बेमेतरा

आम जनता को मिले सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ- मंत्री श्रीमती भेड़िया

आम जनता को मिले सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ- मंत्री श्रीमती भेड़िया
TNIS
 प्रभारी मंत्री ने बैठक लेकर शासकीय काम-काज की समीक्षा की
बेमेतरा : महिला एवं बाल विकास, समाज कल्याण मंत्री एवं बेमेतरा जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेड़िया ने कल कलेक्टोरेट सभा कक्ष में समीक्षा बैठक लेकर विभागवार शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की समीक्षा की। लगभग 3 घंटे तक चली समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को शासकीय कामकाज को बेहतर बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शासन के मंशा के अनुरूप विकास कार्याे को समय सीमा में पूरा कराए ताकि शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का समुचित लाभ जनता को मिल सके। अधिकारीगण नियमित रूप से फील्ड का दौरा करें इससे व्यवस्था में सुधार आएगा।
 
उन्होंने जिले में सड़को के निर्माण एवं रख-रखाव, स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर बनाने के साथ ही शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ जन सामान्य को मुहैया कराने के उद्देश्य से जगह-जगह शिविर लगाने एवं इसका व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिये। बैठक में विधायक बेमेतरा श्री आशीष कुमार छाबड़ा, नवागढ- गुरूदयाल सिंह बंजारे, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता साहू, कृषि मंत्री के प्रतिनिधि संतोष वर्मा साजा, कलेक्टर महादेव कावरे, पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओे प्रकाश कुमार सर्वे सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
 
प्रभारी मंत्री श्रीमती भेड़िया ने विभागवार काम-काज की समीक्षा के दौरान स्पष्ट रूप से कहा कि पूरक पोषण आहार, रेडी टू ईट की गुणवत्ता एवं वितरण में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने गड़बड़ी करने वाले समूहों को तत्काल बर्खाश्त करने के निर्देश दिये। श्रीमती भेड़िया ने स्कूल ए वं आंगनबाड़ी में कार्यरत सभी स्वसहायता समूहों को बदलने के निर्देश दिये। केबिनेट मंत्री ने शासकीय काम-काज में पादर्शिता बरतने तथा शासकीय आयोजनों में स्थानीय जनप्रतिधिनियों को अनिवार्य रूप से आंमत्रित करने की भी हिदायत दी। किशोरी बालिका योजना, महिला कोष ऋण योजना, सुकन्या समृद्वि योजना, नोनी सुरक्षा योजना, के अलावा समाज कल्याण विभाग के अंतर्गत पेंशन योजनाओं के वितरण की जानकारी ली। मंत्री ने  जिले में कुपोषण के दर में कमी लाने के निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री ने डीएमएफ फण्ड से जिला चिकित्सालय में 50 हजार रूपए प्रति माह मानदेय पर डाक्टर नियुक्त करने एवं निश्चित मानदेय पर एएनएम रखने के लिए सहमति प्रदान की। उन्होंने जिले में निर्मित एवं निर्माणाधीन एवं सड़को के रखरखाव एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने तथा ठेकेदारों पर नियंत्रण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने साफ चेतावनी देते हुए कहा कि जो अधिकारी ठेकेदारों को बचाने की कोशिश करेगा उनके खिलाफ भी कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर श्री कावरे ने जानकारी देते हुए  कहा कि जिले में 66 गौठान का निर्माण कराया जा रहा है इसमें प्रत्येक ब्लाक में एक-एक माॅडल गौठान भी शामिल है। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 में कुल 11052 आवास का लक्ष्य है। इसमें 8048 आवास पूर्ण कर लिए गए है।
 
 विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान मंत्री ने कहा कि बारिश के दिनों में जहां-जहां विद्युत पोल गिरने की शिकायत प्राप्त हुई है उसे तत्काल दुरूस्त कर लेवें। उन्होंने साजा तहसील के ग्राम भुसण्डी में विद्युत पोल गिरने की शिकायत की थी। बैठक के दौरान नवागढ़ क्षेत्र के विधायक श्री बंजारे द्वारा मारो आस-पास के विभिन्न गांव में पेयजल समस्या दूर करने शिवनाथ नदी अमलडीहा-सेमरिया एनीकट से समूह नलजल योजना प्रारंभ करने की बात रखी। इस संबंध में पीएचई प्रोजेक्ट ने बताया कि जलसंसाधन विभाग यदि पर्याप्त पानी मुहैया कराने के लिए सहमति देता हैै तो इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। विधायक ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर बसे होने के कारण नांदघाट में एमबीबीएस डाक्टर पदस्थ करने की मांग रखी। विधायक बेमेतरा श्री छाबड़ा ने कहा कि जो सरपंच एवं सचिव शासकीय राशि आहरित करने के बाद भी निर्माण कार्य नहीं करा रहे है उनके खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही। उन्होंने ग्राम सुरहोली (ब्लाक बेरला) के पोल्ट्री फार्म को अन्यत्र स्थानांतरित करने का भी सुझाव दिया। ग्रामीणों ने शिकायत की है कि इसके कारण गाव में दुर्गंध आ रही है। विधायक ने जिले के 10 छात्रावासों ओपन जीम निर्माण कराया जाना है इसका टेण्डर निरस्त किये जाने की मांग की। प्रभारी मंत्री ने टेण्डर निरस्त करने के निर्देश दिये। 
 
बैठक में छत्तीसगढ़ शासन की नरवा,गरूवा, घुरूवा अउ बाड़ी योजना की समीक्षा करते हुए प्रभारी मंत्री श्रीमती भेड़िया ने कहा कि पशुधन के संरक्षण एवं संवर्धन, वर्षा जल के संचयन तथा जैविक खेती को बढ़ावा देने के साथ ही यह योजना ग्रामीणों के स्वावलंबन एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत बनाएगी। उन्होंने इस योजना को जिले में प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री ने कहा कि राजस्व कार्यालयों में लंबित नामंातरण, बंटवारा, सीमंाकन तथा बंदोबस्त त्रुटि सुधार के प्रकरणों का समय पर निराकरण सुनिश्चित हो। पटवारी अपने निर्धारित मुख्यालय में निवास करना सुनिश्चित करें। श्रीमती भेड़िया ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों को नियमित विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था के निर्देश भी दिये।  बैठक में जिले में खाद-बीज एवं भण्डार उठाव की स्थिति की भी समीक्षा की गई। प्रभारी मंत्री ने कृषि एवं सहकारिता विभाग के अधिकारियों को किसी भी स्थिति में खाद-बीज का किल्लत न होने देने की हिदायत दी। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email