विश्व

रूस-यूक्रेन जंग: यूक्रेनी मिसाइल से 20 की मौत, 28 गंभीर रूप से घायल

 रूस-यूक्रेन जंग: यूक्रेनी मिसाइल से 20 की मौत, 28 गंभीर रूप से घायल

रूस-यूक्रेन के बीच जारी जंग को अब 19 दिन बीत चुके हैं. मगर दोनों देशों के बीच सुलह के आसार नहीं दिख रहे. हालांकि रूस और यूक्रेन के बीच संघर्ष समाप्ति को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है, जो आगे भी जारी रहेगी. लेकिन इस बीच रूस की ओर से यूक्रेन पर हमले और भी ज्यादा तेज कर दिए गए हैं. नतीजतन यूक्रेन के ज्यादातर शहर एकदम वीरान नजर आ रहे हैं. ऐसे में हर कोई यही सोच रहा है कि आखिर कब ये युद्ध खत्म होगा. 

नई दिल्ली: रूसी विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन के दोनेत्सक में हमले को लेकर बयान जारी किया है. जिसमें कहा, "14 मार्च को यूक्रेन की सेना ने दोनेत्सक में एक आवासीय इलाके के आसपास टोचका-यू सामरिक मिसाइल से अटैक किया. इस हमले में 20 लोगों की मौत हुई है और 28 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं.

खास बाते- 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ऐलान किया कि रूस के खिलाफ यूक्रेन को हथियार दिए जाएंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि यूक्रेन में मानवीय सहायता भेजी जाएगी और शरणार्थियों को अमेरिका में पनाह दी जाएगी. जो बाइडेन ने कहा, "हम सुनिश्चित करेंगे कि यूक्रेन के पास अपने बचाव के लिए हथियार हों. हम यूक्रेनी लोगों की जान बचाने के लिए पैसा, भोजन और सहायता भेजेंगे और हम यूक्रेन के शरणार्थियों का भी खुले दिल से स्वागत करेंगे." 

यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने सोमवार देर रात संसद में एक विधेयक पेश किया, जिसमें 24 मार्च से अगले 30 दिनों के लिए मार्शल लॉ का विस्तार करने का प्रयास किया गया है. यूक्रेन में युद्ध 24 फरवरी को शुरू हुआ. जब रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने "विशेष सैन्य अभियान" शुरू किया, जो दूसरे विश्व युद्ध के बाद से एक यूरोपीय राज्य पर सबसे बड़ा हमला बताया जा रहा है.

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि रूस यूक्रेन में रासायनिक या जैविक हथियारों के इस्तेमाल की योजना बना सकता है. इसे खुफिया अपडेट भी कहा जा रहा है. अमेरिकी अधिकारियों ने भी इसी तरह के बयान दिए हैं. यूक्रेन ने इस तरह के हमले की आशंका जताते हुए रूस को सावधान किया है कि अगर उसने ऐसा किया तो उसे यकीनन और कड़े प्रतिबंध का सामना करना पड़ेगा.

अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को कहा कि रूस और चीन के बीच "गठबंधन" के बारे में संयुक्त राज्य अमेरिका को "गहरी चिंता" है. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्य राजनयिक यांग जिची ने रोम के एक होटल में मुलाकात की थी. जिसे व्हाइट हाउस ने "पर्याप्त चर्चा" के रूप में वर्णित किया.

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) के अनुसार पश्चिमी देशों के अभूतपूर्व प्रतिबंधों का रूस की अर्थव्यवस्था पर गंभीर प्रभाव होगा. नतीजतन मॉस्को को ‘‘गहरी मंदी'' का सामना करना पड़ सकता है. आपको बता दें कि यूक्रेन के खिलाफ सैन्य आक्रामकता के कारण अमेरिका और यूरोप सहित कई देशों ने रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं.

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को लेकर इंटरनेशनल कोर्ट 16 मार्च को फैसला सुनाएगा. रूस ने यूक्रेन के लगाए गए नरसंहार के आरोपों को गलत ठहराया. 24 फरवरी को रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के तुरंत बाद कीव ने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) में युद्ध समाप्त करने की गुहार लगाई थी. 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email