राष्ट्रीय

प. बंगाल: मदरसा टीचर ने किया दावा, जय श्रीराम नहीं कहने पर लोगों की पिटाई

प. बंगाल: मदरसा टीचर ने किया दावा, जय श्रीराम नहीं कहने पर लोगों की पिटाई

एजेंसी 

पश्चिम बंगाल : पश्चिम बंगाल में रहने वाले एक मदरसा टीचर ने सोमवार को दावा किया कि जय श्रीराम नहीं कहने पर उसके साथ मारपीट की गई और उसे चलती ट्रेन से धक्का दे दिया गया। पीड़ित के मुताबिक, यह घटना 20 जून की दोपहर उस वक्त हुई, जब वह साउथ 24 परगना जिले से हुगली जा रहा था। रेलवे पुलिस का दावा है कि आरोपियों की पहचान होने के बाद उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पीड़ित की पहचान हाफिज मोहम्मद शाहरुख हलदर के रूप में हुई है। पीड़ित ने बताया, ‘‘मैं ट्रेन से हुगली जा रहा था। उस दौरान कोच में मौजूद एक ग्रुप जय श्रीराम के नारे लगा रहा था। उन्होंने मुझसे भी नारे लगाने के लिए कहा। जब मैंने इनकार किया तो उन्होंने मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी। कोई भी मुझे बचाने के लिए नहीं आया। यह घटना उस वक्त हुई, जब ट्रेन धकुरिया और पार्क सर्कस स्टेशन के बीच थी। उन्होंने मुझे पार्क सर्कस स्टेशन पर ट्रेन से बाहर फेंक दिया। इसके बाद कुछ स्थानीय लोगों ने मेरी मदद की।’’

रेलवे पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, पीड़ित को कुछ चोटें लगी हैं। उसे चितरंजन हॉस्पिटल ले जाया गया और प्रॉपर इलाज कराया गया। अनुमान है कि यात्रा के दौरान ट्रेन में उतरने-चढ़ने को लेकर उसके साथ मारपीट हुई। इस दौरान 2-3 लोगों को मामूली चोट लगी हैं। मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

हलदर के मुताबिक, यह घटना ट्रेन नंबर 34531 में हुई, जो कैनिंग से स्यालदाह जाती है। हलदर साउथ 24 परगना जिले के बासंती का रहने वाला है। उसने बताया कि सबसे पहले वह शिकायत दर्ज कराने तोपसिया थाने गया था, जहां उसे बताया गया कि इस मामले की शिकायत जीआरपी थाने में दर्ज होगी।

रेलवे पुलिस के मुताबिक, इस मामले में बैलीगंगे रेलवे स्टेशन पर अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 341, 323 325, 506 और 34 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। इंडियन एक्सप्रेस ने इस मामले में कोलकाता के पुलिस अधिकारियों से संपर्क किया तो उन्होंने मामले की पुष्टि करने की बात कही।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email