राष्ट्रीय

मर्डर केस: पहलवान सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी

मर्डर केस: पहलवान सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी

एजेंसी 

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में झगड़े के बाद एक पहलवान की मौत के बाद फरार चल रहे ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि रविवार देर शाम नोटिस जारी किया गया है। पुलिस झगड़े के पीड़ितों का बयान पहले ही दर्ज कर चुकी है। उन्होंने कहा कि झगड़ा मॉडल टाउन इलाके में एक फ्लैट को खाली कराने को लेकर हुआ था।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने पहले बताया था कि इस मामले में सुशील कुमार का नाम एफआईआर में है और वह फरार हैं। फिलहाल उनका पता लगाने की कोशिशें की जा रही हैं। उन्होंने बताया था कि उन्हें पकड़ने के लिए दिल्ली-एनसीआर और आसपास के इलाकों में छापेमारी की जा रही है। अधिकारी ने बताया कि पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि जब झगड़ा हुआ तब मौके पर सुशील कुमार मौजूद थे।

पिछले मंगलवार की रात को छत्रसाल स्टेडियम में झगड़े में 23 वर्षीय पहलवान की मौत हो गई थी। स्टेडियम में उन्हें और उनके दो दोस्तों पर अन्य पहलवानों ने कथित रूप से बर्बर हमला किया था। पुलिस के मुताबिक, झगड़े में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस दलाल, सोनू, सागर, अमित और अन्य शामिल हैं। मॉडल टाउन थाने में आईपीसी की धाराओं और सशस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। हरियाणा के झज्जर निवासी दलाल (24) को पकड़ लिया गया है।

क्या होता है लुकआउट नोटिस?
जब किसी व्यक्ति को अपराध के सन्दर्भ पूछताछ के लिए जांच एजेंसी के द्वारा बुलाया जाता है, यदि वह व्यक्ति उस जांच एजेंसी की जांच में सहयोग नहीं करता है और वह किसी गुप्त स्थान पर छिपने का प्रयास करता है, तब उसके विरुद्ध लुकआउट नोटिस जारी किया जाता है। लुकआउट नोटिस का तात्पर्य उस व्यक्ति को देश के बाहर जाने से रोकना होता है। इस नोटिस के आधार पर उस व्यक्ति को जलमार्ग और वायुमार्ग से यात्रा करने के लिए प्रतिबंधित किया जाता है। जांच एजेंसी इस नोटिस के आधार पर और भी सघन और सक्रियता से जांच का कार्य संपन्न करती है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email