विशेष रिपोर्ट

रिपोर्ट: भारत के वायु प्रदूषण में नहीं हुआ कोई सुधार

रिपोर्ट: भारत के वायु प्रदूषण में नहीं हुआ कोई सुधार

एजेंसी 

नई दिल्ली : भारत के लिए वायु प्रदूषण आज भी बड़ा खतरा बना हुआ है। कुछ महीनों पहले तक तो राजधानी दिल्ली में सांस लेना तक मुश्किल हो गया था। वहीं वायु प्रदूषण को लेकर अब एक रिपोर्ट आई है, जिसमें भारत के लिए चिंता की बात है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया के सबसे अधिक प्रदूषित शहरों में अधिकतर भारतीय शहर शामिल हैं। इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि चीन के बीजिंग सहित कई शहरों की वायु गुणवत्ता पहले से बेहतर हुई है लेकिन भारत में अब भी शहरों में प्रदूषण है।

आईक्यू एयर विजुअल द्वारा प्रकाशित विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट में लिखा है कि बीजिंग प्रदूषण के मामले में 199 से 84वें स्थान पर आ गया है। वहीं टॉप 20 में से 14 शहर भारत के हैं। इसमें गाजियाबाद पांचवें स्थान पर है। रिपोर्ट के अनुसार, बीते पांच साल में दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर ठीक होने के बजाय खराब हुआ है।

भारत, चीन और अन्य एशियाई देश भीड़-भाड़ वाले शहरों, वाहन, कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों, पराली जलने और औद्योगिक उत्सर्जन से संबंधित कारकों के चलते जहरीली हवा से काफी प्रभावित हो रहे हैं। जहां विश्व स्वास्थ्य संगठन कहता है कि जहरीली हवा से हर साल 70 लाख लोगों की मौत होती है, वहीं विश्व बैंक का कहना है कि इससे हर साल 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का भी नुकसान होता है।

उत्तर भारत में वायु प्रदूषण के चलते हालात सबसे ज्यादा खराब हैं। AirVisual के वायु गुणवत्ता निगरानी के निदेशक यान बोकुलोड ने कहा, 'बीजिंग में ये प्राथमिकता है, चीन में जब वो कुछ कहते हैं तो करते हैं, वे उसमें संसाधन लगाते हैं। भारत में बस शुरुआत है। लोगों को सरकार पर अधिक दवाब डालने की जरूरत है।' भारत में वाहनों की बढ़ती संख्या और निर्माण कार्यों के कारण हवा हर दिन ज्यादा प्रदूषित होती जा रही है। हालांकि भारत के कुछ शहरों में सुधार भी देखने को मिला है। एक अध्ययन के अनुसार भारत में प्रदूषण के कारण ना केवल अर्थव्यवस्था प्रभावित हो रही है। बल्कि हर साल 12 लाख लोगों की भी इसके कारण मौत होती है। समस्या विशेष रूप से दक्षिण एशियाई देशों के लिए चुनौतीपूर्ण है। जिसका सबसे बड़ा कारण बढ़ती जनसंख्या भी है। बांग्लादेश दुनिया का सबसे प्रदूषित देश है, जबकि इसकी राजधानी ढाका दिल्ली के बाद दूसरा सबसे प्रदूषित शहर है। वहीं पाकिस्तान दुनिया का दूसरा सबसे प्रदूषित देश है। टॉप 10 प्रदूषित देशों में अफगानिस्तान, भारत और नेपाल शामिल हैं।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email