रायगढ़

कहीं रायगढ के बडे उद्योगों के कारण न फैल जाये कोरोना …

कहीं  रायगढ  के  बडे  उद्योगों  के  कारण  न फैल  जाये कोरोना …

क्यों  नही  है  उद्योग  पतियों मे मानवता का भाव ....

           कोरोना  के कारण जब पूरे देश मे लाक डाउन की स्थिति हो, खुद देश का प्रधानमंत्री हाथ जोडकर पूरे देश की जनता से सहयोग की अपील करे तथा घर मे ही रहने की सलाह दे, मीडिया मे दिन से रात तक एक ही मुद्दा हो कोरोना तथा दिन रात घर में रहने की अपील की जाये, केन्द्र सरकार, राज्य सरकार जिला प्रशासन सभी हर संभव प्रयास करें धारा 144 लागु हो , हर कोई इस गंभीरता को समझ रहा हो लेकिन इसके बावजूद उद्योगों का संचालन निर्बाध रूप से जारी होना समझ से परे हैं। क्या इन कर्मचारियों की जान की कोई परवाह नही क्या  इन उद्योगों मे कार्यरत कर्मचारियों मे कोरोना का संक्रमण नही फैल सकता ऐसी तरह तरह की बातें सामने आतीहै लेकिन इसके बाद भी उद्योगों का संचालन जारी हो तथा यहाँ कार्यरत कर्मचारियों की डयूटी जाना मजबूरी।

           आखिरकार उद्योगपतियों को ऐसी छूट देने का क्या औचित्य | राज्य सरकार व जिला प्रशासन इस हेतु कोई कदम क्यों नही उठा रहा । न मीडिया इस विषय में कुछ लिख रहे न स्थानीय नेताओं व जनप्रतिनिधियों कोई इस दिशा में प्रयास कर रहा। वास्तविकता यह है इन बड़े उद्योगों मे कार्यरत कर्मचारियों की मजबूरी है ड्यूटी जाना अगर उन्होंने इसका विरोध किया तो नौकरी से हाथ धो बैठेंगे लेकिन क्या यहां कार्यरत कर्मचारी व उनके परिवार के लोग यह नही चाहते कि वो भी अपने परिवार के साथ घर में बैठेंऔर देश हित व कोरोना के संक्रमण के रोकथाम मेअपनी भूमिका निभाये। 

            आवश्यकता है त्वरित इस विषय को गंभीरता से लेने हुये स्थिति सामान्य न होनेतक इन उद्योगों को बन्द करने हेतु निर्देश दिये जाये वहीं इन उद्योगपतियों को भी केवल स्वार्थपूति की भावना न रखते हुये तथा  मानवता  का भाव रखते हुये अपने उद्योग बन्द करने चाहिये तथा इन अवकाश के दिनों का वेतन अपने कर्मचारियों कोदेकर अपना कर्तव्य निभाना चाहिये।

              लक्ष्मी कान्त दुबे की कलम से....

 

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email