राष्ट्रीय
कोलकाता में LIC बिल्डिंग में लगी आग, आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियाँ मौजूद

एजेंसी 

कोलकाता: मध्य कोलकाता के जवाहरलाल नेहरू सड़क पर स्थित एक व्यावसायिक इमारत की 16वीं मंजिल में आज सुबह करीब 10 बजकर 20 मिनट पर आग लग गई। इस मंजिल पर भारतीय स्टेट बैंक के ग्लोबल मार्केट कार्यालय का सर्वर रूम मौजूद था। एसबीआई के मुख्य महाप्रबंधक (कोलकाता मंडल), पीपी सेनगुप्ता ने कहा कि इमारत में किसी के भी फंसे होने की खबर नहीं है।

कोलकाता में lic बिल्डिंग में आग के लिए चित्र परिणाम

एक दमकल अधिकारी ने बताया कि जीवन सुधा इमारत की 17वीं मंजिल तक तेजी से बढ़ रही आग को फैलने से रोकने के लिए 10 दमकल वाहनों की सेवा ली गई है। प्रत्यक्षर्दिशयों ने बताया कि आग बहुत तेजी से इमारत की अन्य मंजिलों तक फैल रही है।  इस इमारत में एसबीआई, एलआईसी की शाखाएं और अन्य वित्तीय संस्थानों के कार्यालय स्थित हैं।

... और पढ़ें

अयोध्या में राम राज: शोभा यात्रा में पांच मुस्लिम भाई, लोगों ने पैर छुए, हुई फूलों की वर्षा

जनसत्ता की खबर 

अयोध्या में चल रहे दिवाली समारोह में तब का दृश्य बेहद भावनात्मक और रोमांचक कर देने वाला था जब राम की शोभा यात्रा की अगुवाई एक ही परिवार के 5 मुस्लिम भाई कर रहे थे। लोग इनके पांव छू रहे थे, इनके सामने हाथ जोड़ रहे थे और इन पर फूलों की वर्षा कर रहे थे। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पौराणिक कथाओं में भगवान राम के वनवास से लौटने की खुशी में मनाई गई दिवाली को अयोध्या में फिर से मना रही है। इस सिलसिले में बुधवार को अयोध्या के राम की पौड़ी में भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया गया था।

बुधवार को ही अयोध्या साकेत कॉलेज से राम कथा पार्क तक तीन किलोमीटर लंबी शोभा यात्रा निकाली गई। इस शोभा यात्रा में राजस्थान के दौसा जिले से आए बहुरुपिया समुदाय के पांच मुस्लिम भाई आकर्षण का केन्द्र थे। इस शोभा यात्रा की अगुवाई राम की वानर सेना कर रही थी। राम की वानर सेना में शामिल थे शमशाद, फरीद, सलीम, अकरम और फिरोज।

इस शोभा यात्रा में शमशाद वानर सेना के सदस्य बने थे। इसके लिए उन्हें दो घंटे तक मेकअप करनी पड़ी। शमशाद का भाई फरीद भगवान शिव के वेशभूषा में थे। जबकि सलीम ने हनुमान का रूप धरा था। सबसे छोटा भाई अकरम भगवान कृष्ण बने थे। सबसे बड़े भाई फिरोज राम के अयोध्या आगमन पर उनके स्वागत के लिए बनी समूह के सदस्थ थे। फरीद कहते हैं कि उनका परिवार सालों से रामलीला से जुड़ा हुआ है, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब उन्हें अयोध्या बुलाया गया। फरीद के मुताबिक अगर ये त्योहार ऐसे ही मनाते जाते रहें तो हम अपनी खोई संस्कृति को फिर से वापस पा सकते हैं।

बता दें अयोध्या में बुधवार को छोटी दिवाली जोर-शोर से मनाई गई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ, राज्यपाल राम नाईक, दोनों उप मुख्यमंत्रियों सहित तमाम मंत्रियों की मौजूदगी में सरयू तट 1.71 लाख दीपों की रोशनी से जगमगा उठा। इस दीपोत्सव से पहले योगी व राज्यपाल ने 133 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास कर अयोध्या को विकास का तोहफा दिया और विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र सौंपे। योगी ने श्रीराम कथा पार्क में श्रीराम का राज्याभिषेक किया। कार्यक्रम के दौरान हेलिकॉप्टर के माध्यम से भगवान श्रीराम पर पुष्प वर्षा की गई। वहां मौजूद सैकड़ों लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाए। इसके बाद राज्यपाल नाईक व योगी ने दीप प्रज्‍जवलित कर दीपावली के पर्व दीपोत्सव की शुरुआत की और अयोध्या 1.17 लाख दीपों से जगमगा उठी।

... और पढ़ें

जम्मू कश्मीर में लगा 4.7 तीव्रता का भूकंप का झटका

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में दीवाली की सुबह 6:40 भूकंप की खबर है. बताया जा रहा है कि रिक्टर पैमाने पर इस भूंकप की तीव्रता 4.7 मैग्नीट्यूड है. खबर लिखे जाने तक  किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है और न ही जान माल की हानि की सूचना है.

... और पढ़ें

20 अक्टूबर को केदारनाथ जाएंगे PM मोदी

एजेंसी 

नई दिल्ली : शिवभक्त कहे जाने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छह माह बाद एक बार फिर से बाबा केदार के कपाट बंद होने के अवसर पर दर्शन के लिए केदारनाथ पहुंच रहे हैं. पर इस बार पीएम मोदी बाबा केदारनाथ के दर्शन के अलावा केदारपुरी में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे, जिसकी तैयारियां जोरों पर हैं. इस जनसभा को सफल बनाने के लिए पूरा सरकारी अमला भी केदरनाथ में डेरा डाले हुए है.

