राजधानी

हिन्दी हमारी राष्ट्रीय एकता की भाषा: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने हिन्दी दिवस पर जनता को दी बधाई

हिन्दी हमारी राष्ट्रीय एकता की भाषा: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने हिन्दी दिवस पर जनता को दी बधाई

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस के अवसर पर जनता को बधाई दी है। डॉ. सिंह ने आज यहां जारी बधाई संदेश में कहा है कि भारतीय संविधान में हिन्दी को भारत की राजभाषा का दर्जा प्राप्त है और पूरे देश में यह जनता के बीच राष्ट्र भाषा के रूप में भी लोकप्रिय है। हिन्दी हमारे हिन्दुस्तान की आन-बान -शान और पहचान है।  उन्होंने कहा - हिन्दी भारत की व्यापक रूप से  प्रचलित प्रमुख सम्पर्क भाषा होने के कारण हमारी राष्ट्रीय एकता की भी भाषा है। डॉ. सिंह ने कहा - विविधता में एकता पर आधारित हमारी महान भारतीय संस्कृति में देश के हर राज्य की अपनी समृद्ध भाषा और समृद्ध आंचलिक बोलिया हैं, जिनके संरक्षण और संवर्धन के साथ-साथ  हमें अपनी राष्ट्र भाषा हिन्दी के विकास पर भी ध्यान देने की जरूरत है। हिन्दी को और भी अधिक प्रतिष्ठा दिलाने के लिए देश के सभी राज्यों में सरकारी प्रतिष्ठानों के काम-काज में हिन्दी भाषा का  अधिक से अधिक प्रयोग किया जाना चाहिए।

डॉ. रमन सिंह ने कहा - 15 अगस्त 1947 को देश की आजादी के बाद संविधान सभा द्वारा 14 सितम्बर  1949 को सर्व सम्मति से हिन्दी को राजभाषा का दर्जा देने का निर्णय लिया गया था। इस ऐतिहासिक प्रसंग को याद करने और राष्ट्र भाषा के विकास के लिए संकल्प लेने के उद्देश्य से हर साल 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है। मुख्यमंत्री ने इस बात पर खुशी जतायी कि दुनिया के कई देशों के अनेक विश्वविद्यालयों और विद्यालयों में हिन्दी भाषा भी पढ़ाई जा रही है। इतना ही नहीं बल्कि एक सर्वेक्षण के अनुसार चीनी भाषा ‘मंदारिन’ के बाद भारत की हिन्दी पूरी दुनिया में दुसरे नम्बर की सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा बन चुकी है, जबकि अंग्रेजी तीसरे नम्बर पर है।

 उन्होंने कहा - यह खुशी की बात है कि हिन्दी अब साहित्य, कला, संस्कृति के साथ-साथ ज्ञान-विज्ञान की भी भाषा बनती जा रही है। हमारे प्रवासी लाखों भारतीय परिवारों ने कई सुदूरवर्ती देशों में हिन्दी का परचम लहराया है। विदेशों में जहां कहीं भी प्रवासी भारतीयों की बसाहट है, जैसे मॉरिशस, फिजी, नेपाल, श्रीलंका, सूरीनाम, संयुक्त अरब अमिरात (दुबई) और इग्लैंड, अमेरिका और आस्ट्रेलिया तक हिन्दी भाषा-भाषियों द्वारा इसे लोकप्रिय बनाया जा रहा है।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email