राष्ट्रीय

सैकड़ों बीमारियों की जड़ वायु प्रदूषण डॉ. एम पी सिंह

सैकड़ों बीमारियों की जड़ वायु प्रदूषण डॉ. एम पी सिंह

पुलिस उपायुक्त कुशपाल के दिशा निर्देशन पर वायु प्रदूषण और कैंसर व अस्थमा रोग के लिए लोगों को किया प्रेरित किया

वायु प्रदूषण के चलते खतरनाक स्तर तक बढ़ रहे हैं रोग कैंसर व अस्थमा डॉ ह्रदयेश कुमार

भारत में 23 प्रतिशत से भी ज्यादा मौतों का कारण अब वायु प्रदूषण आखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के राष्टीय सचिव चौधरी पदम सिंह के प्रतापगढ़ कार्यालय 

फ़रीदाबाद : फ़रीदाबाद हरियाणा पर पुलिस उपायुक्त कुशपाल के दिशा निर्देशन पर वायु प्रदूषण और कैंसर व अस्थमा रोग के लिए लोगों को किया प्रेरित जागरूक करने के लिऐ  आम जन को जागरूक किया  वायु प्रदूषण की गंभीर होती समस्या का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि देश में हर दसवां व्यक्ति अस्थमा का शिकार है और कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं उपरोक्त बात आखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के राष्टीय अध्यक्ष  डॉ एम पी सिंह के तत्वाधान में नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत आयोजित वेबीनार शीर्षक बड़ी से बड़ी बीमारियों का कारण बनता पोलूशन पर अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख व नशा मुक्त समाज आंदोलन के आखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के संस्थापक डॉ ह्रदयेश कुमार ने कही, और  कहा कि नेशनल हेल्थ प्रोफाइल 2018 की रिपोर्ट के अनुसार देश में होने वाली संक्रामक बीमारियों में सांस संबंधी बीमारियों का प्रतिशत करीब 69 फीसदी है और देश भर में 23 फ़ीसदी से भी ज्यादा मौतें अब वायु प्रदूषण के कारण ही होती हैं चौधरी पदम सिंह ने कहा कि देश में बढ़ रहे हैं सीओपीडी के केसेस में स्मोकिंग और हुक्काबार अहम कारण बन चुका है एक रिपोर्ट के अनुसार 9.58 लाख भारतीयों की सीओपीडी के कारण 2017 में मौतें हुई थी यानी हिरोशिमा के एटम बम से मारे गए लोगों की तुलना में यह 9 गुना ज्यादा हुआ इसीलिए दुनिया में वायु प्रदूषण इंसानी मौतों का पांचवा सबसे बड़ा कारण बन चुका है सुनिता राजपुर ने कहा कि सीओपीडी से बचने के लिए स्मोकिंग करना छोड़ना होगा और अपने को योग ध्यान फिजिकली एक्टिव मॉडरेट वाकिंग इत्यादि दिनचर्या का अनिवार्य हिस्सा बनाना ही होगा बबीता नायर ने कहा कि वायु प्रदूषण के कारण बच्चे जन्म से ही कुपोषित हो रहे हैं जिसके चलते नाना बीमारियों के साथ नाटापन बढ़ रहा है इसीलिए गांव समाज की खाली भूमि पर सब मिलकर वृक्षारोपण करें 

शिव शंकर राय ने कहा कि युवाओं को वायु प्रदूषण के खतरों से बचाने के लिए उनके बीच anti-smoking धूम्रपान विरोधी कैंपेन अनिवार्य रूप से चलाना है राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आचार्य
 ने कहा कि वायु प्रदूषण का प्रभाव मानव शरीर पर लगातार घातक होता जा रहा है और यही स्थिति रही तो स्वस्थ इंसान भी फेफड़ों और रक्त कैंसर जैसी बीमारियों के शिकार हो सकते हैं महेश शर्मा
 ने कहा कि पराली जलाना भी वायु प्रदूषण का एक बड़ा कारण सामने आ रहा है इसीलिए सरकार पराली को अन्य उपयोग में लेकर वायु प्रदूषण से बचाने के साथ किसानों को फायदा भी पहुंचाया जा सकता है अंत में वायु प्रदूषण मुक्ति के लिए भारत के बचपन को नशा प्रदूषण कुपोषण प्लास्टिक और हिंसा से बचाने के लिए वायु प्रदूषण मुक्त का संकल्प 
डॉ ह्रदयेश कुमार ने कराया l

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email