विशेष रिपोर्ट

ADR की रिपोर्ट, 35% मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले हैं दर्ज, देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ 11 केस

एजेंसियों से 

नई दिल्ली : एक अध्ययन के अनुसार भारत के करीब 35 फीसदी मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं और 81% मुख्यमंत्री करोड़पति हैं. राजनीतिक दलों पर निगाह रखने वाले संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के नेशनल इलेक्शन वाच (न्यू) के साथ मिलकर किए गए एक आकलन से यह बात सामने आई है.

दोनों संगठनों ने देशभर में राज्य और केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा चुनावों के दौरान मौजूदा मुख्यमंत्रियों द्वारा स्वयं जमा किए गए हलफनामों का अध्ययन कर यह निष्कर्ष निकाला है. एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 ने स्वयं के खिलाफ आपराधिक मामले दायर होने की घोषणा की है. यह कुल संख्या का 35% है. इसमें से 26% के खिलाफ हत्या, हत्या की कोशिश, धोखाधड़ी जैसे इत्यादि गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. इसी प्रकार 25 मुख्यमंत्रियों यानी 81% करोड़पति हैं. इनमें से दो मुख्यमंत्रियों के पास 100 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है. मुख्यमंत्रियों की औसत संपत्ति 16.18 करोड़ रुपये हैं. आकलन के अनुसार, देश के सबसे अमीर मुख्यमंत्री आंध्रप्रदेश के चंद्रबाबू नायडू हैं, जिनकी घोषित संपत्ति 177 करोड़ रुपये है. वहीं, सबसे कम संपत्ति वाले मुख्यमंत्री त्रिपुरा के मणिक सरकार है, जिनकी संपत्ति 27 लाख रुपये है.

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 ने स्वयं के खिलाफ आपराधिक मामले दायर होने की घोषणा की है महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ सबसे ज्यादा 11 क्रिमिनल केस दर्ज हैं. फडणवीस पर धोखाधड़ी और बेईमानी और जोर जबरदस्ती से जमीन कब्जाने, दंगा फैलाने की साजिश रचने जैसे गंभीर आरोप दर्ज हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ 10 क्रिमिनल मुकदमें दर्ज हैं. इनके खिलाफ ज्यादातर मुकदमे कानून तोड़ने, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने और मानहानि के हैं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ भी 4 क्रिमिनल केस दर्ज हैं. योगी पर दंगा फैलाने, आगजनी करने, धमकी देने, धार्मिक आधार पर हिंसा फैलाने जैसे गंभीर आरेाप हैं.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ 4 क्रिमिनल केस दर्ज हैं, जिसमें धोखाधड़ी से जमीन कब्जाने, सबूत मिटाने के केस शामिल हैं.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज है. यह मुकदमा पटना जिले के पंडाकर ब्लॉक अंतर्गत दफा 302 के तहत दर्ज है.

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.