोर के लिए 200 करोड़।
गांवों में जल जीवन मिशन के लिए 3000 करोड़।
ग्रामीण सड़क के लिए 2305 करोड़।
यूपी में नीति आयोग का होगा गठन।
मदरसों के लिए 479 करोड़।
वाराणसी में संस्कृति केंद्र के लिए 180 करोड़।

कितना था याेगी सरकार का तीसरा बजट ?
गौरतलब है कि पिछले वर्ष यानी हाल ही में बीते 2019 में योगी सरकार ने 4 लाख 79 हजार 701 करोड़ 10 लाख रुपए का अपना तीसरा बजट पेश किया था। यूपी सरकार का वह बजट उसके पिछले बजट के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक था। पिछले वर्ष के बजट में योगी सरकार ने 21 हजार 212 करोड़ 95 लाख रुपये की नई योजनाओं को शामिल किया था।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email