मोदी के लिए चित्र परिणाम

पीएम मोदी 20 अक्टूबर को सुबह आठ बजे दिल्ली से देहरादून के जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचेंगे, जहां से वो MI-17 हेलिकॉप्टर से सीधे बाबा केदार के धाम जाएंगे. बाबा केदार के दर्शन करने के बाद वह नई केदारपुरी को नए अंदाज में विकसित करने को लेकर कई योजनाओं का अनावरण करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी 10:40 बजे पर केदारनाथ में ही एक जनसभा को संबोधित करेंगे और फिर 11:40 बजे जॉलीग्रांट से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे.

पीएम मोदी के दौरे को लेकर प्रशासन के अलावा बीजेपी भी तैयारी में जुटी हुई है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने खुद तैयारियों का जायजा लिया है. वहीं, उत्तराखंड सरकार में प्रोटोकॉल मंत्री होने के नाते धन सिंह रावत ने तैयारियों की कमान अपने हाथ में ले रखी है. अजय भट्ट की माने तो पीएम मोदी की इस जनसभा में करीब 5,000 आमजन और श्रद्धालु शामिल लेंगे, जिनके रहने और खाने की पूरी व्यवस्था केदारनाथ में की जा चुकी है.

 

... और पढ़ें

हिमाचल चुनाव के लिए कांग्रेस ने किया उम्मीदवारों का ऐलान, अरकी से लड़ेंगे वीरभद्र

नई दिल्ली : 

हिमाचल प्रदेश का चुनावी बिगुल बजने के साथ ही राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। बीजेपी द्वारा पार्टी उम्मीदवारों का ऐलान करने के बाद अब कांग्रेस ने भी अपने कैंडिटेड्स की घोषणा कर दी है।  हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए कांग्रेस ने 59 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह अरकी विधानसभा सीट से और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख सुखविंदर सिंह सुक्खू नादौन सीट से चुनाव लड़ेंगे।

वीरभद्र सिंह के लिए चित्र परिणाम

कांग्रेस की केन्द्रीय चुनाव समिति के अध्यक्ष आस्कर फर्नाडिज ने आज यह सूची जारी की। इसके तहत वीरभद्र सिंह को राज्य में सोलन जिले की अरकी सीट से टिकट दिया गया है। वर्तमान में वह शिमला ग्रामीण क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को नादौन से टिकट दिया गया है। प्रदेश की एक अन्य प्रमुख नेता आशा कुमारी को डलहौजी से उतारा गया है। पार्टी ने विप्लव ठाकुर को देहरा से टिकट दिया है।

बता दें कि निवर्तमान मुख्यमंत्री सिंह और पीसीसी प्रमुख सुक्खू के बीच काफी समय से मतभेद चल रहे थे। पार्टी सूत्रों के अनुसार चुनाव के लिए उम्मीदवारों की सूची तैयार करने में विलंब का एक कारण यह भी था। पहले सुक्खू को पार्टी की राज्य प्रचार समिति का प्रमुख बनाया गया था। लेकिन बाद में सिंह को यह जिम्मेदारी सौंपी गई।

बता दें कि राज्य विधानसभा की 68 सीटों के लिए नौ नवंबर को चुनाव होने हैं। चुनाव के लिए नामांकन भरने की तारीख 16 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक है और नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 26 अक्टूबर है। वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी। हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल सात जनवरी 2018 को समाप्त हो रहा है।

... और पढ़ें

शिवसेना का मोदी सरकार से सवाल, कहां है अच्छे दिन की दिवाली

एजेंसी 

मुंबई: शिवसेना ने आज केंद्र से सवाल किया कि अच्छे दिन की दिवाली कहां है। साथ ही पार्टी ने कहा कि यह पर्व तो शनिवार को संपन्न हो जाएगा लेकिन अर्थव्यवस्था को जो दिवाला निकला हुआ है, उसका क्या होगा। केंद्र की भाजपा नीत सरकार की नोटबंदी और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसी नीतियों की आलोचना करते हुए शिवसेना ने कहा कि सरकार ने लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया इसलिए अब लोगों को भी इसका जवाब देने के लिए तैयार रहना चाहिए।  

शिवसेना और मोदी के लिए चित्र परिणाम

अपने मुखपत्र ‘सामना’ में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने कहा है, ‘‘आज देश की स्थिति ऐसी है कि हर जगह झूठ फैलाया जा रहा है। अब लोगों को भी जवाब देने के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि सरकार ने उनकी भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है।’’  पार्टी ने कहा ‘‘दीपावली पर लक्ष्मी पूजा करते समय लोगों को प्रार्थना करनी चाहिए कि नोटबंदी का दैत्य फिर दहशत न फैलाए और लोगों की खून पसीने की कमाई उनसे न छीने।’’ 

शिवसेना ने कहा कि नोटबंदी तथा जीएसटी की वजह से अर्थव्यवस्था लडख़ड़ा गई और निर्माण क्षेत्र तथा व्यापारी पिछले 11 माह से उपभोक्ता का इंतजार कर रहे हैं।  पार्टी ने सवाल किया, ‘‘यह पर्व तो शनिवार को संपन्न हो जाएगा लेकिन अर्थव्यवस्था का जो ‘‘दिवाला’’ निकला है उसका क्या होगा ? अच्छे दिन की दिवाली कहां है ? किसानों की आत्महत्या क्यों नहीं रुक रही है ? पिछली सरकार के समय पूरी तरह खत्म हो चुकी बिजली कटौती फिर से शुरू क्यों हो गई ? ’’  

... और पढ़ें