विशेष रिपोर्ट

AISHE की रिपोर्ट, आधार से खुलासा- शिक्षण संस्थानों में 80 हजार शिक्षक एक से ज्यादा संस्थानों से ले रहे हैं तनख्वाह

नई दिल्ली: आधार कार्ड से बड़ा खुलासा हुआ है. ABP न्यूज में प्रकाशित समाचार के अनुसार एक रिपोर्ट में सामने आया है कि देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में 80 हजार से ज्यादा ऐसे शिक्षक हैं जो एक से ज्यादा संस्थानों से तनख्वाह ले रहे हैं. ये खुलासा केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रकाश जावडेकर की तरफ से उच्च शिक्षा के हालात पर किए गए एक अखिल भारतीय सर्वे रिपोर्ट को जारी करने के बाद हुआ है.

आल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजुकेशन 2016-17 (AISHE) की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में हज़ार उच्च शिक्षा से जुड़े अध्यापक ऐसे हैं, जो एक से अधिक संस्थानों से तनख्वाह ले रहे हैं. ये बात तब सामने आई जब इन अध्यापकों से उनका आधार नम्बर मांगा गया था. AISHE केन्द्र सरकार का एक ऐसा सालाना सर्वे है, जिसमें अलग अलग पैमानों पर देश में उच्च शिक्षा के हालात के ताजा आंकड़े पेश किए जाते हैं. इसी सिलसिले में जब देश के अध्यापकों से उनका आधार नम्बर मांगा गया तो पता चला कि 80 हजार अध्यापक ऐसे थे जिनके आधार नम्बर एक से अधिक संस्थानों ने अपने स्टाफ के तौर पे भेजे थे यानी ये अध्यापक एक से अधिक उच्च शिक्षा संस्थानों से तनख्वाह ले रहे थे.

इस सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक, असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोशिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर को मिलाकर उच्च शिक्षा में कुल 15 लाख अध्यापक हैं. इनमें से 12.5 लाख का आधार वैरीफाइ हो गया है. इससे पता चला कि कुछ प्राध्यापक दो या अधिक कॉलेज में दिखाए गए थे. केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा, "कुछ अध्यापक तो इतने एक्टिव थे कि तीन तीन, चार-चार संस्था में काम कर रहे थे. इसकी जांच होगी और उनके खिलाफ कार्रवाई पर विचार किया जा रहा है. हम ऐसे 80 हजार नाम काटेंगे जिससे तनख्वाह भी बचेगी."

 

 

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.