राजधानी

वनांचल के महिलाओं की आजीविका बनेगा बेलमेटल शिल्प: मंत्री गुरु रूद्रकुमार

वनांचल के महिलाओं की आजीविका बनेगा बेलमेटल शिल्प: मंत्री गुरु रूद्रकुमार

GCN

हस्तशिल्प विकास बोर्ड लगातार आयोजित कर रहा प्रशिक्षण कार्यक्रम

रायपुर : ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रुद्रकुमार की संवेदनशील पहल पर अब बेलमेटल शिल्पकला वनांचल क्षेत्र के जनजातीय महिलाओं की आजीविका का साधन बनेगा। उल्लेखनीय है कि ग्रामोद्योग विभाग के हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा ग्रामीण वनांचलों में लोगों को विभिन्न शिल्पकलाओं पर आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को सीधे रोजगार से जोड़ा जा रहा है और उन्हें घर पर ही रोजगार उपलब्ध करा रहा है। इसी कड़ी में हस्तशिल्प विकास बोर्ड जगदलपुर, जिला बस्तर द्वारा जगदलपुर विकासखण्ड अंतर्गत चिलकुटी ग्राम में बेलमेटल शिल्पकला का 3 माह का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। 

हस्तशिल्प विकास बोर्ड जगदलपुर, जिला बस्तर के महाप्रबंधक श्री एल.एस. वट्टी ने बताया कि जगदलपुर विकासखण्ड अंतर्गत चिलकुटी ग्राम में विभागीय योजना अंतर्गत तीन माह का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में बेलमेटल शिल्पकला से जुड़ी 20 जनजाति महिलाओं को चिन्हित कर उन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 11 अक्टूबर से 10 जनवरी 2022 तक आयोजित तीन माह के प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों को 1500 रुपए प्रति माह की दर से छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। प्रशिक्षण के बाद प्रशिक्षणार्थियों की बेलमेटल शिल्पकला में निखार आएगा और वे वर्तमान बाजार और लोगों की मांग के अनुरूप अपने उत्पाद तैयार कर सकेंगे। इससे उन्हें रोजगार उपलब्ध होने के साथ ही अच्छी आमदनी भी मिलेगी। जिला बस्तर के महाप्रबंधक ने बताया कि शिल्पकारों द्वारा प्रशिक्षण के दौरान तैयार किए गए शिल्पकला उत्पाद को हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा बाजार भी मुहैया कराया जाएगा।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email