कांकेर

अटल विकास यात्रा में दे रहा हूॅ 15 वर्षों का हिसाब: डॉ. रमन सिंह

अटल विकास यात्रा में दे रहा हूॅ 15 वर्षों का हिसाब: डॉ. रमन सिंह

कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि मैं अटल विकास यात्रा में आम जनता को पिछले 15 वर्षो में हुए विकास कार्यो की जानकारी देने निकला हूॅ। मॉ दन्तेश्वरी और मॉ बम्लेश्वरी के आशीर्वाद के साथ यह यात्रा प्रारंभ हुई। लगभग छह हजार किलोमीटर की यात्रा कर मैं गांव-गांव, शहर-शहर जा रहा हूॅ, जहां जनता पूरे उत्साह के साथ विकास यात्रा का स्वागत कर रही है। पिछले 15 वर्षो में सड़क, बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य सहित समाज के सभी वर्गो के लिए अनेक योजनाएं राज्य सरकार द्वारा संचालित की गई हैं, जिससे आम लोगों के जीवन में खुशहाली आयी है। डॉ. सिंह 29 सितम्बर को कांकेर जिले के विकासखंड मुख्यालय पखांजूर में आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। 

    मुख्यमंत्री ने जनता के आग्रह पर पखांजूर में कृषि महाविद्यालय और विद्युत वितरण कम्पनी का संभागीय कार्यालय प्रारंभ करने की घोषणा की। उन्होंने पखंाजूर के डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में मरम्मत और द्वार निर्माण के लिए 25 लाख रूपए और निखिल बंग समाज के सामाजिक भवन निर्माण के लिए 20 लाख रूपए की स्वीकृति की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में आबादी पट्टे के वितरण की समस्या का भी जल्द समाधान हो जाएगा। इस संबंध में कलेक्टर को परीक्षण कर कार्रवाई के निर्देश दे दिए गए हैं। लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी और विधायक श्री भोजराज नाग सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में इस अवसर पर उपस्थित थे। 

    डॉ. सिंह ने इस अवसर पर क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 109 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न निर्माण कार्यो का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें लगभग 90 करोड़ 43 लाख रूपए की लागत से भानुप्रतापुर-पखंाजूर तक 62.30 किलोमीटर सड़क निर्माण कार्य, पखांजूर में 132/33 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र सहित 4 करोड़ 82 लाख रूपए की लागत से आमाबेड़ा और दमकसा गांव में निर्मित 33/11 के.व्ही.क्षमता के विद्युत उपकेेन्द्र शामिल हैं। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि वितरित की।     डॉ. सिंह ने कहा कि इस वर्ष किसानों का धान समर्थन मूल्य पर 2050 रूपए से 2070 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बिकेगा। राज्य सरकार ने किसानों को 300 रूपए प्रति क्विंटल बोनस देने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर किसानों को धान बोनस देने के लिए 2400 करोड़ रूपए की मंजूरी प्राप्त की है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की है।

एक नवम्बर से प्रारंभ हो रही धान खरीदी में किसानों को समर्थन मूल्य के साथ धान बोनस का भुगतान एक साथ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि तेंदूपत्ता संग्राहकों को राज्य सरकार इस वर्ष 750 करोड़ रूपए का बोनस और 12 लाख तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादूका का वितरण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में पखांजूर क्षेत्र में 21 हजार गरीब परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री की आयुष्मान योजना, राज्य सरकार की खाद्य सुरक्षा योजना, किसानों को बिना ब्याज का ऋण देने की योजना का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि अब किसानों को अब खाद के लिए इंतजार नहीं करना पड़ता है। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email