बेमेतरा

स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का लोगों ने किया भव्य स्वागत

स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का लोगों ने किया भव्य स्वागत

'द न्यूज़ इंडिया समाचार सेवा' से साभार 

जिले वासियों ने किया स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का स्वागत

No description available.

बेमेतरा : वर्ष 1971 के भारत पाकिस्तान युद्ध मे भारतीय सेना के वीर एवं जाबाज योद्धाओं जिन्होने युद्ध मे अपने प्राण न्यौछावर किये एवं जो इस युद्ध के साक्षी रहे हैं को समर्पित करते हुए स्वर्णिम विजय वर्ष मनाया जाने का निर्णय शासन द्वारा लिया गया है। स्वर्णिम विजय वर्ष के मशाल यात्रा कबीरधाम जिले से होकर आज मंगलवार 12 अक्टूबर को बेमेतरा में इस विजय मशाल रैली का आगमन हुआ। यह कार्यक्रम बेमेतरा के टाउन हॉल मे आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि विधायक बेमेतरा श्री आशीष छाबड़ा ने कहा कि युद्ध के 50 साल पूरे होने पर स्वर्णिम मशाल यात्रा निकाली गई है। मां भद्रकाली की पावनधरा बेमेतरा मे मैं स्वागत करता हूं। भारत देश के वीर योद्धा को मैं अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होने अपने प्राणों की आहुति दी। इस युद्ध मे भारतीय सेना ने पाकिस्तान सैनिकों को धूल चटाई। विधायक ने 1971 के युद्ध के साक्षी रहे कैप्टन दल्लू प्रसाद अवस्थी एवं कैप्टन मदन मोहन बाजपेयी का शाल श्रीफल भेंट कर एवं 5 हजार रुपये की नगद राशि से सम्मानित किया। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती शकुंतला साहू ने कबीरधाम जिले के भूतपूर्व सैनिक स्व. जीवन लाल सोनी की धर्मपत्नि श्रीमती बबीता सोनी को शाल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

No description available.


           कलेक्टर श्री विलास भोसकर संदीपान ने कहा कि भारत पाक युद्ध के 50 वर्ष पूरे होने पर स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का आज बेमेतरा जिले मे आगमन हुआ है, जिले मे हम इसका स्वागत करते हैं। भारतीय सेना की शोहरत पूरे विश्व मे फैली, यह हम सबके लिए गर्व का विषय है। वर्ष 1971 मे बंगलादेश का निर्माण हुआ। जिलाधीश ने कहा कि युद्ध के साक्षी रहे हमारे बेमेतरा जिले के दो भूतपूर्व सैनिकों का हम सम्मान करते हैं। मातृभूमि की रक्षा के लिए हम सदैव तत्पर रहें। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती शकुंतला साहू ने कहा कि स्वर्णिम विजय मशाल रैली का बेमेतरा मे नगर वासियों की ओर से हार्दिक अभिनंदन करती हूं। आज के कार्यक्रम मे जिले के दो भूतपूर्व सैनिक का भी सम्मान किया गया जो हम सब के लिए गर्व का विषय है। लेप्टिनेंट कर्नल (छ.ग.-ओड़िसा जोन) रमेश कुमार झा ने कहा कि यह विजय मशाल रैली का बेमेतरा जिले मे आगमन हुआ है। मैं इसका हार्दिक स्वागत अभिनंदन करता हूं। 03 दिसम्बर से 16 दिसम्बर 1971 को भारत पाकिस्तान का युद्ध हुआ था। 

No description available.

भारतीय सेना के वीर एवं जाबाज योद्धा जिन्होने अपने प्राण न्यौछावर किए एवं इस युद्ध के साक्षी रहे है को समर्पित यह मशाल यात्रा निकाली गई है। हम इस युद्ध मे शहीद हुए वीर सैनिकों की शहादत को नमन करते हैं। टाउन हॉल मे कस्तूरबा गांधी अवासीय बालिका विद्यालय, एवं ज्ञानोदय पब्लिक स्कूल की छात्राओं ने देशभक्ति पूर्ण कार्यक्रम की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार कुजूर, एएसपी पंकज पटेल, अनुविभागीय अधिकारी बेमेतरा दुर्गेश कुमार वर्मा, नवागढ़ श्री विश्वास राव मस्के, नगर पालिका उपाध्यक्ष बेमेतरा श्री पंचू साहू, पार्षद श्रीमती रानी सेन, पार्षद मनोज शर्मा, एल्डरमेन श्रीमती जनता साहू के अलावा मंगत साहू, सुमन साहू, मुख्य नगर पालिका अधिकारी होरी सिंह ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर प्रवीण तिवारी, खाद्य अधिकारी राजेश कुमार जायसवाल, भूतपूर्व सैनिक सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

No description available.

      मशाल यात्रा का बेमेतरा मे जगह जगह स्वागत-जैसे ही स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का कवर्धा जिले से बेमेतरा शहर मे आगमन हुआ, शहर के युवाओं आम नागरिकों, स्कूली बच्चों ने भारत माता की जयकारा लगाया और राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराकर आत्मीय स्वागत किया। एनसीसी एवं स्काउट गाईड के बच्चों ने भी पूरे उत्साह और उमंग से मशाल यात्रा का गर्मजोशी से स्वागत अभिनंदन किया। नवागढ़ चौक, पिकरी, बस स्टैंड, पुराना बस स्टैंड, गश्ति चौक, सिंघौरी होकर टाउन हॉल पहूंचते तक आम नागरिक कतार बद्ध होकर मशाल जूलूस का तहेदिल से स्वागत किया।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email