खेल

IND vs SA: भारत ने रचा इतिहास, 137 रनों से जीता पुणे टेस्ट

IND vs SA: भारत ने रचा इतिहास, 137 रनों से जीता पुणे टेस्ट

एजेंसी 

नई दिल्ली: मेजबान भारत (India) ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए दूसरा टेस्ट मैच एक पारी और 137 रन से जीत लिया है. यह भारत की दक्षिण अफ्रीका (South Africa) पर सबसे बड़ी जीत है. भारतीय टीम (Team India) ने तीन मैचों की सीरीज का पहले टेस्ट में मेहमान टीम को 203 रन से हराया था. अब उसने पुणे में खेला गया दूसरा टेस्ट भी ऐतिहासिक अंतर से जीत लिया है. इस जीत के साथ ही उसने टेस्ट सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त ले ली है. इतना ही नहीं, ‘कोहली एंड कंपनी’ ने दक्षिण अफ्रीकी टीम से फ्रीडम ट्रॉफी यानी, गांधी-मंडेला ट्रॉफी (Gandhi-Mandela Trophy) भी छीन ली है. 

भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच 14वीं टेस्ट सीरीज खेली जा रही है. भारत ने इनमें से चौथी सीरीज जीती है. दक्षिण अफ्रीका ने भारत से सात टेस्ट सीरीज जीती हैं. तीन सीरीज ड्रॉ रही हैं. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहली टेस्ट सीरीज 1992-93 में खेली गई थी. तब मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने चार मैचों की इस सीरीज में 1-0 से जीत दर्ज की थी. 

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 2015 में खेली गई टेस्ट सीरीज को पहली बार फ्रीडम सीरीज नाम दिया गया. भारतीय और दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड ने दोनों देशों के बीच टेस्ट सीरीज को महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला को समर्पित करने का निर्णय लिया. इस तरह फ्रीडम सीरीज (Freedom Series) को ही फ्रीडम ट्रॉफी (Freedom Trophy) या गांधी-मंडेला ट्रॉफी भी कहा गया. 

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में भारत की जीत या अजेय बढ़त का श्रेय वैसे तो पूरी टीम को जाता है. लगभग सभी खिलाड़ियों ने सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन किया है. फिर भी इन पांच खिलाड़ियों को इस सीरीज का हीरो कहा जा सकता है. 

मयंक ने बनाए सबसे ज्यादा रन
भारत के युवा ओपनर मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) इस सीरीज में सबसे अधिक 330 रन बनाए हैं. उन्होंने पहले मैच में दोहरा शतक और दूसरे मैच में भी शतक बनाया. उनकी तीन पारियां क्रमश: 215, 7 और 108 रन की रही हैं. 28 साल के मयंक देश में पहली टेस्ट सीरीज खेल रहे हैं. 

विराट कोहली का दोहरा शतक
कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) भी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने दूसरे टेस्ट मैच में 254 रन की नाबाद पारी खेली. यह उनके टेस्ट करियर का सातवां दोहरा शतक और सर्वोच्च स्कोर भी है. उन्होंने पहले टेस्ट मैच में 20 और 31 रन की नाबाद पारी खेली थी. उन्होंने दो मैचों में कुल 305 रन बनाए हैं. 

रोहित शर्मा की ‘नई पारी’ 
वनडे टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम के प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली थी. फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उन्हें ओपनिंग करने को कहा गया. रोहित ने इसका फायदा उठाया और पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक (176, 127) जमा दिए. उन्होंने दो मैचों में कुल 317 रन बनाए हैं. 

अश्विन ने की गजब की वापसी
रोहित की तरह रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को भी विंडीज के खिलाफ भारत के प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली थी. जब उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा सीरीज में मौका मिला तो उन्होंने दोनों हाथों से विकेट बटोरे. अश्विन ने पहले टेस्ट में 8 और दूसरे टेस्ट में 6 विकेट लिए. उन्होंने सबसे तेजी से 350 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. 

रवींद्र जडेजा का ऑलराउंड खेल 
रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) भी टीम के लिए ऑलराउंड प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने पुणे टेस्ट में 91 रन की शानदार पारी खेली और 4 विकेट भी झटके. जडेजा ने पहले टेस्ट में क्रमश: 30 और 40* रन की पारियां खेली थीं और छह विकेट भी झटके थे. इस तरह वे सीरीज में 161 रन बनाने के साथ-साथ 10 विकेट भी झटक चुके हैं. 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email